पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Ujjain
  • Not A Single Injection Was Found For 44 Corona Patients Admitted To The Charitable Hospital That Distributes It To All

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

रेमडेसिविर आउट ऑफ स्टॉक:सबको बांटने वाले चैरिटेबल हॉस्पिटल में भर्ती 44 कोरोना मरीजों के लिए नहीं मिला एक भी इंजेक्शन

उज्जैन9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • कालाबाजारी रोकने के लिए कलेक्टर का निर्णय, मापदंड पूर्ण करने वालों को ही मिलेगी दवा
  • ड्रग विभाग दवा शार्टेज पर नहीं दे पा रहा जवाब

पूरे संभाग के मरीजों को 10 दिन पहले तक आसानी से संक्रमण रोकने में सहायक एंटी वायरल ड्रग रेमडेसिविर इंजेक्शन उपलब्ध कराने वाले चैरिटेबल हॉस्पिटल में रेमडेसिविर इंजेक्शन की एक भी वायल नहीं है। जबकि यहां कोरोना संदिग्ध 44 मरीज भर्ती हैं। यहां के मेडिकल स्टोर प्रबंधन के अनुसार बुधवार सुबह से उनके यहां इंजेक्शन के लिए संभागभर से इंक्वायरी आ रही है। मगर स्थिति यह है कि चैरिटेबल में भर्ती मरीजों को ही जरूरत होने पर इंजेक्शन उपलब्ध नहीं करा पा रहे हैं। रेमेडेसिविर की शार्टेज को लेकर जब ड्रग इंस्पेक्टर धर्मसिंह कुशवाह से जानकारी मांगी गई तो वे कोई जवाब नहीं दे पाए।
5400 में आसानी से मिल रहा था: 10 दिन पहले तक रेमडेसिविर आसानी से मिल रहा था। तब कीमत 5400 रुपए वसूली जा रही थी। कलेक्टर द्वारा कीमत 2500 रुपए निर्धारित करने के बाद से यह ड्रग गायब हो गई है। आशंका है कि उज्जैन के हक का कोटा इंदौर भेजा जा रहा है। जहां इंजेक्शन 5400 रुपए में बिक रहा है।

अब इंजेक्शन तभी मिलेगा जब

  • पॉजिटिव व्यक्तियों के फेफड़ों में संक्रमण 10% से अधिक है और संक्रमित व्यक्ति वृद्ध अथवा गंभीर बीमारियों जैसे मधुमेह, उच्च रक्तचाप आदि से ग्रस्त है।
  • कोविड संक्रमित जिनके फेफड़ों में संक्रमण 25% से अधिक हो चाहे वह व्यक्ति किसी भी उम्र का हो।
  • कोविड निगेटिव व्यक्ति में फेफड़े का संक्रमण 25 प्रतिशत से अधिक हो।
  • यदि व्यक्ति का spo 2 का प्रतिशत 92 से कम और व्यक्ति को कोविड जैसे लक्षण हो तो चिकित्सकों द्वारा रेमडेसिविर प्रिस्क्राइब किया जाए।
  • ड्रग इंस्पेक्टर सप्लाई लाइन मॉनिटर करें तथा रेंडम आधार पर विभिन्न अस्पतालों में इंजेक्शन प्रिस्क्राइब करने में मापदंडों का पालन हो।

25% फेफड़ों में संक्रमण तो ही मिलेगा इंजेक्शन: बुधवार देर शाम कलेक्टर ने गाइड लाइन जारी की है। कलेक्टर आशीष सिंह के अनुसार स्टडी में यह सामने आया है कि अनावश्यक इंजेक्शन लिखे जा रहे हैं। इससे मांग और आपूर्ति में बड़ा अंतर आया है। निर्देशों का पालन नहीं करने पर संबंधित पर कार्रवाई होगी।

बढ़ने से हो रही परेशानी
फार्मा कंपनी जायडस कैडिला कंपनी के हरिप्रकाश यादव ने बताया कि 10 दिन के भीतर देशभर में इंजेक्शन की डिमांड बढ़ी है। सप्ताह भर के भीतर स्थिति सामान्य हो जाएगी।
200 इंजेक्शन पहुंचे, तत्काल खत्म भी हो गए : बुधवार रात 9 बजे रेमडेसिविर के 200 इंजेक्शन शहर पहुंचे, जो अस्पतालों में पहुंचाए गए हैं। मप्र केमिस्ट एवं ड्रग एसोसिएशन अध्यक्ष गौतमचंद्र धींग ने बताया मरीजों की संख्या अचानक इतनी बढ़ गई है कि फार्मा कंपनी डिमांड के अनुरूप आपूर्ति नहीं कर पा रही है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव - आपका संतुलित तथा सकारात्मक व्यवहार आपको किसी भी शुभ-अशुभ स्थिति में उचित सामंजस्य बनाकर रखने में मदद करेगा। स्थान परिवर्तन संबंधी योजनाओं को मूर्तरूप देने के लिए समय अनुकूल है। नेगेटिव - इस...

    और पढ़ें