पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

डबल वसूली:टोल प्लाजा पर चालकों के अकाउंट में जीरो बैलेंस बता काट रहे रसीद

उज्जैन16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
फाइल फोटो
  • उज्जैन-इंदौर टोल प्लाजा पर फास्टैग में खेल, ऑनलाइन भी कट रहा शुल्क

हाईवे में टोल प्लाजा पर टोल टैक्स के लिए लगने वाली गाड़ियों की कतारों के समाधान के लिए एक तरीका निकाला गया। तरीके का नाम फास्टैग है। तरकीब तो निकली लेकिन इसके साथ ही खेल भी शुरू हो गया। फास्टैग से पैसा ऑनलाइन कटता है तो ऐसे में एक समय में दो बार पैसा काटने के मामले सामने आ रहे हैं।

ऐसे में सवाल यह उठता है कि ग्राहकों को इस तरह से लगाए जा रहे चूने पर आखिर लगाम कब लगाई जाएगी। ताजा मामला शनिवार का है। उज्जैन-इंदौर रोड पर ग्राम निनौरा में बने टोल प्लाजा पर कर्मचारी फास्टैग लेन के सामने वाहनों को रोक देते हैं। फिर फास्टैग का बैलेंस जीरो बताकर उनसे नकद शुल्क लेकर मैन्युअल रसीद थमाते हैं।

मगर कुछ दूर जाने के बाद पता चलता है कि वाहन मालिक के फास्टैग खाते से भी राशि कट चुकी है। शनिवार दाेपहर 2 बजकर 41 मिनट पर नागदा निवासी दिलीप पिता राजेंद्र शर्मा कार नंबर एमपी-09 एनपी0029 से से इंदौर के लिए निकले थे। यहां उज्जैन-इंदौर रोड पर ग्राम निनौरा स्थित टोल प्लाजा पर फास्टैग वाहन लेन में पहुंचे तो कार पर लगे फास्टैग का स्कैनर मशीन के जरिए स्कैन होने पर काउंटर पर बैठे कर्मचारी ने बताया कि अकाउंट में जीरो बैलेंस है।

चालक से 30 रुपए नकद ले लिए जाते हैं। मगर टोल से 5 किमी दूर जाने के बाद दिलीप के मोबाइल नंबर पर फास्टैग अकाउंट से भी 30 रुपए कटने का मैसेज आ जाता है। दिलीप मैसेज चेक करते हैं तो पता चलता है कि उनके अकाउंट से शुल्क कटने के बाद भी 588 रुपए का बैलेंस शेष है, बावजूद टोल प्लाजा कर्मचारी ने शून्य बैलेंस बताकर उनसे मैन्युअल रसीद थमाकर 30 रुपए शुल्क ले लिया।

यहां करें शिकायत, रिफंड होगा
उज्जैन-इंदौर रोड पर टोल प्लाजा संचालित करने वाली कंपनी के जनरल मैनेजर कुलदीप द्विवेदी ने बताया किसी भी तरह की असुविधा पर वाहन मालिक टोल फ्री नंबर 8349998203, 8349998205 पर शिकायत दर्ज करवा सकते हैं।

शिकायत दर्ज करवाकर राशि वापस ले सकते हैं द्विवेदी के अनुसार फास्टैग में 150 से कम बैलेंस होने पर सिस्टम स्वीकार नहीं करता है। कई मामले सामने आए हैं। ऐसी स्थिति में जब तक वाहन अगला टोल क्राॅस न कर लें तब तक खाते को रिचार्ज न करें अन्यथा मैन्युअल भुगतान के बाद ऑनलाइन भी राशि कटने की संभावना है।

खाते में पर्याप्त रुपए के बाद भी शून्य बैलेंस बताकर मैन्युअल व बाद में ऑनलाइन भी राशि कटना तकनीकी त्रुटि से संभव है। संबंधित व्यक्ति टोल फ्री नंबर अथवा टोल प्लाजा पर शिकायत रजिस्टर्ड कर ज्यादा ली गई राशि वापस ले सकते हैं।

खबरें और भी हैं...