पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Ujjain
  • Four Rooms In Dupada Chowki Lalghati Police Station, Located In Manoranjan Bhawan, But Not Till Lockup

दयनीय स्थिति:मनोरंजन भवन में लग रही दुपाड़ा चौकी लालघाटी थाने में चार कमरे, लेकिन लाॅकअप तक नहीं

शाजापुर13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • करोड़ों रुपए के भवन निर्माण कराने वाला विभाग थानों के लिए 5 साल में जमीन तक नहीं तलाश सका, पीड़ितों को बाहर बैठना पड़ रहा

पांच साल पहले कोतवाली थाने के 37 से ज्यादा गांवों का एक हिस्सा काटकर लालघाटी थाना तो बना दिया, लेकिन थाने के पास अब तक खुद का अपना भवन तक नहीं है। खेल प्रशाल के पास बने चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों के दो क्वार्टर के बीच की दीवार तोड़ कर अलग-अलग चेंबर बना दिए।

इसी में टीआई और विवेचना कक्ष बना हुआ है। आरोपियों को बंद करने के लिए लॉकअप नहीं है, वहीं जब्ती का सामान भी खुले में ही रखना पड़ रहा है। दरअसल यह समस्या सिर्फ लालघाटी थाने की ही नहीं है, सुनेरा और शुजालपुर मंडी थाने की भी है। जो अब तक दूसरों के भवनों में भी संचालित हो रहे हैं। जगह कम होने से स्टाफ के साथ शिकायत लेकर आने वाले लोग भी परेशान होते हैं।

लालघाटी थाने को बने पांच साल पूरे होने वाले हैं। इन पांच साल में आठ से अधिक टीआई ने यहां की जिम्मेदारी संभाली। छोटे छोटे चार कमरों में संचालित इस थाने के लिए थाना स्तर से लेकर एसपी कार्यालय तक के अधिकारियों कर्मचारियों ने जमीन की तलाश की, पर पांच साल में विभाग 5 हजार स्क्वेयर फीट जमीन भी नहीं तलाश सका।

यहां सुविधाओं के नाम पर बस हर साल कुर्सी-टेबल में ही बदलाव दिखाई देता है। पर न तो स्टाफ के लिए व्यवस्थित कमरे हैं और न ही मालखाना और लॉकअप रूम। पुलिसकर्मियों ने भास्कर से चर्चा करते हुए बताया कि कभी कभी तो ऐसा लगता है जैसे किसी दड़बे में बैठे हों। किसी मामले को लेकर आरोपियों की संख्या ज्यादा हो तो कोर्ट में पेश करने तक थाने में उन्हें रखना भी बड़ी चुनौती रहता है। क्योंकि एक छोटे से कक्ष को ही लॉकअप बना रखा है। इसमें अधिकतम चार से ज्यादा लोगों को नहीं रखा जा सकता।

आरोपियों के गायब होने का मामला भी आया

लाॅकअप नहीं होने से शुजालपुर मंडी थाना और लालघाटी थाने से आरोपियों के भाग जाने और गायब होने के मामले भी सामने आ चुके हैं। 31 जुलाई को लालघाटी थाने लाए गए चार आरोपियों को पुलिस ने बाहर ही बैठा दिया था। इसके चलते वे अधिकारियों के इधर उधर होते ही गायब हो गए। ऐसा ही एक मामला शुजालपुर के मंडी थाने में भी सामने आया था, जहां से संदिग्ध आरोपी भाग गया था। ज्ञात रहे मंडी थाना भी पूर्व विधायक कार्यालय में संचालित हो रहा है।

सुनेरा चौकी : दो कक्ष बनाए, फिर भी बाहर बैठकर करना पड़ता है कार्य

कोतवाली थाने की सुनेरा चौकी को भी 2015 में थाने में तब्दील कर दिया गया। यहां पहले से छोटे से भवन में थाना संचालित किया जा रहा है। स्थानीय अधिकारियों ने वरिष्ठाें को अवगत कराकर यहां दो अतिरिक्त कक्ष तो बनवा लिए पर थाने के लिहाज से यह भी छोटे हैं। ऐसे में एसआई रैंक से लेकर दीवान तक परिसर में कुर्सी टेबल लगाकर काम करने को मजबूर है। थाने की शुरुआत से लेकर अब तक यहां आमजनों से संपर्क के लिए एक फोन तक नहीं है।

रहने की व्यवस्था भी चौकी में : शाजापुर अनुभाग के अधिकांश थाने और चौकियों में भवनों के छोटे और संकरे परिसर के कारण पुलिसकर्मियों व आमजन को परेशान होना पड़ रहा है। ऐसा ही हाल दुपाड़ा चौकी का है। यहां चौकी का संचालन दुपाड़ा पंचायत के मनोरंजन भवन में किया जा रहा है। इसी में चौकी प्रभारी और आरक्षक के रहने की व्यवस्था भी है।

एसपी ऑफिस के पीछ ट्रैफिक थाना

शहर का यातायात अमला भी दो कक्षों के भवन में संचालित हो रहा है, हालाकि इसके लिए एसपी कार्यालय के पीछे थाने का निर्माण कार्य शुरू भी हो गया। लेकिन इसे लेकर अब सवाल भी खड़े होने लगे हैं। कुछ पुलिसकर्मियों के अनुसार यातायात थाना शहर में होना चाहिए था, न कि आमजन की पहुंच से दूर। ऐसे में एसपी कार्यालय के पीछ बनने वाले भवन तक जब्ती के वाहनों को पहुंचाना भी पुलिसकर्मियों के लिए परेशानी का सबब रहेगा।

नए भवनों का निर्माण किया जा रहा है
जिले के कुछ पुरानों थानों के नए भवनों का निर्माण किया जा रहा है, तो कुछ थानों के लिए जमीन की तलाश की जा रही है। इसका प्रस्ताव भी जिला प्रशासन को भेजा जाएगा। जमीन का अलाटमेंट होते ही भवन निर्माण कराएंगे।
-आर.एस. प्रजापति, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, शाजापुर

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आप अपनी दिनचर्या को संतुलित तथा व्यवस्थित बनाकर रखें, जिससे अधिकतर काम समय पर पूरे होते जाएंगे। विद्यार्थियों तथा युवाओं को इंटरव्यू व करियर संबंधी परीक्षा में सफलता की पूरी संभावना है। इसलिए...

और पढ़ें