नदी में धमाके की जांच शुरू:उज्जैन में त्रिवेणी घाट पर शिप्रा नदी में हुए धमाके की जांच करने पहुंची GSI की टीम, पानी और तलहटी की गाद के लिए सैंपल

उज्जैन10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
शिप्रा नदी के त्रिवेणी घाट पर विस्फोट की जांच करते GSI की टीम। - Dainik Bhaskar
शिप्रा नदी के त्रिवेणी घाट पर विस्फोट की जांच करते GSI की टीम।
  • कुछ दिन पहले विस्फोट और धुएं का वीडियो हुआ था वायरल
  • दो से तीन में आएगी रिपोर्ट

उज्जैन के इंदौर रोड स्थित त्रिवेणी घाट पर शिप्रा नदी में पिछले कुछ दिनों में हुए धमाकों की जांच शुरू हो गई है। भाेपाल से जियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया (GSI) की तीन सदस्यीय टीम सोमवार सुबह मौके पर पहुंच गई। टीम पानी में हुए धमाकों की जांच करने में जुटी है। टीम में जियोलॉजिस्ट, सीनियर केमिस्ट और केमिस्ट शामिल हैं। टीम ने पानी में सैंपल इकट्‌ठे किए हैं।

नदी की तलहटी से निकले गाद व पानी के सैंपल लेते GSI के भूगर्भ वैज्ञानिक
नदी की तलहटी से निकले गाद व पानी के सैंपल लेते GSI के भूगर्भ वैज्ञानिक

गौरतलब है कि शिप्रा नदी के त्रिवेणी घाट स्थित बने स्टॉपडैम के पास बीते 26 फरवरी को पानी से धमाके की आवाज आई थी। साथ ही धुंआ भी निकलता दिखाई दिया था। यह इलाका गोठड़ा गांव में आता है। ग्रामीणों ने धमाकों और धुंए का वीडियो भी बनाया था। कलेक्टर आशीष सिंह ने GSI को पत्र लिखकर जांच कराने की मांग की थी। बताते चलें कि इसी घाट पर शनिश्चरी अमावस्या को श्रद्धालुओं की भारी भीड़ जमा होती है। इस साल 13 मार्च को शनिश्चरी अमावस्या है। इस भू-गर्भीय घटना को लेकर आसपास के ग्रामीणों में जिज्ञासा बनी है।

तलहटी की गाद और पानी के सैंपल लिए हैं, जांच के बाद निष्कर्ष निकलेगा
टीम में शामिल जियोलॉजिस्ट अरुण कुमार ने बताया कि घटनास्थल से तलहटी की गाद और पानी के सैंपल लिए गए हैं। इन सैंपल्स की भोपाल स्थित अत्याधुनिक प्रयोगशाला में परीक्षण किया जाएगा। उसके बाद ही कोई निष्कर्ष निकलेगा। उन्होंने बताया कि 5 मार्च को उज्जैन की पीएचई डिपार्टमेंट ने पानी के जो सैंपल लिए थे, उसकी जांच में कुछ भी अप्रत्याशित केमिकल नहीं मिला है। GSI दो से तीन दिन में अपनी रिपोर्ट प्रशासन को सौंप देगी। अरुण कुमार ने बताया कि पांच मार्च को पीएचई और आज के पानी के सैंपल की जांच करेंगे।

खबरें और भी हैं...