पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Ujjain
  • Rasuka, Neetu And Amit Sent To Jail For Three Months On Two Criminals Of Rare Kashyap Gang Active On Social Media

दुर्लभ कश्यप गैंग:सोशल मीडिया पर सक्रिय दुर्लभ कश्यप गैंग के दो अपराधियों पर रासुका, नीतू और अमित को तीन माह के लिए भेजा जेल

21 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
अमित - Dainik Bhaskar
अमित

सोशल मीडिया पर खुद को हिस्ट्रीशीटर बताकर गुंडागर्दी करने वाले दुर्लभ गैंग के दो और सदस्यों पर रासुका की कार्रवाई कर दी गई। कलेक्टर आशीषसिंह ने रविवार को इस संबंध में आदेश जारी कर दिए। नीतू उर्फ कुशाग्र निवासी महावीर बाग नानाखेड़ा और अमित पिता संतोष निवासी नयापुरा को रासुका के तहत 3 माह के लिए जेल भेज दिया गया।

नीतू और अमित दोनों ही सोशल मीडिया के माध्यम से आतंक फैलाने का काम कर रहे थे। इसके पहले 9 अगस्त को दुर्लभ के साथी चयन उर्फ हितेश पुत्र राजकुमार बोहरा को रासुका के तहत कार्रवाई करते हुए जेल भेजा था। चयन के खिलाफ पांच केस दर्ज हैं।

आज दुर्लभ की पहली बरसी, एक साल पहले आज ही के दिन हुई थी हत्या -
दुर्लभ कश्यप की एक साल पहले आज ही के दिन 6 सितंबर को चाकुओं से गोदकर हत्या कर दी गई थी। रात करीब 2 बजे हेलावाड़ी क्षेत्र में हिस्ट्रीशीटर बदमाश दुर्लभ कश्यप की हत्या हेलावाड़ी में जुम्मन चाचा की दुकान पर चाय पीने के दौरान कर दी गई थी। दुर्लभ का विवाद शाहनवाज और शादाब से हो गया था। तब दुर्लभ ने शाहनवाज के कंधे पर फायर कर दिया था। घायल शाहनवाज ने अपने साथियों के साथ मिलकर दुर्लभ की चाकू मारकर हत्या कर दी थी। घटना के दौरान दुर्लभ का एक साथी बुरी तरह जख्मी हो गया था। दुर्लभ को बिल्ली पालने का शौक था।

ऐसे फैलाता था सोशल मीडिया पर आतंक -
दुर्लभ फेसबुक पर रंगदारी और सुपारी लेता था। उसकी पोस्ट देखकर कई युवा उसके मुरीद हो जाते थे और उसकी गैंग जॉइन कर लेते थे जिनसे वह अपराध करवाता था। दुर्लभ की गैंग में 100 से ज्यादा युवा व नाबालिग जुड़ गए थे जो रंगदारी, हफ्ता वसूली, लूटपाट करने लगे थे। इनमें से कई लोग आज भी फेसबुक व अन्य सोशल मीडिया माध्यमों से अपराध कर रहे हैं।

माथे पर टीका, आंखों में काजल और गले में काला कपड़ा था ड्रेसकोड -
दुर्लभ कश्यप की पूरी गैंग का ड्रेस कोड था। गैंग के सदस्य माथे पर टीका, आंखों में काजल और गले में काला कपड़ा रखते थे। बता दें कि दुर्लभ कश्यप ने फेसबुक पर स्टेट्स लगाया था कि वह कुख्यात बदमाश, हत्यारा और अपराधी है कोई सा भी विवाद हो. कैसा भी विवाद हो तो उससे संपर्क करें। इसी के साथ इन लोगों की प्रोफाइल पर हथियारों के साथ पोस्ट, धमकाने और दहशत फैलाने वाली पोस्ट भी डाली जाती थी। गैंग के लोगों की फेसबुक आइडी का संचालन करने के लिए भी एक टीम बना रखी है। यह टीम आज भी काम कर रही है।

खबरें और भी हैं...