पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Ujjain
  • How Much Danger Did 3 Days Put Us In; People Were Dying, Families Were Uprooted And You Could Not Stand Firm On One Decision

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

ये शहर याद रखेगा:3 दिन हमें कितना खतरे में डाल गए ; लोग मर रहे थे, परिवार उजड़ रहे थे और आप एक फैसले पर अडिग न रह सके

उज्जैन14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
इस भीड़ में देखिए... कौन संदिग्ध है और कौन सामान्य? कैसे पहचानेंगे। - Dainik Bhaskar
इस भीड़ में देखिए... कौन संदिग्ध है और कौन सामान्य? कैसे पहचानेंगे।
  • एक उदाहरण से समझें- लॉकडाउन में 1 पॉजिटिव 5 को संक्रमित करता, छूट में वही संक्रमण 50 लोगों मे जाएगा

आसपास के प्रदेशों में संक्रमण रफ्तार पकड़ रहा था। इंदौर-भोपाल में मरीज बढ़ते जा रहे थे। मांग उठती रही कि बाहर से आने वालों पर बंदिशें लगाओ, आपने नहीं सुना। बाजार में भीड़ उमड़ती रही, आपको नहीं दिखा। फिर लॉकडाउन आया, लेकिन सिर्फ संडे को। बाकी दिन संक्रमण गली-गली घूमता रहा। फिर इसे रोज के लिए लागू किया, लेकिन शादी किराना के नाम पर छूट जारी रही। उस छूट में भीड़ बढ़ती रही। आपने नहीं सुना। या कुछ देखना नहीं चाह रहे थे।

नतीजा- इस शहर ने इतनी बड़ी त्रासदी देखी, जिसकी कल्पना तक नहीं की जा सकती थी। श्मशान में चिताएं ठंडी नहीं पड़ रही हैं। अस्पतालों में ऐसी भीड़ उमड़ी, कि कई लोगों को में एक बेड तक नहीं मिल रहा। ऑक्सीजन के इंतजार में सासें घुटने लगीं। जैसे-तैसे कुछ कंट्रोल होता दिख रहा था कि 1 मई आ गई। फिर से छूट दे दी। क्या सोचकर? लोग कन्फ्यूज हैं, ये क्राइसेस मैनेजमेंट कमेटी है या क्राइसेस क्रिएट कमेटी? इस भूल का असर इस पूरे सप्ताह दिखेगा।

लॉकडाउन में : किसी व्यक्ति के संक्रमित होने पर वह घर में ही कैद रहता। संक्रमण फैलता भी तो 4 से 5 लोगों के बीच, जो उसके साथ या आसपास होते। जैसे परिवार या उस व्यक्ति के जो संपर्क में आता।

कुछ घंटों की छूट में : खरीदी के लिए बाजार में भीड़ उमड़ी। हल्के लक्षण वाले लोग भी घर से निकल पड़ते हैं। दुकानों पर खरीदी, सड़क पर चलने या ठेलों से सामान लेने के दौरान डिस्टेंसिंग खत्म हुई। एक ही व्यक्ति कई जगह लोगों के संपर्क में आया और दूसरों तक संक्रमण पहुंचाया। वे लोग घर गए और वही संक्रमण अपने परिवार को बांट दिया। नतीजा- एक से दूसरे, तीसरे, चौथे.... ऐसे 50 से ज्यादा लोगों में कोरोना पहुंच गया।

और ये सप्ताह : फिर बंदीशें लगाई गईं, लेकिन तब तक संक्रमण कई घरों तक पहुंच गया होगा। लोग घरों में रुक जरूर गए, लेकिन खतरा घर ले जा चुके होंगे। शुरुआती लक्षण हलके रहे तो 2 से 5 दिन में दिक्कत बढ़ेगी और मरीजों की संख्या लगातार 300 के पार जाने का खतरा बढ़ गया है। अब सर्वे के जरिये घर-घर मरीज तलाशे जा रहे हैं, ऐसे में संक्रमितों की संख्या तेजी से बढ़ सकती है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- समय अनुसार अपने प्रयासों को अंजाम देते रहें। उचित परिणाम हासिल होंगे। युवा वर्ग अपने लक्ष्य के प्रति ध्यान केंद्रित रखें। समय अनुकूल है इसका भरपूर सदुपयोग करें। कुछ समय अध्यात्म में व्यतीत कर...

    और पढ़ें