• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Ujjain
  • From Today Onwards Grocery Shops, Milk Dairy, Vegetable fruits, Petrol Pumps And Flour Mill Will Be Open From 6 To 10 In The Morning.

कोरोना कर्फ्यू की नई गाइडलाइन:आज से किराना दुकानें, दूध डेयरी, सब्जी-फल, पेट्रोल पंप व आटा चक्की सुबह 6 से 10 तक ही खुले रहेंगे

उज्जैन8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

शहर में मंगलवार से थोक व फुटकर किराना दुकानें, पेट्रोल पंप, आटा चक्की गैस एजेंसियां, कंट्रोल की यानी सार्वजनिक वितरण प्रणाली की व पशु आहार की दुकानें, थोक फल-सब्जी मंडी सुबह 6 से 10 बजे तक ही खुली रह सकेंगी। इन्हीं चार घंटों में दूध डेयरी, फेरी वाले और सब्जी-फलों के चलायमान ठेले वाले भी कारोबार सकेंगे। सुबह 10 बजे के बाद कोरोना कर्फ्यू का सख्ती से पालन करवाया जाएगा।

यह निर्णय सोमवार को बृहस्पति भवन में आयोजित जिला क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक में लिया गया। कोरोना कर्फ्यू के दौरान किराना दुकानें सुबह 11 से शाम 5 बजे तक खुली रखने की छूट देने पर प्रशासन ने सोमवार को पहले ही दिन पाया कि बाजार में काफी भीड़ रही। लोग किराना खरीदी के बहाने ही शहर में बेवजह घूमते रहे। जिससे संक्रमण बढ़ने का खतरा बना रहा।

ये छूट और बंदिशें रहेंगी...

  • उज्जैन शहर के सुपर मार्केट-शाॅपिंग मॉल इस श्रेणी के सभी प्रतिष्ठान बंद रहेंगे।
  • सुबह दस बजे बाद सड़क पर निकलना बंद रहेगा। केवल इमरजेंसी सर्विस वाले जैसे हॉस्पिटल, मेडिकल व एटीएम इस प्रतिबंध से मुक्त रहेंगे।
  • सुबह 10 बजे बाद व शाम को लौटते में परिचय पत्र दिखाने पर औद्योगिक क्षेत्र के श्रमिकों को आवागमन की छूट रहेगी।
  • टीकाकरण के लिए नागरिकों व कर्मचारियों को आवश्यक छूट प्राप्त होगी।
  • शव यात्रा में अधिकतम 20 व्यक्ति शामिल हो सकेंगे।
  • शादी वैवाहिक कार्यक्रम में अनुमति के साथ अधिकतम 50 व्यक्ति शामिल हो सकेंगे।
  • परीक्षा केंद्रों पर आने एवं जाने वाले परीक्षार्थी तथा परीक्षा केंद्र एवं परीक्षा आयोजन से जुड़े कर्मी अधिकारीगण प्रतिबंध से मुक्त रहेंगे।
  • बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन व एयरपोर्ट से आने जाने वाले नागरिक को टिकट दिखाए जाने पर प्रतिबंध से छूट रहेगी
  • सभी धार्मिक स्थल पूर्णत: प्रतिबंधित रहेंगे।
  • केन्द्र एवं राज्य सरकार के सभी शासकीय / अर्द्धशासकीय कार्यालय शासन द्वारा निर्धारित शेड्यूल एवं स्थानीय आवश्यकतानुसार खुले रहेंगे। इन सेवाओं से संबंधित व्यक्तियों को अपने विभागीय पहचान पत्र अपने पास रखना अनिवार्य होगा।
  • मंडी एवं अन्य निर्धारित स्थानों पर शासन द्वारा संचालित गेहूं उपार्जन कार्यक्रम निरंतर जारी रहेगा। इस दौरान केवल कार्यरत अधिकारी, कर्मचारी, हम्माल, तुलावटी एवं उपज बेचने वाले किसान तथा वाहन आदि उपरोक्त प्रतिबंध से मुक्त रहेंगे।
  • सभी विनिर्माण उद्योग एवं उद्योगों में तैयार माल और कच्चे माल का परिवहन चालू रहेगा।
खबरें और भी हैं...