पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

कोरोना:रोज 900 से ज्यादा सैंपल, किट सीमित इसलिए शुरू नहीं हो पाए गले के सैंपल

उज्जैन9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
शनिवार काे भी रक्षाबंधन पर्व के लिए खरीदारी करने बाजार में सैकड़ों लोग उमड़े। इस दौरान कुछ लोग कोरोना नियमों का पालन नहीं कर रहे थे। कई बार बाजार में ऐसे नजारे दिखाई दिए जैसे कोरोना संक्रमण खत्म हाे गया है। अगर सतर्कता नहीं बरतीं तो परिणाम गंभीर हो सकते हैं।
  • अपर मुख्य सचिव सुलेमान ने नाक व गले दोनों से सैंपल लेने के दिए थे निर्देश

परिवार कल्याण एवं स्वास्थ विभाग के अपर मुख्य सचिव मोहम्मद सुलेमान ने 24 जुलाई को समीक्षा बैठक में निर्देश दिए थे कि में कोरोना की जांच के लिए केवल गले का सैंपल लिया जा रहा है, इसे तत्काल बदलते हुए नाक एवं गला दोनों के सैंपल लेकर जांच करवाएं। यह भी बोले थे कि आवश्यकता पड़ने पर कर्मचारियों की पुन: ट्रेनिंग कराई जाए। इधर, इस निर्देश का पालन होने में समस्या नजर आ रही है। इसकी वजह अधिकारी सैंपल किट की पर्याप्त उपलब्धता नहीं होना बता रहे हंै।
सैंपलिंग के नोडल अधिकारी व डिप्टी कलेक्टर आशुतोष गोस्वामी ने बताया कि रोज 900 से 1000 सैंपलिंग हो रही है। ऐसे में सैंपल किट का अभाव बना हुआ है। इसलिए कर्मचारियों को कहा गया है कि यदि उनके पास सैंपल किट पर्याप्त पहुंचे तो वे नाक और गले दोनों से सैंपल लें। किट कम हो तो केवल नाक से ही सैंपल लें। गोस्वामी ने कहा कि चिकित्सीय दृष्टिकोण से गले की बजाए नाक से सैंपल लेना ज्यादा प्रभावी है। उज्जैन शहर में ही आठ फीवर क्लिनिक और 15 चलित टीमों द्वारा सैंपल लिए जा रहे हैं।
इधर आरडी गार्डी मेडिकल कॉलेज में नाक और गले से सैंपल लेने का प्रशिक्षण दिया गया था। प्रशिक्षण में जानकारी दी गई कि गले के स्वाब और नेजल स्वाब दोनों ही तरीके से किस तरह से सैंपल लिए जाएं। यह भी बताया गया कि कई बार सैंपल सही नहीं लेने के कारण जांच में दिक्कत आती है। 45 लोगों के इस प्रशिक्षण में ये भी बताया गया कि सैंपल लेने का तरीका क्या होना चाहिए।
कांटेक्ट हिस्ट्री पता करने घरों तक पहुंच रहे कलेक्टर और एसपी

निर्देश : जैसे ही कोई कोरोना मरीज पाया जाए पूछताछ कर उसके फर्स्ट कांटेक्ट का पता लगाकर कोरोना की चेन को ब्रेक किया जाए। यह हो रहा : कलेक्टर व एसपी स्वयं अधीनस्थों के साथ रोगी के घर पहुंचकर उसकी हिस्ट्री व फर्स्ट कांटेक्ट के बारे में पता करते हैं। निर्देश : प्रयास किया जाए कि उस व्यक्ति से समुदाय में कोरोना का फैलाव न हो। मरीज को तत्काल अस्पताल में भर्ती किया जाएं। यह हो रहा : रिपोर्ट आते ही पॉजिटिव आने वाले रोगी को भर्ती कर इलाज दिया जा रहा है। निर्देश : यदि रोगी में हल्के सिम्टम दिखाई दे रहे हैं तो भी तत्काल उसे होम क्वारेंटाइन या होम आइसोलेशन में रखा जाए। यह हो रहा : ऐसा ही कर रहे। 40 से अधिक ऐसे रोगियों को होम आइसोलेशन में रखा है। निर्देश : कम से कम मरीजों के 15 संपर्क को ट्रेस कर उनका कोरोना टेस्ट करवाएं। यह हो रहा : रोजाना पुलिस, प्रशासन व स्वास्थ विभाग की टीम नए रोगियों की कांटेक्ट हिस्ट्री पता कर संबंधितों की सूची तैयार करती है। उनकी सैंपलिंग भी करवाई जा रही है। निर्देश : कंटेनमेंट का एरिया छोटा रखा जाए। यह हो रहा : केवल पॉजिटिव रोगी के मकान के बाहर ही बेरिकेडिंग की जा रही है। निर्देश : दुकानदार मास्क लगाएं एवं सैनिटाइजर का उपयोग आने-जाने वालों से करवाएं। यह हो रहा : दुकानदारों के लिए आदेश जारी किया है कि वे गाइड लाइन का पालन करें अन्यथा प्रतिष्ठान को सील किया जाएगा।

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- धार्मिक संस्थाओं में सेवा संबंधी कार्यों में आपका महत्वपूर्ण योगदान रहेगा। कहीं से मन मुताबिक पेमेंट आने से राहत महसूस होगी। सामाजिक दायरा बढ़ेगा और कई प्रकार की गतिविधियों में आज व्यस्तता बनी...

और पढ़ें