पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Ujjain
  • Heavy Vehicles Come From 4 Sides, Rotary At The Intersection, Signal, Rumble Strip And Not Even Indicators, This Is The Reason For The Death Of The Whole Family

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

दिल दहला देने वाला हादसा:4 तरफ से आते हैं भारी वाहन, चौराहे पर रोटरी, सिग्नल, रंबल स्ट्रीप और संकेतक भी नहीं, यही पूरे परिवार की मौत की वजह

उज्जैनएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मक्सी रोड चौराहा पर जो लगातार हादसे हो रहे हैं, उसके लिए चौराहा की यातायात व सुरक्षा व्यवस्था की अनदेखी बड़ा कारण सामने आई है
  • डंपर ने पूरे परिवार को रौंदा, छोटे-छोटे टुकड़ों में बंट गया बच्चों का शरीर
  • पंवासा थाना खुलने के बाद 10 एक्सीडेंट की रिपोर्ट दर्ज

मक्सी रोड स्थित पांडयाखेड़ी चौराहा पर बुधवार को हादसे में एक ही परिवार के चार लोगों की मौत हो गई। मरने वालों में तीन बच्चियां थी। 24 घंटे के दौरान इस मार्ग पर यह तीसरा हादसा हुआ जिसमें पांच लोगों की जान चली गई। यहां हुए हादसों ने प्रशासन की बड़ी खामी उजागर की। दो पुल के उतार और भारी वाहनों के दबाव वाले इस चौराहा पर प्रशासन ने लोगों की सुरक्षा के कोई इंतजाम नहीं किए।

मक्सी रोड चौराहा पर जो लगातार हादसे हो रहे हैं, उसके लिए चौराहा की यातायात व सुरक्षा व्यवस्था की अनदेखी बड़ा कारण सामने आई है। आगर मक्सी बायपास पुल के अलावा उज्जैन-मक्सी रोड पुल का उतार इस चौराहा पर है। यहीं से देवास बायपास भी निकला हुआ है। वहीं औद्योगिक क्षेत्र होने से इस चौराहा पर वाहनों का अत्यधिक दबाव रहता है जिसमें भारी वाहन सबसे अधिक शामिल हैं।

इसके बावजूद पांडयाखेड़ी चौराहा पर गति रोकने के लिए कोई इंतजाम नहीं है। संकेतक, ब्लिंकर और स्पीडब्रेकर भी नहीं होने से यहां आए दिन हादसे होते हैं। बुधवार को घटना स्थल का दौरा करने पहुंचे एसपी सत्येंद्र कुमार शुक्ल ने भी स्वीकारा कि चौराहा वाकई बहुत खतरनाक है, जिसे तत्काल ब्लैक स्पॉट में शामिल कराने के बाद कलेक्टर से चर्चा कर यातायात और एमपीआरडीसी की टीम को मौके पर जांच कर तकनीकी खामियों को दूर करने के लिए कहा गया।

जल्द सुधार होगा ताकि लोग दुर्घटना के शिकार न हो सके

टीम के साथ मौका मुआयना किया जाएगा। सुरक्षा संकेतक लगाए जाएंगे। मौके पर क्या सुधार किया जा सकता है, उसकी योजना भी बनाई जाएगी ताकि लोग दुघर्टना के शिकार होने से बच सके।

-एसके मनवानी, संभागीय महाप्रबंधक एमपीआरडीसी

नया थाना खुलने के बाद 10 हादसे हो गए

पंवासा थाना खुले 3 महीने हुए है लेकिन यहां सबसे अधिक दस हादसे अभी तक हो चुके है। थाने के अधिकारियों ने घटनास्थल पर पहुंचे एएसपी अमरेंद्रसिंह चौहान को इस बारे में जानकारी दी। बताया कि मंगलवार को भी बाइक सवार तीन युवक डिवाइडर से जा भिड़े थे, जिसमें एक की मौत हो गई। मंगलवार-बुधवार रात को भी कार व बाइक के बीच भिड़ंत हो गई थी।

इसी चौराहा पर वीडियोकोच बस-ट्राॅले की भिड़ंत हो चुकी है

पांडयाखेड़ी चौराहा पर पिछले साल सुबह चार बजे वीडियोकोच बस और ट्रॉले के बीच जोरदार भिड़ंत हुई थी, जिसमें 19 यात्री गंभीर रूप से घायल हो गए थे। हादसे में बस में फंसे ड्राइवर को केबिन काटकर बाहर निकाला गया था। उसके बाद भी ध्यान नहीं दिया गया।

रहवासी बोले- यहां पुलिस की तैनाती हो और सिग्नल लगे

क्षेत्र के लोगों ने कहा कि आए दिन यहां हादसे होते है। छोटे हादसे तो लगभग रोजाना ही होते है। यह चौराहा भयावह हो गया है और सुरक्षा के कोई इंतजाम नहीं है। यहां सिग्नल लगना चाहिए और पुलिस जवान की तैनाती बहुत आवश्यक है। संकेतक व स्पीड ब्रेकर नहीं है।

डीएसपी साढ़े तीन घंटे खड़े रहे, एमपीआरडीसी के इंजीनियर घटनास्थल पर आए ही नहीं

घटना के आधे घंटे के भीतर एसपी पहुंचे। उन्होंने यातायात डीएसपी आरएस ठाकुर को मौके पर बुलवा लिया। कलेक्टर से बात कर एमपीआरडीसी के अधिकारियों को भी मौका मुआयना करने के लिए कहा गया।

डीएसपी ठाकुर घटनास्थल पर दोपहर 2.30 बजे से शाम 6.30 बजे तक एमपीआरडीसी के इंजीनियरों का इंतजार करते रहे लेकिन कोई इंजीनियर वहां नहीं पहुंचा। ठाकुर ने कहा कि चौराहा की खामियों को संबंधित विभाग के साथ मिलकर ही सुधारा जा सकेगा। गुरुवार को दोबारा जाएंगे व बिजली कंपनी के इंजीनियरों को बुलवाया जाएगा। चौराहा पर लेफ्ट टर्न क्लियर करने के लिए खंभों को पीछे शिफ्ट कराना आवश्यक है। विद्युत डीपी को भी हटवाएंगे।

सवाल: आखिर कितनी जान और लेगा चौराहा

इस चौराहे पर कई हादसों के बाद भी प्रशासन और पुलिस ने चौराहे का सुधार नहीं कराया। एमपीआरडीसी ने तो कभी यहां आकर जांच करना भी जरूरी नहीं समझा। बुधवार को भी विभाग का यही रवैया था। बड़ा सवाल यही है कि आखिर और कितनी जान जाने के बाद अफसर सुधार कराएंगे।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थितियां पूर्णतः अनुकूल है। सम्मानजनक स्थितियां बनेंगी। आप अपनी किसी कमजोरी पर विजय भी हासिल करने में सक्षम रहेंगे। विद्यार्थियों को कैरियर संबंधी किसी समस्या का समाधान मिलने से ...

और पढ़ें