पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Ujjain
  • For The First Time, Storage Of Wheat In The Open Ground, Officials Said Can Keep It For A Year If Needed

समर्थन मूल्य:पहली बार खुले मैदान में गेहूं का भंडारण, अफसरों ने कहा- जरूरत पड़ने पर एक साल रख सकते हैं

उज्जैनएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • नानाखेड़ा स्टेडियम में 20 हजार टन गेहूं खुले में रखा क्योंकि बंपर खरीदी हुई
  • मिट्‌टी से सोना बनाने वाले किसानों के जज्बे की तीन कहानियां, मौसम से लड़कर भी जिन्होंने हार नहीं मानी
Advertisement
Advertisement

शहर में पहली बार खुले मैदान में गेहूं का भंडारण किया है। वह भी पूरे वैज्ञानिक तरीके से। अफसरों का कहना है भले ही खुले आसमान के नीचे उपज रखी है लेकिन इसे बारिश से कोई खतरा नहीं है। जरूरत पड़ने पर इसे एक साल के लिए रखा जा सकता है। समर्थन मूल्य पर गेहूं की बंपर खरीदी के बाद जिले के भंडार गृह कम पड़ गए। जिले में 6.50 लाख टन भंडारण क्षमता है। इसमें से 1.50 लाख में पुराने चने रखे हैं। ऐसे में उस स्थान पर गेहूं का भंडारण नहीं किया जा सकता। यही वजह है प्रशासन ने नानाखेड़ा स्टेडियम को भंडारण के लिए चुना। भंडारण का काम पूरा होने को है।

जिला आपूर्ति अफसर एमएल मारू के अनुसार यहां 20 हजार टन गेहूं का भंडारण किया जाएगा। नानाखेड़ा स्टेडियम की तरह हासामपुरा में कच्चे कैप तैयार किए हैं। जिला सहकारी विपणन संघ और मार्कफेड ने नानाखेड़ा स्टेडियम को खुला वेयर हाउस बनाया है। कच्चा कैप बनाकर गेहूं और चने की बोरियां रखकर बारिश से सुरक्षा की जा रही है। अफसरों का कहना है मानसून शुरू होने से गेहूं को सुरक्षित रखना मुश्किल था। इस वजह से नानाखेड़ा स्टेडियम का उपयोग वेयर हाउस के रूप में किया है। 

ऐसे बनाया नानाखेड़ा काे खुला गोदाम

  • पहले मैदान की ठोस लेवलिंग की।
  • रेती और गिट्‌टी से भराव किया।
  • जमीन से डेढ़ फीट ऊंचा भराव करने के बाद दो बोरी की थप्पी लगाई।
  • उसके ऊपर सीधे गेहूं की बोरियां जमाकर रख दी।
  • थप्पी लगने के बाद उसे ऊपर से मोटी तिरपाल से ढंक दिया।
  • हाल ही में हुई बारिश के बाद भी थप्पियों में नमी नहीं आई है।
Advertisement
0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- अगर कोई विवादित भूमि संबंधी परेशानी चल रही है, तो आज किसी की मध्यस्थता द्वारा हल मिलने की पूरी संभावना है। अपने व्यवहार को सकारात्मक व सहयोगात्मक बनाकर रखें। परिवार व समाज में आपकी मान प्रतिष...

और पढ़ें

Advertisement