पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Ujjain
  • Students Will Be Able To Do Courses In Herbal And Organic Farming Products, Vedic Mathematics And Embroidery And Tailoring

आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश:हर्बल एंड ऑर्गेनिक फार्मिंग प्रोडक्ट्स, वैदिक मैथमेटिक्स और एम्ब्रॉयडरी एंड टेलरिंग का कोर्स कर सकेंगे विद्यार्थी

उज्जैन23 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • 107 सरकारी कॉलेज में पढ़ाए जाएंगे रोजगारोन्मुखी कोर्स, विद्यार्थियों को मिलेगी कौशल में मदद

आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश अभियान के तहत आगामी सत्र से 107 सरकारी कॉलेज में 177 डिप्लोमा और 282 सर्टिफिकेट पाठ्यक्रम शुरू किए जाएंगेे। इन पाठ्यक्रमों के जरिए मध्यप्रदेश में उच्च शिक्षा को और अधिक रोजगारोन्मुखी बनाया जाएगा। उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. मोहन यादव ने बताया विषय विशेषज्ञों से तैयार करवाए इन पाठ्यक्रमों से विद्यार्थियों के कौशल विकास में मदद मिलेगी।

स्थानीय उद्योगों की आवश्यकता और विद्यार्थियों को स्वरोजगार के लिए प्रेरित किया जा सकेगा। विद्यार्थियों को उद्योगों में इंटर्नशिप और अप्रेंटिसशिप की व्यवस्था भी की जाएगी। विद्यार्थी महाविद्यालयों में अपनी डिग्री करते हुए सर्टिफिकेट पाठ्यक्रम कर सकते हैं। इनकी अवधि छह माह होगी। डिप्लोमा कोर्स एक साल की अवधि के होंगे और इन्हें अलग से करना होगा।

पहली बार इन विषयों में शुरू होंगे सर्टिफिकेट व डिप्लोमा पाठ्यक्रम
15 सर्टिफिकेट और 15 डिप्लोमा पाठ्यक्रम ऐसे हैं जो मध्यप्रदेश में पहली बार शुरू किए जाएंगे। इनमें हर्बल एंड ऑर्गेनिक फार्मिंग प्रोडक्ट्स, कल्टीवेशन प्रोसेसिंग एंड मार्केटिंग ऑफ मेडिसिनल प्लांट, जीएसटी एंड इनकम टैक्स, लेबोरेटरी मैनेजमेंट, वर्मी कंपोस्टिंग एंड हॉर्टिकल्चर, योग ट्रेनिंग, न्यूट्रीशन एंड चाइल्ड केयर, सिक्योरिटी सर्विस, जियो इनफॉर्मेटिक्स, टैक्सटाइल टेक्नोलॉजी, एनवायरमेंट एसेसमेंट, एनजीओ मैनेजमेंट, वैदिक मैथमेटिक्स, इंडस्ट्रियल सेफ्टी रूल्स, एम्ब्रॉयडरी एंड टेलरिंग विषयों में प्रमाणपत्र पाठ्यक्रम शुरू किए जाएंगे। इन्हें विद्यार्थी अपनी रूचि अनुसार चुन सकेंगे।
यह होंगे डिप्लोमा पाठ्यक्रम, चॉइस बेस्ड क्रेडिट सिस्टम भी लागू करने की तैयारी
डिजास्टर मैनेजमेंट, साइक्रोमेट्रिक टेस्टिंग इन काउंसलिंग एंड क्लिनिकल साइकोलॉजी, ह्यूमन राइट्स एंड कॉन्स्टिट्यूशन, आर्कियोलोजिकल साइंस, डिजाइनर फ्लावर पॉट मेकिंग एंड वुड कार्विंग, गाइडेंस एंड काउंसलिंग, इंटीरियर डेकोरेशन, कम्युनिकेशन एंड इनफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी स्किल्स, नर्सरी एंड फ्लोरीकल्चर, क्रिएटिव स्किल्स, सोइल टेस्टिंग, इंडस्ट्रियल वर्क एंड मैनेजमेंट सिस्टम, हॉस्पिटेलिटी, टूरिज्म एंड होटल मैनेजमेंट, मीडिया एस्थेटिक्स, कम्प्यूटर हार्डवेयर एंड नेटवर्किंग में डिप्लोमा पाठ्यक्रम शुरू किए जाएंगे। उच्च शिक्षा में राष्ट्रीय शिक्षा नीति के परिप्रेक्ष्य में चॉइस बेस्ड क्रेडिट सिस्टम लागू करने की तैयारी चल रही है।

खबरें और भी हैं...