पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

काम शुरू:उज्जैन-उन्हेल मार्ग पर रामगढ़ और सोडंग के अंधे मोड़ को सीधा करने का काम शुरू किया

उज्जैन8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • एमपीआरडीसी के संभागीय प्रबंधक का दावा- चार महीने में टर्न सीधे कर लिए जाएंगे

उज्जैन-उन्हेल मार्ग के सोडंग व रामगढ़ यानी मोजमखेड़ी फंटे के अंधे मोड़ को सीधा करने का काम मंगलवार से शुरू हो गया। एमपीआरडीसी के संभागीय प्रबंधक एसके मनवानी ने भरोसा दिलाया कि चार महीने में दोनों टर्न सीधे कर लिए जाएंगे। मंगलवार को मोजमखेड़ी में पटवारी सुभाष शर्मा और सोडंग में पटवारी मेघा जोशी ने किसानों की अधिगृहीत की गई जमीन का सीमांकन कर कब्जा एमपीआरडीसी के अधिकारियों को सौंपा। इसके बाद यहां काम शुरू हो गया।

एमपीआरडीसी के एजीएम दीपक शर्मा ने बताया दिनभर में एलाटमेंट के आधार पर जमीन की खुदाई की गई हैं। टर्न को सीधा करने का काम उज्जैन की ही आकाश एंथ्रा एजेंसी कर रही हैं। गौरतलब है कि 28-29 जनवरी 19 की रात को रामगढ़ फंटे के पास मारुति वैन और टाटा हैक्सा कार की टक्कर में 12 लोगों की मौत हुई थी।

इस हादसे के बाद इस मोड़ को और पास के ही सोडंग के अंधे मोड़ को भी सीधा करने की मांग की थी। जिले के तत्कालीन प्रभारी मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने दोनों मार्ग के मोड़ को सीधा करने के लिए एक करोड़ रुपए स्वीकृत किए थे। हालांकि इन दोनों टर्न को सीधा करने में 2.7 करोड़ का खर्च आएगा।

पेड़ को बचाकर होगा काम, टर्न सीधा होने पर लगाएंगे पौधे

पहले इन दोनों टर्न को सीधा करने में एक अड़चन थी। यहां 2015 में वन विभाग द्वारा लगाए गए पौधे जो कि बड़े हाे रहे हैं बने हुए थे। तय हुआ था कि करीब तीन हजार ऐसे बढ़ते पेड़ों को ट्रांसप्लांट किया जाए। लेकिन अब ये तय हुआ है कि अधिकांश पेड़ों को बचाते हुए कार्य करवाया जाएगा। प्रयास किए जाएंगे कि पेड़ों का कम से कम नुकसान हो। एमपीआरडीसी के संभागीय प्रबंधक मनवानी ने कहा कि टर्न सीधे करने के बाद दोनों तरफ किनारों पर पौधे रौपे जाएंगे।

खबरें और भी हैं...