पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

झोलाछाप डॉक्टर्स होंगे चिह्नित:फर्जी डॉक्टर्स भ्रमित कर कोरोना मरीजों का इलाज कर सकते हैं, कार्रवाई करें -डॉ. सिन्हा

उज्जैनएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
शहर सहित जिले में ऐसे 250 फर्जी डॉक्टर, मक्सी रोड पर आइल की दुकान में क्लिनिक - Dainik Bhaskar
शहर सहित जिले में ऐसे 250 फर्जी डॉक्टर, मक्सी रोड पर आइल की दुकान में क्लिनिक
  • एक माह में ऐसे डॉक्टर्स को चिह्नित करेंगे, जिले में गठित होगा दल

फर्जी व झोलाछाप डॉक्टर्स कोरोना या संदेही मरीजों को भ्रमित कर उनका इलाज कर सकते हैं, जो कि जानलेवा हो सकता है। इस बारे में अपर संचालक विनियमन स्वास्थ्य सेवाएं डॉ. वीणा सिन्हा ने आशंका जताते हुए सीएमएचओ को चिट्ठी लिखी है। इसमें उल्लेख किया है कि शहर और जिले में कई अपात्र और फर्जी डॉक्टर्स द्वारा भ्रामक चिकित्सकीय उपाधि बताकर व अनाधिकृत रूप से एलोपैथी व दूसरी पद्धति की दवाइयों का उपयोग कर कोविड-19 का असरदार इलाज करने का दावा किया जा सकता है या किया जा रहा है।

कोविड-19 महामारी की परिस्थिति में ऐसा संभव है कि जनसमुदाय भ्रमित होकर ऐसे अनाधिकृत व चिकित्सकीय शैक्षणिक योग्यता के अभाव वाले अपात्र लोगों से इलाज करवा लें। ऐसे फर्जी चिकित्सकों का पता लगाया जाना जरूरी है।

जो फर्जी चिकित्सक ऐसा कर रहे हैं और मरीजों की जान से खिलवाड़ कर रहे हैं, उनके खिलाफ कार्रवाई की जाए। इसके लिए फिर से आदेशित किया गया है। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों का कहना है संचालनालय से पत्र मिला है, जिसमें अनाधिकृत रूप से चिकित्सा व्यवसाय कर रहे झोलाछाप तथा फर्जी चिकित्सकों के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए लिखा है। जिले में दल गठित कर एक माह में अनाधिकृत रूप से चिकित्सकीय कार्य करने वाले झोलाछाप तथा फर्जी चिकित्सकों को चिह्नित किया जाएगा और अपात्र लोगों द्वारा किए जा रहे चिकित्सा व्यवसाय पर अंकुश लगाया जाएगा। जिले में इस तरह की कार्रवाई के लिए ब्लॉक मेडिकल ऑफिसर को जिम्मेदारी सौंपी जाएगी।

शहर सहित जिले में ऐसे 250 फर्जी डॉक्टर, मक्सी रोड पर आइल की दुकान में क्लिनिक
शहर व जिले में करीब 250 ऐसे फर्जी डॉक्टर क्लिनिक संचालित कर रहे हैं जिनके पास एलोपैथी में या दूसरी पद्धति में इलाज करने की पात्रता नहीं है, बावजूद इसके मरीजों की जान से खिलवाड़ करते हुए उनका इलाज एलोपैथी में किया जा रहा है। ढाई माह पहले ही उन्हेल स्टेशन के पास महिला का झोलाछाप डॉक्टर ने इलाज किया था, जिससे महिला का शरीर काला पड़ गया था। उसकी हालत इतनी खराब हो गई कि प्राइवेट अस्पताल में भी इलाज नहीं हो पाया।

झोलाछाप डॉक्टर के खिलाफ कार्रवाई की गई थी, उसका क्लिनिक बंद करवाया था। मक्सी रोड पर एक महिला डॉक्टर आइल की दुकान में ही क्लिनिक का संचालन करती है। यहां लोग आइल खरीदने आते हैं और मरीजों को इलाज भी चलता रहता है। इसके अलावा नागझिरी में 4, बेगमबाग कॉलोनी में 9, भैरवगढ़ में 15, आगर रोड पर 7, मक्सी रोड 8 सहित जिले में 250 फर्जी डॉक्टर हैं, जो क्लिनिक संचालित कर रहे हैं। इनके पास में एलोपैथी में इलाज की डिग्री नहीं है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थितियां पूर्णतः अनुकूल है। सम्मानजनक स्थितियां बनेंगी। विद्यार्थियों को कैरियर संबंधी किसी समस्या का समाधान मिलने से उत्साह में वृद्धि होगी। आप अपनी किसी कमजोरी पर भी विजय हासिल...

    और पढ़ें