पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Ujjain
  • Municipal Corporation Should Not Improve Garden Or Drainage System Even After Two Years And Five Months Of Handover

रहवासी बोले:नगर निगम को हैंडओवर के दो साल पांच महीने बाद भी न बगीचे सुधारे न ड्रेनेज सिस्टम

उज्जैन2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • दिन में भी काटते हैं मच्छर, सुबह-शाम बगीचे तो ठीक उसके आसपास भी नहीं घूम सकते

हैंडओवर के दो साल पांच महीने बाद भी नगर निगम ने त्रिवेणी और शिप्रा विहार की सुध नहीं ली है। 3000 मकान-प्लॉट की त्रिवेणी विहार कॉलोनी को यूडीए ने 93 हेक्टेयर में विकसित किया है। एक फरवरी 2018 को इस कॉलोनी को नगर निगम को हैंडऑवर कर दिया। उविप्रा ने विकास कार्य के लिए निगम को साढ़े आठ करोड़ रुपए भी दिए। देवास रोड पर 2600 मकान-प्लॉट की शिप्रा विहार के भी ऐसे ही हाल है। 92 हेक्टेयर में विकसित कॉलोनी में ड्रेनेज का पानी जमा होता है।
रहवासियों को निगम को चार मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध कराना थी, जो दो साल पांच महीने बाद भी नहीं करवाई, जिससे रहवासी मकान छोड़कर जाने लगे हैं। जो हैं उनका कहना है कम से कम सफाई करवा दी जाए तो रहना आसान हो जाए। कॉलोनियों में नियमित सफाई भी नहीं हो रही। बगीचे जैसे उविप्रा ने हैंडओवर किए थे, अब भी वैसे ही हैं। उनमें कोई सुधार नहीं हुआ है। सड़कों का रखरखाव नहीं किया जा रहा है। यहां मच्छर पनप रहे हैं। अतिक्रमण भी हो रहे हैं। रहवासियों ने बताया स्ट्रीट लाइट बंद होने से रात में आना-जाना मुश्किल हो रहा है। वारदात का डर बना रहता है। कचरा कलेक्शन वाहन दोपहर बाद आता है। नालियां जाम हैं, गंदा पानी सड़क पर फैल रहा है। नलों से जलप्रदाय नहीं हो रहा है। कॉलोनियों में सूअर घूमते रहते हैं, जिनसे रहवासियों में बीमारी का खतरा बना हुआ है।
चार सुविधाएं जो देना थी, अब तब एक भी काम नहीं हुआ

ड्रेनेज : व्यवस्थित ड्रेनेज नहीं होने से गंदे पानी की निकासी नहीं हो रही है। जहां नालियां, चैंबर हैं, उनमें गाद जमी है, जिससे थोड़े पानी में भी वे उफान पर आ जाती हैं। घरों से निकला गंदा पानी घरों में घुसने लगता है। स्ट्रीट लाइट : दोनों कॉलोनियों में स्ट्रीट लाइट के खंभे तो हैं लेकिन सभी पर लाइट नहीं है। शाम ढलने के बाद यहां से गुजरने में परेशानी आती है। रहवासियों का कहना है महिलाएं शाम के बाद घरों से नहीं निकल रही हैं। सफाई : गलियों के साथ मुख्य मार्गों की भी सफाई नियमित रूप से नहीं की जा रही है। रहवासी बताते हैं आखिरी बार सफाई कब हुई, यह नहीं बता सकते। इस संबंध में शिकायत भी की लेकिन कोई सुनवाई नहीं होती। बगीचे : कॉलोनियों में बड़े बगीचे हैं। उविप्रा ने इनकी बाउंड्रीवॉल बनाई थी। इसके अलावा हर बगीचे में गेट और अंदर पैवर भी लगाए हैं। इसके बावजूद जो पेड़, पौधे प्राकृतिक रूप से उग आए हैं, केवल वही पनप रहे हैं।

हैंडओवर काॅलाेनियों में विकास कार्य करवाएंगेे
त्रिवेणी विहार, शिप्रा विहार और ऐसी कॉलोनियां जो नगर निगम को हैंडओवर हो गई हैं। उनमें विकास कार्य करवाए जाएंगे। इन कॉलोनियों में ड्रेनेज के अलावा सफाई कराने के संबंध में अमले को निर्देश देंगे।
-क्षितिज सिंघल, आयुक्त नगर निगम

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- लाभदायक समय है। किसी भी कार्य तथा मेहनत का पूरा-पूरा फल मिलेगा। फोन कॉल के माध्यम से कोई महत्वपूर्ण सूचना मिलने की संभावना है। मार्केटिंग व मीडिया से संबंधित कार्यों पर ही अपना पूरा ध्यान कें...

और पढ़ें