पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Ujjain
  • The Court Sentencing Said That Due To Such A Corrupt Mentality, Girls Are Not Safe In The Locality.

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

दुष्कर्मी को 20 साल की जेल:कोर्ट ने कहा- ऐसी दूषित मानसिकता के कारण बच्चियां सुरक्षित नहीं रहती, इससे कम सजा नहीं दी जा सकती

उज्जैनएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
दुष्कर्म के आरोपी को 20 साल की कैद। - Dainik Bhaskar
दुष्कर्म के आरोपी को 20 साल की कैद।
  • 11 साल की बच्ची के साथ किया था दुष्कर्म, 18 माह में आया फैसला

18 माह पहले पांचवीं की छात्रा के साथ हुए दुष्कर्म मामले में अदालत ने शुक्रवार को फैसला सुनाया। कोर्ट ने कहा कि ऐसी दूषित मानसिकता के कारण बच्चियां सुरक्षित नहीं रहतीं। 11 साल की बच्ची के साथ दुष्कर्म आरोपी की घृणित मानसिकता को प्रकट करता है, इसलिए 20 साल की जेल से कम की सजा नहीं दी जा सकती। कोर्ट ने आरोपी पर पांच हजार रुपए का जुर्माना भी लगाया है। अदालत ने इस राशि को पीड़ित को दिए जाने का आदेश दिया है।

यह है मामला

चिमनगंजमंडी थाना क्षेत्र निवासी पांचवीं में पढ़ने वाली 11 साल की बालिका 22 जुलाई 2019 की रात घर के पास में ही दुकान पर सामान खरीदने गई थी। जब वह लौट रही थी, तो वहीं खड़े राकेश उर्फ पिंटू ने उसे बुलाया। जब बच्ची ने कहा कि घर जाने के लिए देर हो रही है, तो उसने जबरन हाथ पकड़ लिया और घसीटकर अपने घर ले गया। वहां एक कमरे में बंद कर दिया। घर में उस समय कोई नहीं था। इसके बाद राकेश ने उसके साथ दुष्कर्म किया। आरोपी के चंगुल से छूटते ही बालिका घर पहुंची और परिजनों को पूरी बात बताई।

इधर, बालिका जब घर नहीं पहुंची, तो परिजन परेशान होकर उसे खोज रहे थे। शिकायत पर चिमनगंज मंडी पुलिस ने आरोपी के खिलाफ पॉक्सो एक्ट और आईपीसी की धारा 376 (एबी) के तहत केस दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। अभियोजन पक्ष की दलीलों को सुनने के बाद विशेष न्यायाधीश (पॉक्सो एक्ट) डॉ. आरती शुक्ला पांडेय ने आरोपी राकेश को 20 साल की सजा और पांच हजार रुपए के जुर्माने का फैसला सुनाया।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज आर्थिक योजनाओं को फलीभूत करने का उचित समय है। पूरे आत्मविश्वास के साथ अपनी क्षमता अनुसार काम करें। भूमि संबंधी खरीद-फरोख्त का काम संपन्न हो सकता है। विद्यार्थियों की करियर संबंधी किसी समस्...

और पढ़ें