पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Ujjain
  • The Family Members Got Angry After Seeing The Skin Munching Near The Heel Of The Woman's Body

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

लापरवाही:उज्जैन में महिला के शव को चूहों ने कुतरा; अस्पताल प्रबंधन की सफाई- हमारे पास शव रखने का इंतजाम नहीं है, पुलिस को बता दिया था

5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मृतका पैर में चमड़ी के कुतरने का निशान - Dainik Bhaskar
मृतका पैर में चमड़ी के कुतरने का निशान
  • परिजनों का आरोप- अस्पताल प्रबंधन की लापरवाही के कारण चूहे ने कुतरे पैर

उज्जैन के नागदा निवासी ऊषा पति लखन बामनिया (25) ने रविवार को जहरीला पदार्थ खाकर आत्महत्या कर लिया था। उसे इलाज के लिए उज्जैन के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। सोमवार को मृतका के दाहिने पैर की एड़ी के पास चमड़ी कुतरी देख परिजनों ने हंगामा खड़ा कर दिया। उनका आरोप था कि अस्पताल में चूहे ने चमड़ी कुतर डाली। इसमें अस्पताल प्रबंधन की साफतौर पर लापरवाही है। उधर, अस्पताल प्रबंधन ने बताया कि उनके अस्पताल में शव रखने की व्यवस्था नहीं है। महिला की मौत के बाद माधवनगर थाने को सूचना दे दी गई थी। पुलिस ने जिला अस्पताल को शव को मर्च्युरी में रखने के लिए पत्र भी लिखा था। उधर, मृतका के रिश्तेदार मोहन सिंह ने बताया कि शव पूरी रात निजी अस्पताल में रहा। सोमवार को पोस्टमार्टम के लिए निजी अस्पताल की एंबुलेंस से ही जिला अस्पताल लाया गया। इस मामले में पोस्टमार्टम कराने गई सब इंस्पेक्टर मालती गोयल ने बताया कि एड़ी के पास चमड़ी के कुतरने का निशान था। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद ही पता चलेगा कि घाव कैसे हुआ था।

कई जगह हो चुकी हैं ऐसी लापरवाही

शव को लापरवाह तरीके से रखने के मामले में मध्यप्रदेश में इंदौर, ग्वालियर, होशंगाबाद सहित कई जिलों में आ चुके हैं। ताजा मामले ने व्यवस्था में सुधार नहीं होने के तथ्य को भी उजागर कर दिया है। परिजन के आरोप और अस्पताल प्रबंधन की सफाई के बाद अब पुलिस पर सवाल खड़े हो रहे हैं कि कम्युनिकेशन गेप कहां रहा।

खबरें और भी हैं...

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव - आज की स्थिति कुछ अनुकूल रहेगी। संतान से संबंधित कोई शुभ सूचना मिलने से मन प्रसन्न रहेगा। धार्मिक गतिविधियों में समय व्यतीत करने से मानसिक शांति भी बनी रहेगी। नेगेटिव- धन संबंधी किसी भी प्रक...

और पढ़ें