पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Ujjain
  • The Debt ridden Businessman Consumed Poison, The Land Was Sold In Debt Itself, The Corpse Found In The Field In The Morning

ख़ुदकुशी :कर्ज में डूबे गल्ला व्यापारी ने जहर खाया, कर्ज में ही जमीन तक बिक गई थी, सुबह खेत में मिली लाश

उज्जैन15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • रात में छोटे भाई को फोनकर कहा था मैंने जहर खा लिया, अब घर नहीं लौटूंगा
Advertisement
Advertisement

शहर के गल्ला व्यापारी ने लाखों रुपए के कर्ज के चलते परेशान होकर सोमवार रात जहर खा लिया। रात में छोटे भाई को फोन लगाकर बताया था कि अब मैं घर नहीं आऊंगा। मैंने जहर खा लिया है। यह पता चलते ही परिजन पूरी रात खोजबीन में लगे रहे। मंगलवार सुबह हासमपुरा क्षेत्र में खेत पर व्यापारी की लाश मिली।
चंद्रावतीगंज निवासी शैलेष देसाई 45 साल सोमवार रात को बाइक से निकले थे जिसके बाद वह घर नहीं लौटे। रात 11.30 बजे शैलेष ने छोटे भाई नितिकेश को फोन लगाकर कहा कि तेरी भाभी का ख्याल रखना, मैं आत्महत्या कर रहा हूं। रात में ही परिजनों ने नीलगंगा पुलिस को सूचना दे दी व शैलेष की तलाश में जुट गए। सुबह 6.30 बजे हासमपुरा में अंतरसिंह के खेत पर लाश मिलने की सूचना के बाद नीलगंगा पुलिस के साथ एफएसएल अधिकारी अरविंद नायक मौके पर पहुंचे। नायक ने बताया कि घटना स्थल से कुछ दूरी पर मृतक की बाइक मिली जिस पर टंगे बैग में सैनेटाइजर की बोतल व जहर भी मिला जिसे जब्त कराया गया। 
40 लाख रुपए कर्ज होने से परेशान था व्यापारी
व्यापारी शैलेष के परिचितों ने बताया कि व्यापार में नुकसान के चलते शैलेष दो साल से काफी परेशान था और 30 से 40 लाख रुपए का कर्ज हो गया था। कर्जदारों का ब्याज चुकाने में ही उसकी 110 बीघा जमीन बिक गई। अभी भी कई लोगों को पैसा देना था जिसके चलते वह काफी परेशान था। लॉकडाउन के बाद कर्जा देने वाले ज्यादा तंग करने लगे थे। नीलगंगा पुलिस ने बताया कि परिजनों के बयान लेकर पता किया जाएगा कितना कर्ज था और कौन लोग परेशान कर रहे थे। मृतक के मोबाइल की कॉल डिटेल भी चैक कराई जाएगी।

Advertisement
0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव - आज का दिन पारिवारिक और आर्थिक दोनों दृष्टि से शुभ फलदायी है। व्यक्तिगत कार्यों में सफलता मिलने से मानसिक शांति का अनुभव करेंगे। कठिन से कठिन कार्य को आप अपने दृढ़ निश्चय से पूरा करने की क्षमत...

और पढ़ें

Advertisement