पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

गड़बड़ी करने वालों पर होगी कार्रवाई:जिला सहकारी बैंक की घट्टिया ब्रांच में हुए गबन की कल आएगी रिपोर्ट

उज्जैन20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • पूर्व प्रशासक ने कहा- जांच के नाम पर अटका रखा गबन का मामला

जिला सहकारी केंद्रीय बैंक की घट्टिया ब्रांच में हुए गबन की बुधवार को रिपोर्ट आएगी। उसके बाद गड़बड़ी करने वालों पर कार्रवाई होगी। अब तक 75 लाख का गबन सामने आ चुका है और भी राशि के गबन का मामला सामने आ सकता है। गबन का मामला उस समय सामने आया जब किसानों ने उनके बंद खातों में राशि ट्रांसफर कर निकाले जाने की शिकायत अधिकारियों से की। उसके बाद बैंक की राशि का मिलान किया गया, जिसमें गड़बड़ी का पता चलने के बाद जिला सहकारी केंद्रीय बैंक की ओर से कमेटी का गठन किया जाकर जांच शुरू करवाई गई।

जांच पूरी होने के बाद रिपोर्ट जिला सहकारी केंद्रीय बैंक के सीईओ विशेष श्रीवास्तव को पेश की जाएगी। रिपोर्ट के आधार पर गबन करने वाले कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई होगी। थाने में एफआईआर भी दर्ज करवाई जाएगी। सीईओ श्रीवास्तव का कहना है कि अभी कमेटी जांच कर रही है। उम्मीद है कि बुधवार तक रिपोर्ट सम्मिट हो जाएगी, जिसमें जो लोग दोषी पाए जाएंगे, उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

बैंक की घट्टिया ब्रांच में वर्ष-2019 से गबन चल रहा था, जिसमें ऐसे किसान जिनके खाते बंद हो चुके हैं, उन्हें बैंक नियमों के विपरीत जाकर पुनर्जीवित किया गया और उनमें बीजीएल हेड से राशि ट्रांसफर की गई और फिर निकाल ली गई। पिछले तीन साल में करीब एक करोड़ से ज्यादा की राशि की हेराफेरी की गई। बैंक के सूत्र बताते हैं कि बैंक के अधिकारियों व कर्मचारियों ने राशि निकाले जाने के बाद उसका उपयोग स्वयं के लिए उपयोग किया जाता रहा। जिला सहकारी केंद्रीय बैंक के पूर्व प्रशासक अजीत सिंह ठाकुर ने आरोप लगाया है कि जांच में लेटलतीफी की जा रही है। अब तक जांच पूरी होकर रिपोर्ट पेश की जाना थी ताकि आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की जा सके। तीन दिन बीत जाने के बाद भी जांच पूरी नहीं हुई है। ऑनलाइन बैंकिंग कार्यों की जांच में इतना समय क्यों लगाया जा रहा है, इसको लेकर भी सवाल उठ रहे हैं। गबन के आरोपी अधिकारियों और कर्मचारियों के नाम सार्वजनिक कर उन्हें बेनकाब किया जाए व उनके खिलाफ पुलिस थाने में एफआईआर दर्ज करवाई जाए।

खबरें और भी हैं...