• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Ujjain
  • Strictness Started In Ujjain, Will Create A Containment Zone, Challan Will Be Deducted If You Do Not Come Out With A Mask

उज्जैन में फिर बनेंगे कंटेनमेंट जोन:घर से बिना मास्क निकलने पर कटेगा चालान, फीवर क्लीनिक शुरू होंगे

उज्जैन6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

उज्जैन में कोरोना की तीसरी लहर से निपटने की तैयारी के लिए अधिकारियों ने मैदान संभाल लिया है। मंगलवार को उज्जैन में 22 कोविड पेशेंट आने और इंदौर में लगातार तीन सौ से अधिक पेशेंट आने के कारण अफसरों को एक्शन मोड में आना पड़ा। बुधवार को इस संबंध में बैठक कर रणनीति तैयार की गई।

बैठक में कोरोना की तीसरी लहर से लड़ने के लिए तीन स्तरों पर फैसले लिए गए। पहला पॉजिटिव मरीजों के लिए। दूसरा अस्पतालों और तीसरा आम लोगों के लिए। कलेक्टर आशीष सिंह ने कहा कि आम लोगों को हर मोर्चे पर लड़ने के लिए तैयार रहना चाहिए। लोग डरने के बजाय मास्क लगाकर घर से निकलें। कोविड गाइडलाइन का पालन करें और संदेह होने पर तुरंत डॉक्टर से परामर्श कर कोविड टेस्ट कराएं।

बुधवार को कलेक्टर आशीषसिंह ने नगर निगम कमिश्नर, एसपी सहित अन्य पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों और निजी अस्पताल सहित सरकारी व निजी अस्पतालों के जिम्मेदारों के साथ बृहस्पति भवन में बैठक की।

निजी अस्पतालों में 10 फीसदी बेड रिजर्व होंगे

कलेक्टर आशीष सिंह ने निजी अस्पतालों के संचालकों को निर्देश दिये हैं कि वे अनिवार्य रूप से अपने-अपने अस्पताल में कम से कम 10 प्रतिशत बेड की व्यवस्था की जाना सुनिश्चित करें। निजी अस्पतालों के संचालक पूर्व में जारी दरें निर्धारित की गई थी, वही दरें लागू रहेगी।

अस्पतालों में पर्याप्त दवाएं रखें

निजी व शासकीय अस्पताल प्रबंधकों को निर्देश दिये कि पर्याप्त मात्रा में दवाई का प्रबंध किया जाये। होम आइसोलेशन में रहने वाले को दवाई किट दी जाए साथ ही फोन पर चर्चा की जाए। बगैर मास्क पहनने वालों पर अनिवार्य रूप से चालानी कार्यवाही की जाये।

बढ़ते संक्रमण पर सख्त फैसले

- अस्पतालों में फीवर क्लिनिक शुरू होंगे। होम बैरेकेटिंग और कंटेनमेँट जोन बनेंगे।

- होम आइसोलेशन के सम्बन्ध में धारा-144 का पालन सख्ती से कराया जाएगा।

- जो व्यक्ति मरीज की जांच का सेम्पल लेकर बाहर इन्दौर रिपोर्ट के लिए भेजते हैं, ऐसे व्यक्तियों पर निगरानी रखी जाएगी।