18 जुलाई को सावन की पहली सवारी:महाकाल सवारी मार्ग का कलेक्टर ने किया निरीक्षण

उज्जैनएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

विश्व प्रसिद्ध श्री महाकालेश्वर मंदिर के आंगन से 2 सप्ताह बाद श्रावण मास की पहली सवारी 18 जुलाई को धूमधाम से निकलेगी। सवारी को लेकर तैयारियां और सवारी मार्ग की स्थिति देखने के लिए कलेक्टर एसपी ने अधिकारियों के साथ दौरा कर निरीक्षण किया।

श्री महाकालेश्वर मंदिर में श्रावण महीने के दौरान देशभर के श्रद्धालु इस महीने में यहां पहुंचते हैं। श्रावण मास की शुरुआत इस बार 14 जुलाई से हो रही है। वहीं बाबा महाकाल की पहली सवारी सोमवार को 18 अप्रैल को मंदिर से निकलेगी। सावन मास की पहली सवारी निकलने में मात्र 12 दिन का समय बचा है। सोमवार को कलेक्टर आशीष सिंह एसपी सत्येंद्र कुमार शुक्ला मंदिर समिति सदस्य और अधिकारियों ने सबसे पहले महाकाल मंदिर के बाहर रैंप निर्माण कार्य देखा। कलेक्टर सिंह ने कहा रूम पर निर्माण कार्य हर हाल में 1 सप्ताह के भीतर हो जाए। इसके साथ ही असुरक्षित क्षेत्र को टीम की चद्दर से ढका जाए। श्रद्धालुओं को किसी तरह के परेशानी नहीं होना चाहिए। निरीक्षण के दौरान नगर निगम आयुक्त अंशुल गुप्ता एडीएम संतोष टैगोर एसपी इंद्रजीत सीएसपी विनोद मीणा मौजूद थे।

सवारी मार्ग देखा बेरिकेटिंग करने के निर्देश दिए

कलेक्टर और एसपी ने बाबा महाकाल की सवारी मार्ग गुदरी चौराहा, पान दरीबा, रामानुज कोट, रामघाट, ढाबा रोड, गोपाल मंदिर क्षेत्र का निरीक्षण कर बैरीकेटिंग लगाने के निर्देश दिए है। कलेक्टर ने कहा कि सवारी मार्ग में बने कच्चे मकानों पर यह ध्यान रखें कि कोई भी श्रद्धालु सवारी देखने के लिए कच्चे मकान पर नहीं चढे। इसके अलावा सवारी मार्ग के बिजली के खंभों को प्लास्टिक शीट से कवर करने के निर्देश दिए हैं।

संपूर्ण मार्ग की साफ-सफाई पानी का छिड़काव होगा

कलेक्टर ने कहा कि सवारी के दौरान एक दिन पहले ही संपूर्ण मार्ग की साफ-सफाई पानी का छिड़काव करने और मार्ग को क्लियर करने के निर्देश दिए है।भगवान महाकाल की श्रावण मास की पहली सवारी 18 जुलाई को निकलेगी। उसके बाद दूसरी सवारी 25 जुलाई तीसरी सवारी 1 अगस्त चौथी सवारी 8 अगस्त पांचवी सवारी 15 अगस्त और अंतिम शाही सवारी 22 अगस्त को मंदिर प्रांगण से निकलेगी।