पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Ujjain
  • Misappropriation Of Government Wheat Worth More Than 3 Crores, FIR Against Warehouse Operator

कार्रवाई:3 करोड़ से ज्यादा के सरकारी गेहूं की हेराफेरी, वेयर हाउस संचालक के खिलाफ एफआईआर

उज्जैन16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
लवकुश नगर की दुकान के उपभोक्ताओं के बयान लेते अधिकारी। - Dainik Bhaskar
लवकुश नगर की दुकान के उपभोक्ताओं के बयान लेते अधिकारी।
  • जांच में समर्थन मूूल्य का 15817 क्विंटल गेहूं कम पाया गया, धारा 406 व 418 में मामला दर्ज

जिले के ग्राम मालीखेड़ी के वेयर हाउस में रखे गए सरकारी गेहूं के स्टॉक में 15817 क्विंटल की कमी हो गई। जिसकी कीमत करीब 3 करोड़ 16 लाख से अधिक है। मामले में वेयर हाउस के संचालक के खिलाफ घट्टिया थाने में प्रकरण दर्ज करवाया गया है।

टीआई विक्रम चौहान ने बताया कि सरकारी खरीदी के बाद यह गेहूं मालीखेड़ी स्थित भारत सिंह पंवार के वेयर हाउस में रखे गए थे। कलेक्टर आशीष सिंह ने हाल में अधिकारियों की टीम से उक्त गेहूं के स्टॉक की जांच करवाई तो वेयर हाउस में 15817 क्विंटल गेहूं कम पाया गया। मामले में वेयर हाउस एवं लॉजिस्टिक कार्पोरेशन के जिला प्रबंधक मनीष वर्मा की रिपोर्ट पर पंवार के खिलाफ धारा 406, 418 के तहत प्रकरण दर्ज किया है।

गेहूं गोदाम में रखा होना बताया
वर्मा ने बताया कि पिछले वर्ष 2020-21 के मई-जून में समर्थन मूल्य पर खरीदे गए उक्त गेहूं को खरीदी समिति ने मालीखेड़ी के इस गोदाम में रखवाना बताया था। जांच समिति ने पाया कि वर्तमान में उक्त अनाज वहां नहीं है। गोदाम में गेहूं जमा हुआ लेकिन संचालक ने अनुचित लाभ लेते हुए उसकी अफरा-तफरी की।

इधर, उपभोक्ताओं को राशन नहीं बांट हेराफेरी की, कंट्रोल दुकान निलंबित
शहर की एक और कंट्रोल दुकान से उपभोक्ताओं के राशन वितरित नहीं करने व कम वितरित करने का मामला सामने आया है। ऐसे में उक्त दुकान को तत्काल निलंबित कर दिया गया है।
जिला आपूर्ति नियंत्रक एमएल मारू ने बताया कि कार्रवाई के दायरे में नीलांचल प्राथमिक सहकारी उपभोक्ता भंडार द्वारा नानाखेड़ा के लवकुश नगर में संचालित कंट्रोल की दुकान आई है। दुकान के विक्रेता व प्रबंधक अवंतिपुरा निवासी संजय पिता स्व. राजमल जैन हैं।

विभाग द्वारा चलाए जा रहे चैकिंग अभियान के तहत खाद्य विभाग के कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी एनएस मुवैल और रवींद्र सिंह सेंगर ने यहां की जांच की थी। उपभोक्ताओं से चर्चा में अधिकारियों को पता चला कि संचालक ने कुछ योजनाओं का राशन उपभोक्ताओं को कम वितरित कर उसकी हेराफेरी की है। इनकी जांच रिपोर्ट के आधार पर प्रबंधक व विक्रेता संजय जैन के खिलाफ सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत प्रकरण दर्ज कर दुकान को निलंबित करने की कार्रवाई की गई है। यहां से जुड़े उपभोक्ताओं को क्षेत्र की पास वाली दुकान से राशन मुहैया करवाने की व्यवस्था की गई है।

खबरें और भी हैं...