पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Ujjain
  • Now Residential And Commercial Projects Will Be Built, 116 Plots, Shopping Malls Or Multiplexes, Hospitals And Shop Cum Residency Apartments Will Be Developed.

कब्जे से मुक्त कराई जमीन:अब बनेंगे आवासीय और व्यावसायिक प्रोजेक्ट, 116 प्लाॅट, शॉपिंग मॉल या मल्टीप्लेक्स, हॉस्पिटल व शॉप कम रेसीडेंसी अपार्टमेंट डेवलप होंगे

उज्जैन11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • कवेलू कारखाने और नीमनवासा की जमीन पर होगा डेवलपमेंट, लोगों को मार्केट व चिकित्सा सुविधा मिल सकेगी

कब्जे से मुक्त कराई जमीनों पर हाउसिंग बोर्ड व यूडीए प्रोजेक्ट लाएगा। यहां आवासीय के साथ में फ्रंट साइड में व्यावसायिक निर्माण के लिए प्लॉट डेवलप किए जाएंगे। नीलगंगा क्षेत्र में कवेलू कारखाने की जमीन में से 16.337 हेक्टेयर पर हाउसिंग बोर्ड सभी श्रेणी के 116 आवासीय प्लॉट डेवलप करेगा।

इसमें 18 एचआईजी, 42 एलआईजी-बी, 34 एलआईजी-सी व 22 ईडब्ल्यूएस श्रेणी के प्लॉट होंगे। साथ ही होटल, शॉपिंग मॉल या मल्टीप्लेक्स, शॉप कम रेसीडेंशियल अपार्टमेंट, ऑफिस कॉॅम्प्लेक्स व हॉस्पिटल का निर्माण भी हो सकेगा।

इससे लोगों को अपने ही क्षेत्र में मार्केट और चिकित्सा सुविधा मिल सकेगी। साथ ही नीमनवासा में भी सरकारी जमीन पर हाउसिंग बोर्ड आवासीय प्रोजेक्ट बना रहा है। यूडीए को भी मालनवासा में आवासीय प्रोजेक्ट के लिए जमीन का आवंटन किया जा रहा है।

200 करोड़ की 47.38 हेक्टेयर जमीन पर अब मकान-प्लॉट बनेंगे, उद्योग भी लगाए जाएंगे

जिला प्रशासन द्वारा अब तक शहरी क्षेत्र में 47.38 हेक्टेयर जमीन को कब्जे से मुक्त करवाया जा चुका है, जिसका बाजार मूल्य 200 करोड़ है। इन जमीनों पर राजस्व की टीम ने आधिपत्य भी ले लिया है। 46 सर्वे नम्बर की जमीन धतरावदा, नीमनवासा व लालपुर में हैं।

इसके पहले नीलगंगा क्षेत्र में कवेलू कारखाने की जमीन और हरिफाटक रोड व आगर रोड पर नरेश जीनिंग फैक्टरी तथा जेसी मिल की जमीन पर डेवलप की गई निजी कॉलोनी मणि पार्क-वे में सरकारी जमीन का कब्जा लिया जा चुका है।

इन जमीनों पर भूमाफियाओं का कब्जा था। जिला प्रशासन ने अवैध कब्जे हटाकर जमीन को अपने अधिपत्य में ले लिया है। अब यहां हाउसिंग बोर्ड, नगर निगम और यूडीए आदि विभाग अपने प्रोजेक्ट के प्रस्ताव बना रहे हैं। जिस विभाग को जमीन उपलब्ध हो जाएगी, वह अपने प्रोजेक्ट के तहत डेवलपमेंट करेगा।

नीमनवासा में होस्टल बनाया जाएगा

  • नीमनवासा : सर्वे नंबर 144, 145/1/1/1, 145/2/2, 146/1/1, 146/2, 147/2/1, 151/1 कुल 6.584 हेक्टेयर जमीन हैै। आवासीय उपयोग की यह जमीन प्राइवेट कॉलोनी महामंगल सिटी व मणि नगर के बीच स्थित है। यहां होस्टल एवं आवासीय निर्माण किया जाएगा।
  • मालनवासा : सर्वे नंबर 18/2 एवं 19/2 कुल रकबा 0.429 हेक्टेयर जमीन है जिसका बाजार मूल्य 51 लाख 48 हजार रुपए हैं। यहां पर आवासीय प्रोजेक्ट के लिए यूडीए को जमीन दिए जाने का प्रस्ताव किया गया है। जहां पर त्रिवेणी विहार एक्सटेंशन आवासीय योजना में मकानों का निर्माण या प्लॉट डेवलप किए जाएंगे।
  • लालपुर : यहां कुल रकबा 12.928 हेक्टेयर जमीन है, यहां जमीन का औद्योगिक उपयोग हो सकेगा। लालपुर की सर्वे नंबर 39/(5, 6), 44/5 कुल रकबा 4.380 हेक्टेयर औद्योगिक उपयोग के लिए है।

जमीन का आवासीय और व्यावसायिक उपयोग हो सकेगा
हाउसिंग बोर्ड के ईई एनके गुप्ता के अनुसार जिला प्रशासन द्वारा कब्जे से मुक्त कराई जमीनों पर हाउसिंग बोर्ड प्रोजेक्ट लाएगा। यहां आवासीय के साथ में फ्रंट साइड में व्यावसायिक निर्माण के लिए प्लॉट डेवलप किए जाएंगे। नीलगंगा क्षेत्र में कवेलू कारखाने की जमीन में से 16.337 हेक्टेयर पर हाउसिंग बोर्ड सभी क्षेणी के 116 आवासीय प्लॉट डेवलप करेगा।

साथ ही यहां होटल, शॉपिंग मॉल या मल्टीफ्लेक्स, शॉप कम रेसीडेंशियल अपार्टमेंट, ऑफिस कॉॅम्प्लेक्स व हॉस्पिटल का निर्माण भी हो सकेगा। नीमनवासा में भी सरकारी जमीन पर हाउसिंग बोर्ड आवासीय प्रोजेक्ट बना रहा है।

खबरें और भी हैं...