मिलावटी डीजल पर प्रशासन का प्रहार:मिलावटी बायोडीजल बनाने वाली फैक्ट्री को जमींदोज, 8 अगस्त को की थी कार्रवाई

उज्जैन6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

मिलावटी खाने के बाद मिलावटी डीजल तैयार करने वाले युवक पर उज्जैन के प्रशासन ने एक और कार्रवाई की। नगर निगम और पुलिस के साथ शंकर पुर में नकली बायोडीजल बनाने वाली फैक्ट्री के स्ट्रक्चर को ढहा दिया। यहां खाद्य एवं औषधी प्रशासन विभाग ने अगस्त माह में कार्रवाई कर नकली व मिलावटी बायोडीजल जब्त किया था। नकली बायो डीजल बनाने वाले शिवराजसिंह गुर्जर के तीन अड्‌डों पर पुलिस ने कार्रवाई की। इनमें मक्सी रोड, श्रीनगर कॉलोनी और शंकर पुर में फैक्ट्री लगाई थी।

कलेक्टर आशीष सिंह के निर्देश पर छापामार कार्रवाई के बाद फैक्ट्री को जमींदोज करने की कार्रवाई की गई। शिवराजसिंह गुर्जर पिता मोहनसिंह गुर्जर निवासी ऋषि नगर पानी की टंकी के पास उज्जैन तथा रामानारायण पिता गणपतजी भचान निवासी ग्राम जायसवाल कालोनी तहसील नलखेड़ा जिला आगर-मालवा द्वारा फैक्ट्री कारखाने का निर्माण कर मिलावटी/नकली बायोडीजल विक्रय बनाते हुए पकड़ा था।

कोर्ट ने जेल भेज दिया था -
फेक्ट्री मालिक शिवराजसिंह गुर्जर निवासी उज्जैन तथा ऑयल दुकान खोलकर नकली बायोडीजल विक्रय करने वाला दुकान मालिक कृष्णा हारोड़ निवासी उज्जैन के खिलाफ भी आवश्यक वस्तु अधिनियम 1955 की धारा 3/7 के तहत मनगंज मण्डी थाने में एफआईआर दर्ज किया गया था। सभी आरोपियों को कोर्ट ने चोर बाजारी अधिनियम 1980 के तहत जेल भेज दिया था।

ये सामान किया था बरामद -
गोदाम कारखाने से 50 किलो की कास्टिक सोड़ा की बोरी, 40 लीटर लाइट पैराफिन, एक भटटी व रोटरी घूमने वाले भट्टी। 2 प्लास्टिक ड्रम, 5 लोहे के ड्रम, 3 प्लास्टिक पानी की टंकी, 1 व्ही केप, गैस नली जब्त की गई थी।