पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

फिर रेड जोन में:सख्ती बढ़ाएं, न मानें तो लॉकडाउन ही विकल्प

उज्जैन10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • अब फर्स्ट कांटेक्ट वाले मरीज बढ़े, वजह- लक्षण नहीं होने से लोग कांटेक्ट में आ रहे
  • लोग मान ही नहीं रहे, त्योहारों के कारण और बढ़ेगी भीड़, इसलिए...

कोरोना की शुरुआत शहर के जिन क्षेत्र में हुई थी, वहां पर संक्रमण कम हो गया है या समाप्त हो गया है और शहर के नए क्षेत्रों में संक्रमण फैलने लगा है। पॉजिटिव पाए गए मरीजों की हिस्ट्री निकाली तो पता चला कि अधिकांश मरीज फर्स्ट कांटेक्ट वाले ही हैं। इसकी बड़ी वजह एसिम्टोमेटिक मरीजों के संपर्क में आने से लोग संक्रमित हो रहे हैं क्योंकि एसिम्टोमेटिक मरीज में लक्षण दिखाई नहीं देते और लोग उनके संपर्क में आ जाते हैं। विशेषज्ञों का कहना है वर्तमान में एसिम्टोमेटिक मरीजों की वजह से दूसरे लोग संक्रमित हो रहे हैं। ऐसे में शहर के लोगों को चाहिए कि वे दूसरे लोगों से दूरी बनाकर रखें और प्रोटोकॉल का पूरी तरह से पालन करें। बढ़ते मरीजों के बीच आगामी त्याेहार नाग पंचमी, रक्षाबंधन व बकरीद पर भी संक्रमण के खतरे से इनकार नहीं किया जा सकता। ऐसे में बॉर्डर पर स्क्रीनिंग अनिवार्य करने की जरूरत है। ध्यान रहे कि जानसापुरा, केडी गेट व अंबर कॉलोनी तथा दानीगेट से मरीजों की शुरुआत हुई थी, अब यहां पर कोई पॉजिटिव मरीज नहीं है।
प्रशासनिक रिपोर्ट के अनुसार शहर में अब तक 767 लोग पॉजिटिव हुए हैं। इनमें से 667 ने कोरोना को मात दी और ठीक होकर घर पहुंचे। 38 लोगों का इलाज चल रहा है। 12 जुलाई तक किए आंकलन पर आधारित इस रिपोर्ट के अनुसार जिले में 1 से 12 जुलाई के बीच नए इलाकों में पहुंचे संक्रमण के कारण 33 नए कंटेनमेंट क्षेत्र बनाने पड़े। इनमें 27 शहर के हैं तथा बड़नगर, महिदपुर और घटि्टया में भी पॉजिटिव मिलने से 6 नए कंटेनमेंट क्षेत्र बनाए हैं। प्रशासन कोरोना की चैन तोड़ने के लिए इन इलाकों पर नजर रखे हुए है। शहर में 6 जुलाई को जीरो पॉजिटिव की स्थिति थी। इसके बाद फिर पॉजिटिव बढ़ने लगे। जुलाई में अब तक सबसे ज्यादा 13 पॉजिटिव 13 जुलाई को ही निकले। 
यहां पहली बार फैला कोरोना
नगर निगम कॉलोनी नलिया बाखल, आगररोड चिंतामन नगर, सार्थक नगर, श्रीकृष्ण कॉलोनी, जाल कंपाउंड मक्सीरोड, आजाद नगर, मित्रनगर, प्रेमनगर, अभिषेक नगर, सैनी नगर, दुर्गानगर, ग्राम तालोद, ध्रुवनगर, प्रजापत कॉलोनी, दुर्गा कॉलोनी, जानकीनगर में पहली बार पॉजिटिव मिले। आबादी के मान से देखें तो जिले के 38160 मकानों में रहने वाले 2.02 लाख लोगों के बीच से अब तक 908 लोग पॉजिटिव हुए हैं। इनमें से 793 लोग ठीक हो गए हैं। 71 की मृत्यु हो गई। अस्पतालों में 44 लोगों का इलाज चल रहा है।

17 दिन पहले माधवनगर अस्पताल में एक भी मरीज नहीं बचा था लेकिन अब वहां फिर मरीज आने लगे हैं 

गलती...मास्क है पर गले में लटका

  • मार्केट में सोशल डिस्टेंसिंग प्रॉपर नहीं, लोग एक-दूसरे से 3 फीट की दूरी बनाकर नहीं रख रहे। जल्दबाजी में लोगों के समीप पहुंच जाते हैं। 
  • मास्क तो लगा रखा है लेकिन किसी से बात करने के दौरान मास्क निकालकर गले में लटका लेते हैं, जबकि किसी से बात करने के दौरान मास्क लगा होना जरूरी है।
  •  साबुन से बार-बार हाथ धोना कम हो गया है।
  •  सैनिटाइजर की क्वालिटी भी नहीं देख रहे हैं, मार्केट में जो उपलब्ध होता है, खरीद लेते हैं, जबकि 80% एल्कोहल युक्त सैनिटाइजर का ही उपयोग करें।

दूसरे शहरों में ऐसे इंतजाम
इंदौर- रात 9 बजे से ही कर्फ्यू। रविवार को 24 घंटे कर्फ्यू लागू रहेगा। 
ग्वालियर- 7 दिन टोटल लॉकडाउन, जिसमें जिले की सीमाएं सील रहेगी।
भोपाल- त्योहार घर में रहकर ही मनाना होंगे। सार्वजनिक कार्यक्रम नहीं होंगे।
शुजालपुर- 5 दिन अनुभाग बंद, मुख्यालय सप्ताह में 2 दिन टोटल लॉकडाउन।

हॉस्पिटल स्कैन...पीक आया तो हमारी तैयारी
आरडी गार्डी मेडिकल कॉलेज- 720 बेड का हॉस्पिटल। वेंटिलेटर- 15  बाइपैप मशीन-15, आईसीयू-30 बेड का। मल्टीपैरा पल्स ऑक्सीमीटर-30, एंटीबॉडी टेस्ट मशीन-एक।
माधवनगर हॉस्पिटल- 100 बेड का हॉस्पिटल। वेंटिलेटर-9, बाईपैप मशीन-20, पल्स ऑक्सीमीटर-10, ट्रू नॉट मशीन-एक। 20 बेड का आईसीयू निर्माणाधीन। स्पीड से ऑक्सीजन सप्लाई करने वाली एचएफएन सी- मशीन एक।
चरक हॉस्पिटल- इमरजेंसी में पांचवी मंजिल पर 90 बेड के कोविड-19 हॉस्पिटल की प्लानिंग है। 
अरबिंदो इंदौर-100 बेड। अमलतास हॉस्पिटल देवास-150 बेड।
पीटीएस- पुलिस ट्रेनिंग सेंटर में 150 से ज्यादा बेड उपलब्ध है। 
राजेंद्र सूरि संस्थान- 65 बेड उपलब्ध है। जिला हॉस्पिटल के पुराने शिशु वार्ड के ग्राउंड फ्लोर पर 60 बेड का हॉस्पिटल प्लान में है।

अंचल में ऐसे फैल रहा : बड़नगर में सामान लेने आए 2 ग्रामीण संक्रमित, दुकानदारों सहित 150 को होम आइसोलेशन में रखा

बड़नगर: 6  एक्टिव केस,  ज्यादातर किल कोरोना अभियान में मिले 
कजलाना और अमला के दो ग्रामीण जूते- कपड़े खरीदने के लिए बड़नगर के बाजार आए थे। वापस लौटने के कुछ दिन बाद इन्हें हल्की खांसी के साथ बुखार आया। सर्वे करने घर पहुंचे किल कोरोना अभियान के दल को यह समस्या बताई। इनकी सैंपलिंग हुई तो यह दोनों ही पॉजिटिव निकले। एसडीएम योगेश मरसठ ने बताया कि इन दोनों की कांटेक्ट हिस्ट्री के आधार पर दुकानदारों सहित करीब 150 लोगों को होम आइसोलेशन में रखा हैं। इन दोनों के सहित बड़नगर तहसील में 6 एक्टिव केस हैं। 
महिदपुर : बुजुर्ग के अलावा एक एसएफ का जवान भी संक्रमित
महिदपुर के बस स्टैंड के पास का 80 वर्षीय वृद्ध की मानसिक स्थिति खराब होने से परिजन उन्हें इलाज के लिए इन्दौर ले गए थे। वहां कोरोना टेस्ट करवाया तो वे पॉजिटिव निकले। एसडीएम आरपी तिवारी ने बताया वृद्ध की पत्नी व बहू भी संक्रमित पाए गए हैं। उनके बेटे की रिपोर्ट बाकी है। यह सभी इंदौर में भर्ती हैं। चौथा एसएफ का जवान भी है, जो महिदपुर की कंपनी में शामिल था। उसे आरडी गार्डी में इलाज दिया जा रहा है। तहसील में चार एक्टिव कैस है।
नागदा: इलाज कराने गए बुजुर्ग व युवक कोरोना पॉजिटिव निकले
नागदा के कोटा फाटक क्षेत्र का एक बुजुर्ग हार्ट का बॉम्बे हॉस्पिटल इलाज कराने गया था। इस दौरान कई लोगों के संपर्क में आया। यहां सैंपलिंग की गई तो वह पॉजिटिव पाया गया। उनके परिवार में कोई संक्रमित नहीं निकला। एसडीएम पुरुषोत्तम कुमार ने बताया कि इसी क्षेत्र का 19 वर्षीय युवक भी यूनिक हॉस्पिटल में इलाज करवाने पहुंचा था। बाद में वह भी पाॅजिटिव निकला।

क्राइसिस मैनेजमेंट टीम केे सदस्य बोले- सप्ताह में एक दिन का जनरल लाॅकडाउन जरूरी, आज की बैठक में फैसला संभव

जिले में अचानक से बढ़ने लगे कोरोना पॉजिटिव केसेस को कंट्रोल करने के लिए जनप्रतिनिधि आगे आ रहे हैं। इस सुझाव के साथ कि जरूरत पड़े तो प्रशासन सप्ताह में एक दिन का जनरल लॉकडाउन करें। मास्क नहीं पहनने वाले और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं करने वालों पर और भी सख्त कार्रवाई करें। माना जा रहा है कि बुधवार को क्राइसिस मैनेजमेंट समूह की मीटिंग में ऐसे ही कुछ बड़े व ठोस फैसले लिए जा सकते हैं।
चार जुलाई को जिले में कोरोना के केवल 15 एक्टिव केस थे लेकिन 5 दिनों में यह बढ़कर 44 तक जा पहुंचे। चिंताजनक बात यह कि उज्जैन शहर में अब नए नए क्षेत्रों में संक्रमण सामने आ रहा है। यही नहीं अंचलों में भी कोरोना पैर पसारने लगा है। लिहाजा क्राइसिस मैनेजमेंट समूह से जुड़े मंत्री, सांसद, विधायक व महापौर सहित अन्य सभी जनप्रतिनिधि चाहते हैं कि समय रहते ठोस कदम उठाए जाएं। 
जनप्रतिनिधियों का मत

  • बुधवार को मीटिंग है। सभी मिलकर चर्चा करेंगे। परिस्थिति अनुसार सप्ताह में एक दिन का जनरल लॉकडाउन करना पड़े तो उसके बारे में भी निर्णय लेंगे।
  • डाॅ. मोहन यादव, मंत्री,  उच्च शिक्षा 
  • कोरोना के केस बढ़ना सभी के लिए चिंता का विषय है। कोरोना के आंकड़े सामने रखकर मीटिंग में सभी से चर्चा करेंगे। सप्ताह में एक दिन का लाॅकडाउन रखना पड़े तो वह भी फैसला करेंगे।
  • पारस जैन, विधायक, उज्जैन उत्तर 
  • घट्टिया में भी पॉजिटिव सामने आने लगे हैं। कलेक्टर से सख्ती बरतने के लिए कहा है। इसलिए कि गांव में महामारी फैली तो संभालना मुश्किल हो जाएगा। प्रशासन से शिकायत है वे क्राइसिस मैनेजमेंट समूह की मीटिंग में हमें नहीं बुलाते हैं।
  • रामलाल मालवीय, विधायक, घट्टिया 

तराना से सीखें...रोज चार हजार रुपए तक जुर्माना, नतीजा- एक भी पाॅजिटिव नहीं : मंगलवार तक तराना में एक भी पॉजिटिव नहीं था।  एसडीएम एकता जायसवाल ने बताया कि मास्क नहीं पहनने वालों पर रोजाना कार्रवाई की जा रही है। करीब चार हजार रुपए तक जुर्माना वसूला जा रहा है। लेकिन जिले की अन्य तहसीलों में बढ़ते कोरोना संक्रमितों को देखते हुए अब तराना तहसील में बुधवार से कार्रवाई को और तेज किया जाएगा। अधिक से अधिक लापरवाह लोगों पर कार्रवाई करते हुए करीब 10 से 12 हजार रुपए तक जुर्माना वसूला जाएगा।

 

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- समय कड़ी मेहनत और परीक्षा का है। परंतु फिर भी बदलते परिवेश की वजह से आपने जो कुछ नीतियां बनाई है उनमें सफलता अवश्य मिलेगी। कुछ समय आत्म केंद्रित होकर चिंतन में लगाएं, आपको अपने कई सवालों के उत...

    और पढ़ें