पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Ujjain
  • Kovid Started Getting Re admitted In The Hospital, 3 4 Patients Are Arriving Daily For Follow Up

पाेस्ट काेविड मरीजों का ऑक्सीजन लेवल घट रहा:कोविड हॉस्पिटल में फिर से भर्ती होने लगे, फॉलोअप के लिए रोज 3-4 मरीज पहुंच रहे

उज्जैन15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

जिले में कोरोना का संक्रमण तो कंट्रोल में है पर दूसरी लहर में संक्रमित पाए गए मरीजों की मुश्किल कम नहीं हो रही है। उनमें ऑक्सीजन का लेवल घट रहा है। ऐसे में मरीजों को कोविड हॉस्पिटल माधवनगर में भर्ती करना पड़ा है। यहां महिला मरीज को तो वेंटिलेटर पर रखना पड़ा है। फॉलोअप के लिए भी हर दिन 3-4 मरीजों को हॉस्पिटल जाना पड़ रहा है। कोरोना की दूसरी लहर में संक्रमित पाए गए 50 प्लस के मरीजों में अब भी सांस की परेशानी बनी हुई है।

कोविड हॉस्पिटल माधवनगर में 24 मरीज भर्ती हैं, जिनमें 4-5 मरीज ऐसे हैं, जिन्हें दूसरी लहर में संक्रमण हुआ था। उनका ऑक्सीजन लेवल 45 से 50 के बीच आ रहा है। जांच में उनमें संक्रमण नहीं पाया गया है। पोस्ट कोविड मरीजों के इलाज के अलावा माधवनगर में जनरल ओपीडी और वार्ड भी शुरू कर दिया है। इसमें वायरल फीवर के मरीजों को भर्ती रखकर इलाज दिया जा रहा है।

सर्दी-खांसी व बुखार होने पर मरीज कोविड टेस्ट करवाने के साथ ही हॉस्पिटल में भर्ती हो रहे हैं। रविवार को ही 767 मरीजों ने अपना कोविड टेस्ट करवाया, जिनमें से एक की भी रिपोर्ट पॉजिटिव नहीं पाई गई। कोविड-19 की पहली और दूसरी लहर में अब तक 19098 मरीज संक्रमित पाए गए, जिनमें से 18924 मरीज स्वस्थ्य हो चुके हैं तथा 171 मरीजों की मौत हो चुकी है। कोविड विशेषज्ञों का कहना है कि संक्रमित हो चुके मरीजों में बाद में भी कुछ समय तक तकलीफ बनी रह सकती है। ऑक्सीजन लेवल कम हो सकता है। ऐसे में मरीज अपना प्रॉपर ट्रीटमेंट करवाते रहे।
फॉलोअप के लिए हर रोज मरीज आ रहे
माधवनगर हॉस्पिटल के प्रभारी डॉ. विक्रम रघुवंशी का कहना है कि पोस्ट कोविड मरीज फॉलोअप के लिए आ रहे हैं। इनमें सांस की तकलीफ के मरीज भी हैं। जिन्हें कोविड वार्ड में भर्ती किया है। वायरल फीवर के करीब 20 मरीजों को जनरल वार्ड में भर्ती किया है।
संक्रमित हो चुके मरीजों में ऑक्सीजन लेवल कम
कोरोना संक्रमित होने के बाद स्वस्थ्य होकर हॉस्पिटल से डिस्चार्ज होकर घर पहुंच चुके मरीजों में सांस चलना, शरीर में दर्द बने रहना और घबराहट तथा खाना अच्छा नहीं लगने जैसी समस्या आ रही है। ऐसे मरीजों को हॉस्पिटल में भर्ती रखकर इलाज दिया जा रहा है। -डॉ. एचपी सोनानिया, नोडल अधिकारी कोविड-19

खबरें और भी हैं...