• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Ujjain
  • Schools Have Completed 17 Days Of Education And Children Who Got Admission In RTE Have Not Yet Got Admission.

छात्रों को दाखिले में परेशानी:स्कूलों में 17 दिन की पढ़ाई हो चुकी और आरटीई में प्रवेश पाने वाले बच्चों को अब तक एडमिशन ही नहीं मिले

उज्जैनएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
आरटीई के तहत 23 जुलाई से बच्चों को स्कूलों में मिल पाएगा प्रवेश। - Dainik Bhaskar
आरटीई के तहत 23 जुलाई से बच्चों को स्कूलों में मिल पाएगा प्रवेश।

नए शैक्षणिक सत्र में सरकारी व प्राइवेट स्कूलों में 17 से 19 दिन की पढ़ाई पूरी हो चुकी है और शिक्षा के अधिकार अधिनियम (आरटीई) के तहत प्राइवेट स्कूलों में प्रवेश पाने वाले बच्चों को अब तक एडमिशन ही नहीं मिल पाया है। ऐसे में बच्चे पढ़ाई में पिछड़ रहे हैं। उन्हें 23 जुलाई से स्कूलों में प्रवेश मिल पाएगा यानी सरकारी व प्राइवेट स्कूलों की पढ़ाई से ये बच्चे 35 से 37 दिन पिछड़ जाएंगे।

खुद शिक्षा विभाग ने माना है कि त्रि-स्तरीय पंचायत चुनाव व नगरीय निकाय चुनाव में सरकारी कर्मचारियों की डयूटी लगी होने की वजह से प्रवेश की प्रक्रिया देरी से शुरू हो पाई है। इसी वजह से शिक्षा विभाग ने आरटीई के तहत नए शैक्षणिक सत्र 2022-23 में प्राइवेट स्कूलों में पहली कक्षा में मुफ्त प्रवेश के लिए ऑनलाइन आवेदन की तारीख 30 जून से बढ़ाकर 5 जुलाई करना पड़ी है।

इसमें बच्चे स्कूलों में प्रवेश के लिए आवेदन कर सकते हैं और त्रुटि में सुधार करवा सकेंगे। साथ ही 9 जुलाई तक सत्यापन करवा सकेंगे। पात्रतानुसार निजी स्कूलों में प्रवेश के लिए रेंडम पद्धति से आवेदनों का चयन ऑनलाइन लाटरी के माध्यम से 14 जुलाई को किया जाएगा।

स्कूल का आवंटन होने के बाद बच्चे 23 जुलाई से प्राइवेट स्कूलों में पढ़ाई के लिए जा सकेंगे यानी प्राइवेट और सरकारी स्कूलों की पढ़ाई शुरू होने के करीब 37 दिन बाद आरटीई के तहत प्रवेश पाने वाले बच्चों की पढ़ाई शुरू हो पाएगी। ऐसे में आरटीई के तहत शिक्षा पाने वाले सैकड़ाें बच्चे उन दूसरे बच्चों से पढ़ाई में पिछड़ जाएंगे, जिनकी जून से ही क्लास शुरू हो चुकी है और उनका 37 दिन का काेर्स पूरा हो चुका होगा।

एडमिशन की लेटलतीफी का खामियाजा आरटीई के तहत प्राइवेट स्कूलों में प्रवेश पाने वाले बच्चों को भुगतना पड़ेगा। आरटीई के तहत यदि किसी वजह से बच्चे का एडमिशन नहीं हो पाया तो शुल्क चुकाकर प्राइवेट या सरकारी स्कूलों में भी एडमिशन से वंचित रहना पड़ सकता है, क्योंकि उन्हें एडमिशन मिलने में मुश्किल होगी।

प्राइवेट स्कूलों में 15 जून से शुरू हो चुकी पढ़ाई

नए शैक्षणिक सत्र में प्राइवेट स्कूलों का संचालन 15 जून से शुरू हो चुका है और यहां पर पढ़ाई शुरू हो चुकी है। प्राइवेट स्कूलों में अब तक करीब 19 दिन का कोर्स हो चुका है।

सरकारी स्कूलों में दो दिन बाद सत्र शुरू हो पाया

चुनाव के चलते सरकारी स्कूलों में भी दो दिन बाद नया शैक्षणिक सत्र शुरू हो पाया। यहां पर 17 जून को प्रवेशोत्सव मनाया जाकर बच्चों को तिलक लगाकर स्कूलों में प्रवेश दिया गया और पुस्तकों का वितरण किया गया।

ऑनलाइन लाॅटरी से 14 तक प्रवेश के लिए चयन

​​​​​आरटीई के तहत प्रवेश के लिए ऑनलाइन आवेदन की तारीख 5 जुलाई की है। चयन ऑनलाइन लाॅटरी से 14 जुलाई को किया जाएगा। स्कूल का आवंटन होने के बाद बच्चाें काे 23 जुलाई से प्राइवेट स्कूलों में प्रवेश मिल सकेगा।गिरीश तिवारी, एडीपीसी, आरएमएसए

खबरें और भी हैं...