महाकाल में आरिफ मोहम्मद खान:केरल के राज्यपाल ने आरती-जप किया; शाहबानो केस में राजीव गांधी की मुखालफत कर सुर्खियों में आए थे

उज्जैन6 महीने पहले

केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान शनिवार सुबह उज्जैन महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग की आरती में शामिल हुए। वे सुबह 7.30 बजे महाकाल मंदिर पहुंचे। राज्यपाल शिव भक्ति में रमे हुए नजर आए। उन्होंने ॐ नमः शिवाय मंत्र का जाप भी किया।

पूजन के बाद राज्यपाल ने कहा, 'भगवान महाकाल से क्या मांगा, ये तो बताना नहीं चाहिए, फिर भी मैंने देश का कल्याण और प्रगति मांगी है। देश बड़े संकट से गुजर रहा है। भगवान से यही प्रार्थना की है कि दुनिया कोरोना संकट से बाहर आए। देश फिर तेजी से विकास की ओर आगे बढ़े।'

केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान ने बाबा महाकाल की आरती की, इसके बाद मंदिर समिति ने उनका सम्मान किया।
केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान ने बाबा महाकाल की आरती की, इसके बाद मंदिर समिति ने उनका सम्मान किया।

विधि-विधान से किया महाकाल का पूजन
केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान शुक्रवार शाम को उज्जैन पहुंच गए थे। उन्होंने देवास रोड स्थित सर्किट हाउस में रात्रि विश्राम किया। वे शनिवार सुबह आरती में शामिल होने महाकाल मंदिर पहुंचे। राज्यपाल ने विधि-विधान से भगवान महाकाल का पूजन किया। पुजारियों ने आरती करवाई।

SDM ने सम्मानित किया
आरती के बाद SDM गोविंद दुबे और महाकाल मंदिर के सहायक प्रशासनिक अधिकारियों ने शॉल-श्रीफल और महाकाल का प्रसाद देकर राज्यपाल का सम्मान किया। इसके बाद राज्यपाल इंदौर रोड पर एक अन्य कार्यक्रम में भी शामिल हुए।

शाह बानो प्रकरण में राजीव गांधी से टकराव पर आए थे चर्चा में
23 अप्रैल 1985 को सुप्रीम कोर्ट ने शाह बानो केस में ऐतिहासिक फैसला दिया था। इसमें मुस्लिम महिलाओं के लिए तलाक के बाद भरण-पोषण भत्ता देने का प्रावधान किया गया था। इस फैसले का मुस्लिम धर्मगुरुओं ने कड़ा विरोध किया था। इसी दबाव में राजीव तत्कालीन गांधी सरकार ने ‘मुस्लिम महिला अधिनियम, 1986’ पारित करा दिया। राजीव गांधी के इस यू-टर्न से ही नाराज होकर आरिफ मोहम्मद खान ने मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था।

खबरें और भी हैं...