पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Ujjain
  • Insanely Serious Patient Lying On Wet Bed, Clothes Not Being Changed, No Fourth Class Staff Near Hospital

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

आईसीयू बदहाल:बेसुध गंभीर मरीज गीले बेड पर पड़े, कपड़े तक नहीं बदले जा रहे, अस्पताल के पास चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी ही नहीं

उज्जैन14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो। - Dainik Bhaskar
फाइल फोटो।
  • चादर तक नहीं दी जा रही, मरीजों का खाना भी दो घंटे बाद पहुंच रहा, सांसद ने व्यवस्था सुधारने की हिदायत दी

कोविड हॉस्पिटल माधवनगर के न्यू आईसीयू में गंभीर मरीजों की केयर तक नहीं हो रही है। यहां मरीजों के कपड़े तक नहीं बदले जा रहे। मरीज गिले बेड पर ही पड़े हैं। उन्हें करवट तक नहीं दिलाई जा रही। बेसुध मरीजों को चादर तक नहीं ओढ़ाई जा रही है। ऐसे में मरीजों में संक्रमण का खतरा बढ़ गया है।

गंभीर मरीज की सिटी स्कैन या एमआरआई करवाना हो तो अटेंडर को खुद एम्बुलेंस की व्यवस्था करना पड़ रही है। मरीज को स्ट्रेचर पर लिटाने के कर्मचारी भी नहीं है। ऐसे में मरीजों के परिजनों को कोविड आईसीयू में बुलाया जाता है और मरीज को स्ट्रेचर पर डालकर एम्बुलेंस तक ले जाया जाता है। मरीजों का खाना भी दो घंटे बाद आ रहा है और परिजनों को घर का खाना देने से रोका जा रहा है। मरीजों के लिए, नारियल पानी व ज्यूस भी अंदर तक नहीं जाने दिया जा रहा है। यहां पर 20 गंभीर मरीज भर्ती हैं।

मरीजों के परिजनों का कहना है कि गंभीर मरीजों की भी केयर नहीं की जा रही है। हॉस्पिटल के कर्मचारी मरीज की ओर ध्यान नहीं दे रहे हैं। कोई अधिकारी या डॉक्टर राउंड पर होते हैं तब ही स्टाफ एक्टिव रहता है, बाकी समय लापरवाही बरती जाती है। सीएमएचओ डॉ. महावीर खंडेलवाल सहित वरिष्ठ अधिकारियों को भी इसको लेकर मैसेज किए गए लेकिन उन्होंने कोई जवाब नहीं दिया। कर्मचारियों को मरीजों का ध्यान रखने का कहा है

कोविड-19 के नोडल डाॅ एचपी सोनानिया के अनुसार मरीजों के बढ़ने से हॉस्पिटल में चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों की कमी हो गई है। इसके लिए वरिष्ठ अधिकारियों को अवगत करा दिया है। नगर निगम से कर्मचारी लेने के प्रयास किए जा रहे हैं। हॉस्पिटल में उपलब्ध स्टाफ को कहा है कि मरीजों का ध्यान रखें नहीं तो कार्रवाई के लिए लिखा जाएगा।

अस्पताल प्रबंधन ने कहा- स्टाफ की कमी है

मरीजों की परेशानी को देखते हुए सांसद अनिल फिरोजिया ने शनिवार रात में हॉस्पिटल के अधिकारियों को फोन लगाकर चेताया कि मरीजों की प्रॉपर केयर नहीं हुई तो मुझे अस्पताल में घुसना होगा, मैं अंदर जाकर व्यवस्थाएं चेक करूंगा और मरीजों से पूछूंगा कि उनकी देखभाल समय हो रही है या नहीं। हॉस्पिटल प्रबंधन का तर्क है कि हमारे पास में चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों की कमी है। ठेके के कर्मचारी भी ठीक से काम नहीं करते हैं। नगर निगम की सेवाएं लेने के प्रयास किए जा रहे हैं।

सुबह 11 बजे का खाना 1.15 बजे आया, करते रहे इंतजार
हॉस्पिटल में भर्ती मरीजों को दो घंटे तक खाने का इंतजार करना पड़ रहा है। रविवार को भी दोपहर 1.15 बजे तक खाने के पैकेट पहुंचे। उसके बाद मरीजों में उनका वितरण किया गया। शनिवार रात में तो यहां से खाने के 10 डिब्बे ही गायब हो गए। उसके बाद रात 10 बजे 20 पैकेट मंगवाएं गए, तब जाकर मरीजों को खाना मिल पाया।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- समय अनुसार अपने प्रयासों को अंजाम देते रहें। उचित परिणाम हासिल होंगे। युवा वर्ग अपने लक्ष्य के प्रति ध्यान केंद्रित रखें। समय अनुकूल है इसका भरपूर सदुपयोग करें। कुछ समय अध्यात्म में व्यतीत कर...

    और पढ़ें