पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Ujjain
  • Lost Eyesight Before Poisonous Liquor, Then Lost Life Yearning, Reality Revealed By Visara Report

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

शराब कांड में खुलासा:जहरीली शराब से पहले खोई आंखों की रोशनी, फिर तड़प-तड़पकर गई जान, विसरा रिपोर्ट से सामने आई हकीकत

उज्जैनएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतिकात्मक चित्र
  • जहरीली शराब में था मेथनाॅल, 10 एमएल का डोज ही बना देता है अंधा, ज्यादा पी तो मौत- फोरेंसिक एक्सपर्ट

जहरीली शराब (झिंझर) से हुई मौतों का सच सामने आया है। इसे पीने वाले मजदूर से लेकर भिक्षुकों तक ने महज शराब नहीं सीधे जहर ही गटका था। जहर भी ऐसा जिसकी महज 10 एमएल की मात्रा ही इंसान को अंधा बनाने के लिए काफी है। इससे जरा भी मात्रा बढ़ी तो मौत तय है। मंगलवार को ग्वालियर से उज्जैन पहुंची मृतकों की विसरा रिपोर्ट में यह खौफनाक सच सामने आया है।

एफएसएल अधिकारी डॉक्टर प्रीति गायकवाड़ ने भास्कर से चर्चा में स्पष्ट किया कि मृतकों ने जो शराब पी उसमें एथनॉल के साथ काफी मात्रा में मेथनॉल मिला है। वही मेथनॉल जो मानव शरीर के लिए जहर है। एक तरीके से यह रासायनिक जहर है। महज 10 एमएल की मात्रा ही इंसान को अंधा बना देती है। मृतकों की विसरा जांच में यह सामने आया है कि उनके पेट में मिली शराब में एथनॉल के अलावा मेथनॉल काफी अधिक मात्रा में था।

इसलिए पहले इसे पीने वालों ने आंखों की रोशनी गंवाई। फिर उनकी जान गई। चूंकि शराब ज्यादा पी गई, इससे उनके शरीर में मेथनॉल काफी मात्रा में गया। यहीं मौत का कारण बना। क्योंकि 30 एमएल मेथनॉल की मात्रा ही इंसान की जान लेने के लिए काफी है। गौरतलब है कि इससे पहले मृतकों का पोस्टमार्टम करने वाले डॉ.जितेंद्र शर्मा ने भी जहरीली शराब से आंखों की रोशनी जाने और इसके दुष्प्रभाव से मल्टी आर्गन सिस्टम फेल होने का दावा किया था।

लगातार मौतों के बाद नया केस भी मिला- झिंझर शराब पीने के बाद दूसरे दिन ही दिखाने देने लगा कम, अब गई रोशनी

मंगलवार को नानाखेड़ा निवासी दीपक पिता बंशीलाल ज्ञानी ने स्वीकार किया कि झिंझर पीने के दूसरे दिन से ही उसे आंखों से कम दिखाई देने लगा है। सुबह छत्रीचौक पर पहुंचकर उसने लोगों और मीडियाकर्मियों को बताया कि आठ दिन पहले उसने पप्पी लंगड़े से झिंझर शराब की तीन पोटली 60 रुपए में खरीदी थी।

इसे पीने के दूसरे दिन से ही उसे आंखों से धुंधला यानी कम दिखाई देने लगा है। यह दिनों दिन बढ़ता जा रहा है। उसने अस्पताल में भर्ती रहकर इलाज भी कराया फिर भी सुधार नहीं, इसलिए वो लोगों को बताने आया है कि झिंझर पीने से उसकी ये हालत हुई है। ताकि अन्य लोग सचेत हाे जाएं।

अब महिला पकड़ाई, यूनुस को स्पिरिट दिलाने में सहयोगी थी

जहरीली शराब कांड में आरोपियों की संख्या बढ़ती जा रही है। मंगलवार को पुलिस ने अशोकनगर निवासी महिला निधि को गिरफ्तार किया, जो बर्खास्त निगम कर्मचारी सिकंदर और उसके साथी यूनुस को मेडिकल दुकानों से स्पिरिट दिलाने में मदद करती थी। पूछताछ में दोनों आरोपियों ने महिला का नाम बताया था।

नए एसपी बोले- गड़बड़ी करने वाला नौकरी नहीं कर पाएगा

मंगलवार को कार्यभार संभालते ही नवागत एसपी सत्येंद्र कुमार शुक्ल ने कहा सिस्टम बिगड़ा है तो सुधार देंगे। कोई भी पुलिसकर्मी गड़बड़ी करेगा तो नौकरी नहीं कर पाएगा। वहीं विसरा रिपोर्ट के बारे में बताया कि जहरीली शराब में मेथनॉल की अत्यधिक मात्रा थी। इसे पीने वाले पहले अंधे हुए, उसके बाद उनकी जान गई।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- पिछले रुके हुए और अटके हुए काम पूरा करने का उत्तम समय है। चतुराई और विवेक से काम लेना स्थितियों को आपके पक्ष में करेगा। साथ ही संतान के करियर और शिक्षा से संबंधित किसी चिंता का भी निवारण होगा...

और पढ़ें