जेल में चरस ले जाने का मामला:भैरवगढ़ जेल के एक निलंबित प्रहरी ने सरेंडर किया, दो अभी भी पुलिस की गिरफ्त से दूर

उज्जैनएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

मुंह में चरस ले जाने के केस में मंगलवार देर रात भैरवगढ़ जेल में एक सिपाही ने सरेंडर कर दिया। मामले में पुलिस उसके दो और साथियों को अभी भी तलाश कर रही है। इस बीच सोमवार देर रात शाहरुख भैरवगढ़ थाने पहुंच गया। और सरेंडर कर दिया। पुलिस ने उसे गिरफ्तार मंगलवार को कोर्ट में पेश किया। जहां से उसे जमानत मिल गई। पुलिस को मामले में अब दो और जेल प्रहरी यशपाल व बाबूराम की तलाश है।

दरअसल केंद्रीय जेल भैरवगढ़ में 28 नवंबर की शाम गेट कीपर ने प्रहरी यशपाल, शाहरुख खान व बाबूराम यादव के मुंह से चरस की थैली बरामद की थी। इस दौरान काल भैरव की सवारी निकल रही थी। इसलिए जेल अधीक्षक उषा राज भी वहीं थीं। उन्होंने तीनों के मुंह खुलवा तो पहले उन्होंने आनाकानी की। जब मुंह खोले ताे उनके मुंह से चरस की थैली बरामद की गई। इनके मुंह से करीब 10 ग्राम चरस बरामद की थी। जेल अधीक्षक उषा राज ने तीनों को निलंबत कर कन्नोत व शाजापुर जेल में अटैच कर दिया था।

वहीं जेल अधीक्षक की शिकायत पर पुलिस ने तीनों प्रहरियों पर एनडीपीएस एक्ट के तहत केस दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी थी।

निलंबन अवधि में जॉइन करने के बजाय फरार हो गए थे -
एनडीपीएस एक्ट में केस दर्ज होने के बाद तीनों को कन्नोद व शाजापुर जेल में भेज दिया था। लेकिन तीनों जॉइनिंग देने के वहां से भाग गए थे। इसके बाद वे सोमवार को शाहरुख ने खुद को सरेंडर कर दिया।

खबरें और भी हैं...