लालच फंसा रहा:थ्री स्टार होटल में पार्टी, कार-बंगले के सपने, हर ठगी के पीछे यही

उज्जैन9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • एक आरोपी को जेल भेजा, दूसरे को जमानत, दिल्ली-भोपाल में छिपे ठगों ने अपना वकील भेज दिया

लोग रात-दिन मेहनत कर पाई-पाई इकट्ठा करते हैं लेकिन पिछले कुछ साल से लोगों की कमाई पर चिटफंड और ठग कंपनियां डाका डाले हुए हैं। फिर बड़ा मामला बोहरा समाज के कई लोगों के साथ धोखाधड़ी का सामने आया है। दिल्ली-भोपाल के ठगों ने एक माह में ऑनलाइन जॉब के माध्यम से पैसा डबल करने का प्रलोभन देकर शहर के 70 से 80 लोगों से लाखों रुपए की धोखाधड़ी की। थ्री स्टार होटलों में पार्टी देकर लोगों को महंगी कार व बंगले का सपना दिखाकर धोखाधड़ी की गई।

वेबसाइट पर फर्जी तरीके से क्यूनेट इंडिया के नाम से कंपनी बनाकर लोगों से धोखाधड़ी का मामला जीवाजीगंज पुलिस के पास दो दिन पहले ही पहुंचा। इसमें पुलिस ने तत्काल कार्रवाई करते हुए दो एजेंट को गिरफ्तार कर लिया। शनिवार को एक आरोपी मुफद्दल पैठलवाला को कोर्ट से जमानत मिल गई, जबकि जुजर जुजफ्फर बाम्बेवाला को फरियादी की आपत्ति के चलते सेंट्रल जेल भैरवगढ़ भेज दिया।

पुलिस कार्रवाई का पता चलते ही दिल्ली व भोपाल में छिपे कंपनी के अधिकारियों ने दिल्ली से अपने वकील को जीवाजीगंज थाने भी भिजवाया। थाना प्रभारी मनीष मिश्र ने बताया कि कंपनी के वकील ने आकर अपनी बात रखी व आरोपियों से मिलवाने का निवेदन किया था। लेकिन हमने इनकार कर दिया तो संबंधित कंपनी के वकील चले गए। धोखाधड़ी के मामले में कंपनी की एमपी हेड समेत अन्य की भी तलाश जारी है।
फ्लाइट में घूम रहे ठग
जीवाजीगंज पुलिस के पास शिकायतकर्ताओं की संख्या बढ़ रही है। कंपनी की एमपी हेड सुचिता के साथ ही अमीरूद्दीन भी फरार होना बताया है। ठग आम लोगों के पैसों से हवाई यात्रा कर रहे व विदेश घूम रहे हैं। करोड़ों रुपए की संपत्ति इन्होंने इसी तरह अर्जित कर ली। इधर धोखाधड़ी के शिकार कुछ लोग तो जीवनभर की जमा पूंजी ही गंवा चुके हैं।

दो आरोपी परिवार समेत फरार, महिला भी गायब
मामले में आरोपियों की संख्या बढ़ेगी। मास्टर माइंड अमीरूद्दीन मल्लावाला, दुरैया कसारावाला परिवार समेत फरार हो गया है। पुलिस ने शनिवार को भी दोनों के घरों पर दबिश दी। इब्राहिम अली भी गायब है। इनके अलावा फ्रीगंज घासमंडी-सेठीनगर मार्ग निवासी तस्लीम नामक महिला भी गायब है। पुलिस को धोखाधड़ी के शिकार लोगों ने महिला के बारे में बताया कि उसी ने सबसे अधिक 70 से 80 महिलाओं को जोड़कर कंपनी में उनका लाखों रुपए निवेश करवा दिया।

दो साल में 40 करोड़ रुपए लेकर भागी
दो साल के भीतर चिटफंड कंपनी के खिलाफ पुलिस की यह 12वीं कार्रवाई है। नवंबर 2019 तक दस चिटफंड कंपनी लोगों का करीब 40 करोड़ लेकर फरार हो चुकी है। इनमें लाइफ टाइम स्टॉक कंपनी 12 करोड़, ग्लोरिया प्रापर्टी इंडिया लिमिटेड 24 करोड़, रिलायबल मेगा प्रोजेक्ट व इन्फ्रा लिमिटेड पौने दो करोड़ समेत अन्य चिटफंड कंपनियां शामिल हैं। एएसपी अमरेंद्रसिंह चौहान ने बताया कि उक्त कंपनी के अधिकांश लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है।

डेढ़ साल पहले ऐसी ही कंपनी ने छात्रों को कार-बाइक व बुलेट गिफ्ट कर ठगा था
धोखाधड़ी का यह पहला मामला नहीं है, अक्टूबर 2019 में लाइफ टाइम स्टॉक मार्केटिंग कंपनी ने भी इसी तरह लोगों को ठगा था। इसमें ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले कॉलेज के छात्रों को पैसा डबल करने का लालच दिया था। इसमें पुलिस ने दस से अधिक बुलेट, बाइक व कारें समेत सोने की कई चेन भी बरामद की थी।

खबरें और भी हैं...