बड़े बकायदारों के खिलाफ पीएचई टीम की वसूली जारी:जल कर वसूलने गई टीम से मधुर के डेयरी संचालक ने की अभद्रता

उज्जैन3 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
अभद्रता करने के बाद कर्मचारियों ने माधवनगर थाने में आवेदन दिया। - Dainik Bhaskar
अभद्रता करने के बाद कर्मचारियों ने माधवनगर थाने में आवेदन दिया।

बड़े बकायदारों के खिलाफ पीएचई की टीम की वसूली जारी है। इसी बीच मधुर डेयरी के संचालक मोहन वासवानी से विवाद की स्थिति बन गई। संचालक ने टीम से अभद्रता की और यहां तक कह दिया कि भीख मांगने आ गए। इसके जवाब ने पीएचई कर्मचारी लामबंद हो गए और वासवानी के खिलाफ शासकीय कार्य में बाधा का प्रकरण दर्ज कराने के लिए माधवनगर थाने में आवेदन दिया।

विवाद मंगलवार दोपहर को हुआ। जब निगम की पीएचई के कर्मचारी होटल समय, गुरुनानक डेयरी और मयूर डेयरी का जल कर करीब चार लाख रुपए वसूलने गए तो इनके संचालक मोहनलाल वासवानी ने अभद्रता शुरू कर दी। कर्मचारियों से कहा भीख मांगने आए हो तो हिसाब से मांगों और वहां मौजूद दुकान के कर्मचारियों ने अभद्रता कर वहां से भगा दिया।

इससे नाराज कर्मचारियों ने हड़ताल की चेतावनी दे दी। जनप्रतिनिधियों ने आश्वासन दिया कि कर्मचारियों के साथ गलत हुआ है तो कानूनन कार्रवाई की जाएगी। हड़ताल पर जाने से कार्य प्रभावित होगा, जिसके बाद पीएचई के कर्मचारी माधवनगर थाने पहुंचे और मोहन वासवानी के खिलाफ शासकीय कार्य में बाधा पहुंचाने का प्रकरण दर्ज करने की मांग को लेकर आवेदन दिया।

पीएचई के सहायक यंत्री मनोज खैरात ने बताया कि संबंधित व्यक्ति दस साल से जल कर जमा नहीं कर रहा था। ऐसे बड़े बकायदारों से वसूली के लिए निगम की तरफ से अभियान चल रहा है, जिसके तहत ही हमारी टीम गई थी, जिनसे अभद्रता की गई। कार्रवाई के लिए थाने में आवेदन दिया है। इधर मोहन वासवानी ने कहा मुझे घटना के बारे में पता नहीं है। पीएचई के कर्मचारियों से मेरी कोई बात नहीं हुई।

खबरें और भी हैं...