• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Ujjain
  • Muslim Youth Said, I Am A Devotee Of Mahakal And I Have Great Faith In Him, I Am Coming Here For Five Years.

महाकाल मंदिर में मुस्लिम युवक के जाने पर उठे सवाल:मुस्लिम युवक बोला, मैं महाकाल का भक्त और मेरी उनके प्रति अगाध आस्था, यहां पांच सालों से आ रहा हूं

उज्जैनएक महीने पहले
महाकाल मंदिर प्रशासन ने इदरीस, सनी और शम्मी जायसवाल का सम्मान किया। सभी को भगवान महाकाल की तस्वीर और प्रसाद भेंट की।

उज्जैन में गुरुवार शाम करीब 4 बजे से ही महाकाल मंदिर में मुस्लिम युवक के घूमते हुए फोटो वायरल हो गए। इसे लेकर सोशल मीडिया पर कई तरह के कमेंट्स किए जाने लगे। सोशल मीडिया यूजर्स ने कहा, हमें उसके मंदिर जाने और महाकालेश्वर के दर्शन में कोई परेशानी नहीं, तो किसी ने उसकी ड्रेस, टोपी और दाढ़ी पर सवाल उठाए।

महाकाल मंदिर परिसर में घूमता इदरीस।
महाकाल मंदिर परिसर में घूमता इदरीस।

इसका जवाब महाराष्ट्र के गोंदिया से दर्शन करने आए जुनैद इदरीस शेख ने दिया। उसने भास्कर से चर्चा में कहा, जयश्री महाकाल। महाकाल भगवान के प्रति मेरी अगाध आस्था है। मैं यहां अकसर दर्शन करते आता हूं। यहां लगातार पांच सालों से आ रहा हूं। मेरे कई साथी भी यहां दर्शन करने आते हैं और चले जाते हैं। यहां किसी भी धर्म के लिए रोकटोक नहीं है। मुझ पर महाकाल की कृपा है और मुझे भी जय श्री महाकाल बोलने में कोई दिक्कत नहीं।

मंदिर के प्रशासनिक भवन में जाने से पहले इदरीस काफी देर तक परिसर में नजर आया।
मंदिर के प्रशासनिक भवन में जाने से पहले इदरीस काफी देर तक परिसर में नजर आया।

यह है मामला -
महाराष्ट्र के गोंदिया से मुस्लिम युवक जुनैद इदरीस शेख महाकालेश्वर के दर्शन करने आया था। वह सनी और शम्मी जायसवाल के साथ गुरुवार को मंदिर पहुंचा। वे शम्मी जायसवाल की गाड़ी चलाता है।

शम्मी जायसवाल ने भास्कर को बताया कि हम पूरे देश के ज्योतिर्लिंग के दर्शन साथ ही जाते हैं और जुनैद भी मेरे साथ ही शिवजी के दर्शन करते हैं। दरअसल गोंदिया में स्वयंभू शिवलिंग मंदिर है। मंदिर में पूरा शहर शिव भक्ति करने आता है। यहां विभिन्न धार्मिक आयोजन पूरे साल हाते हैं। इसमें सभी धर्मों के लोग शामिल हैं।

दान भी करते हैं, प्रसाद भी चढ़ाते हैं -
जायसवाल ने बताया कि महाराष्ट्र में महाकाल के भक्त के नाम से व्हॉट्सएप ग्रुप भी है। जिसमें हिंदू-मुस्लिम सहित सभी धर्मों के श्रद्धालु शामिल हैं। सभी की महाकाल के प्रति अगाध आस्था है। इस समूह ने महाकाल मंदिर में 110 किग्रा लड्‌डू, 110 लीटर दूध की खीर का भोग भी लगाया। गुरुवार को तीनों ने महाकालेश्वर में महारुद्र अभिषेक कराया और प्रसाद वितरण किया।

महाकाल का भक्त है इदरीस -

मन्दिर प्रशासक गणेश धाकड़ ने सभी का भगवान महाकाल का दुपट्टा ओढ़ाकर सम्मानित किया व प्रसाद भेंट किया। कहा, इदरीस महाकाल का भक्त है और वह यहां लंबे समय से आ रहा है।

खबरें और भी हैं...