पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Ujjain
  • Swimming Pool Trainer Referred Ujjain To Dewas Without Oxygen And Ventilator In Critical Condition, Dies

गंभीर संक्रमित मरीज:स्वीमिंग पूल के ट्रेनर को गंभीर हालत में ही बगैर ऑक्सीजन और वेंटीलेटर के देवास से उज्जैन रैफर किया, मौत

उज्जैन8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

गंभीर संक्रमित मरीज को बगैर वेंटीलेटर के देवास के अमलतास हॉस्पिटल से उज्जैन रैफर करने का मामला सामने आया है। मरीज की रास्ते में ही हालत बिगड़ गई थी और उज्जैन आने के बाद 15 से 20 मिनट में ही मौत हो गई। मरीज नगर निगम द्वारा संचालित स्वीमिंग पूल में ट्रेनर थे। परिवार के लोगों ने हॉस्पिटल प्रबंधन पर बगैर ऑक्सीजन और वेंटीलेटर के रैफर करने का आरोप लगाया है। भेरूलाल पिता रामा जी उम्र 60 साल निवासी जयसिंहपुरा नगर निगम के कर्मचारी थे। उनकी तबीयत खराब होने पर 1 अक्टूबर को माधवनगर हॉस्पिटल में भर्ती किया गया था। यहां से उन्हें देवास के अमलतास हॉस्पिटल में रैफर किया था। दूसरे दिन 2 अक्टूबर को मरीज की रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई थी। उसके बाद दूसरी रिपोर्ट भी 8 तारीख को पॉजिटिव आई थी। मरीज की हालत गंभीर बनी हुई थी। इसके बाद भी हॉस्पिटल प्रबंधन ने मरीज को एंबुलेंस से आरडी गार्डी मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल रैफर कर दिया। रास्ते में मरीज की हालत बिगड़ती गई। यहां पर मरीज को तत्काल वेंटिलेटर लिया गया लेकिन उनकी जान को नहीं बचाया सका। शेष |पेज 8 पर

स्वीमिंग पूल के ट्रेनर को गंभीर हालत में ही बगैर वेंटीलेटर के देवास से उज्जैन रैफर किया, मौत... मरीज के लिए खुद सीएमएचओ डॉ महावीर खंडेलवाल ने अमलतास हॉस्पिटल के प्रबंधन से चर्चा की थी उसके बाद भी इस तरह की लापरवाही सामने आई है। मृतक के पुत्र सतीश चौधरी ने बताया कि उनके पिता को गंभीर हालत में ही देवास की अमलतास हॉस्पिटल से आरडी गार्डी मेडिकल कॉलेज रैफर किया गया था। एंबुलेंस में डॉक्टर तक नहीं था और वेंटिलेटर भी नहीं था। रास्ते में उनके पिता की हालत गंभीर हो गई थी। उन्होंने हॉस्पिटल प्रबंधन पर लापरवाही का आरोप लगाया है। इधर आरडी गार्डी मेडिकल कॉलेज प्रबंधन ने मरीज की मौत की पुष्टि की है।

खबरें और भी हैं...