गाइड लाइन नहीं बढ़ी / जमीन खरीदी पुराने भाव पर, घर बनवाना महंगा

X

  • नई कॉलोनियों की दरें तय ; आज से 24 क्षेत्रों में 300 से 800 रुपए तक की गाइड लाइन पर होगी रजिस्ट्री

दैनिक भास्कर

Jul 01, 2020, 04:59 AM IST

उज्जैन. शहर व जिले की 24 नई कॉलोनियों में बुधवार से तय दरों पर मकान- प्लॉट की रजिस्ट्री होगी। अब तक इन कॉलोनियों में प्रॉपर्टी की दरें निर्धारित नहीं थी। पंजीयन विभाग ने इन काॅलोनियों में 300 से लेकर 800 रुपए तक दरों का निर्धारण कर दिया है, जिनके अनुसार ही बुधवार से रजिस्ट्री होगी। जिला पंजीयन विभाग के अधिकारियों के अनुसार इस बार पुरानी कॉलोनियों की गाइड लाइन नहीं बढ़ाई है। प्रॉपर्टी कारोबार में चल रहे मंदी के दौर को देखते हुए यहां पर दरें यथावत रहेगी। यानी लोग पुरानी दर पर ही रजिस्ट्री करवा सकेंगे। केवल नई कॉलोनियों की दरों का निर्धारण किया है। पंजीयन विभाग ने कंस्ट्रक्शन कॉस्ट जरूर बढ़ाई है, जिससे लोगों को मकान या अन्य बिल्डिंग की रजिस्ट्री करवाना महंगा पड़ेगा। उन्हें अतिरिक्त राशि चुकाना होगी। दूसरी तरफ बिल्डिंग मटेरियल की कीमतें बढ़ने से भी मकान या अन्य निर्माण करना महंगा पड़ेगा।

घर, जमीन या दुकान... आप खरीदार हैं तो ये हैं बदलाव में आपके हर सवाल का जवाब

इन कॉलोनियों में दरें निर्धारित
शारदा होम्स व शारदा संपन्न कॉलोनी में 800 रुपए स्क्वेयर फीट, गिरिराज रतन सेक्टर बी व गिरिराज रतन सेक्टर ए में 400, मनी विहार कॉलोनी में 300, हाटकेश्वर हिल्स में 360, शिवगंगा सिटी में 360, तिरुपति डायमंड ब्लॉक ए बी सी में 360, तिरुपति ड्रीम्स एक्सटेंशन में 360, तिरुपति सिल्वर में 360 तिरुपति प्लेटिनम में 360,शांति रेसीडेंसी में 350, अमरीश नगर लालपुर में 800, बड़नगर की बालाजी ग्रीन्स कॉलोनी में 300, श्रुत विहार कॉलोनी में 400, सावंतपुरा में 1072 रुपए, अर्जुनाखेड़ी में 1048 रुपए, महिदपुर की ग्रीन पार्क कॉलोनी में 190 रुपए, दिलशादपुरा में 290 रुपए, नागौरी पार्क में 410, कैप्टन हीरासिंह मार्ग रोड से अंदर 620, बांठिया कॉलोनी में 220 की दरें निर्धारित की गई हैं।

इधर आज से 31.9 प्रतिशत बढ़ेगी कंस्ट्रक्शन कॉस्ट
पंजीयन विभाग द्वारा कंस्ट्रक्शन कॉस्ट बढ़ाई गई है यानी मकान की रजिस्ट्री करवाने पर ज्यादा शुल्क चुकाना पड़ेगा। जिला पंजीयन विभाग के अधिकारियों के अनुसार कंस्ट्रक्शन कॉस्ट 31.9 प्रतिशत तक बढ़ाई गई है। अब तक कंस्ट्रक्शन की दरें 720 रुपए स्क्वेयर फीट थी जो 1 जुलाई से बढ़कर 950 हो गई है। सीधे तौर पर 230 रुपए बढ़ गए है।
दर निर्धारण करने से लोगों पर यह होगा असर
देवास रोड या इंदौर रोड की कॉलोनी में 1000 स्क्वेयर फीट के मकान की रजिस्ट्री करवाने पर वर्तमान में यदि 720 रुपए स्क्वेयर फीट की दर से रजिस्ट्री खर्च 252500 रुपए आ रहा था तो नई दर 950 लागू होने पर 281250 रुपए तक रजिस्ट्री खर्च बढ़ जाएगा यानी लोगों को 28750 रुपए ज्यादा चुकाने होंगे।

इधर बढ़ी मकानों की कंस्ट्रक्शन कॉस्ट
बिल्डिंग मटेरियल की कीमतें बढ़ने से मकानों की कंस्ट्रक्शन कॉस्ट भी बढ़ गई है। लॉकडाउन के पहले मकानों की कंस्ट्रक्शन कास्ट 1200 रुपए थी जो बढ़कर 1250 से 1275 रुपए स्क्वेयर फीट तक हो गई है। बिल्डर सोमेश जायसवाल के अनुसार सीमेंट की कीमत 5 रुपए प्रति बोरी बढ़ी है। सरिए के दाम नहीं बढ़े हैं लेकिन ईंट के दाम 4300 से बढ़कर 4600 रुपए तक हो गए हैं। गिट्टी के दाम भी 25 रुपए प्रति क्यूबिक मीटर बढ़े हैं। बालू रेती 60 रुपए घनफुट से बढ़कर 100 रुपए हो गई है।  

इस बार गाइडलाइन नहीं बढ़ाई गई है। केवल नई काॅलोनियों में दरों का निर्धारण किया है। 31.9 प्रतिशत कंस्ट्रक्शन की दरें बढ़ाई गई हैं।

-मंजूलता पटेल, जिला पंजीयक

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना