• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Ujjain
  • Milk Distribution In Mahakal Temple, Koteshwar Mahadev Temple Worship At 5.30 Pm, Sheet Will Be Offered To Pir Matsyendranath

शरद पूर्णिमा पर कई आयोजन:महाकाल मंदिर में दूध वितरण, कोटेश्वर महादेव मंदिर में साढ़े पांच बजे पूजा, पीर मत्स्येंद्रनाथ को चढ़ेगी चादर

उज्जैन7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

आज शरद पूर्णिमा पर शहर में कई आयोजन होंगे। सबसे प्रमुख आयोजन महाकाल मंदिर में होगा। यहां शाम की आरती के बाद भगवान महाकाल को केसरिया दूध का भोग लगाया जाएगा। इसके बाद यह दूध श्रद्धालुओं को वितरित किया जाएगा। हालांकि बुधवार सुबह भस्म आरती के बाद भी भगवान महाकाल को 56 भोग और केसरिया दूध का भोग लगाया गया। ​​

महाकाल मंदिर प्रांगण में कोटेश्वर महादेव का भांग से श्रंगार किया गया और खीर प्रसाद का वितरण किया।
महाकाल मंदिर प्रांगण में कोटेश्वर महादेव का भांग से श्रंगार किया गया और खीर प्रसाद का वितरण किया।

इतना ही नहीं कई जगहों पर खीर की प्रसाद का वितरण भी किया जाएगा। शाम 5.30 बजे महाकाल मंदिर परिसर में बने कोटेश्वर महादेव की विशेष पूजा की गई। वहीं पीर मत्स्येंद्रनाथ की समाधि पर चादर चढ़ाई जाएगी।

इधर, इंदिरा नगर में डॉ. प्रकाश जोशी ने श्वांस रोगियों को औषधि युक्त खीर का वितरण किया। यह प्रसाद लेने के लिए उज्जैन के अलावा दूर-दराज से लोग आए थे। पूरी रात भजन-पूजन के बाद खीर प्रसाद का वितरण किया गया। डॉ. जोशी ने कहा खीर खाने के बाद सभी को सौ से पांच सौ कदम पैदल भी चलाया गया।

शरद पूर्णिमा पर डॉ. जोशी ने दमा व श्वांस रोग से बचने के लिए कर्ण भेदन भी किया।
शरद पूर्णिमा पर डॉ. जोशी ने दमा व श्वांस रोग से बचने के लिए कर्ण भेदन भी किया।

आज रात्रि जागरण का भी विशेष महत्व है इसलिए पूरी रात भजन व पूजा अर्चना के आयोजन चलते रहे। डॉ. जोशी ने कहा कि इस दौरान दमे से बचाव के लिए कुछ महिलाओं का कर्णभेदन संस्कार भी किया गया।

खबरें और भी हैं...