• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Ujjain
  • The Girl Was Trapped In A 130 Feet Deep Borewell, The Villagers Took Out By Putting A String Of Iron In The Rope, The Uncle Breathed Through The Mouth ... But Could Not Save

घर के आंगन में थम गई बिटिया की सांसें:130 फीट गहरे बोरवेल में फंसी थी बच्ची, रस्सी में लोहे की कड़ी डाल गांववालों ने निकाला, चाचा ने मुंह से सांस दी... लेकिन नहीं बचा पाए

उज्जैन2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
चार साल की मासूम राधिका। - Dainik Bhaskar
चार साल की मासूम राधिका।
  • बहन के साथ खेल रही थी 4 साल की राधिका, पानी में तैरती गेंद लेने गई और बोरवेल में जा गिरी
  • भैरवगढ़ के जोगीखेड़ी की घटना

भैरवगढ़ थाना क्षेत्र अंतर्गत जोगीखेड़ी गांव में शनिवार को घर के बाहर खेलते हुए एक बालिका 130 फीट गहरे बोरवेल में जा गिरी। परिजनों और गांव के लोगों ने उसे बाहर निकाला। अस्पताल ले गए। वहां डॉक्टर ने जांच के बाद उसे मृत घोषित कर दिया। पोस्टमार्टम के बाद शव परिजन को सौंप दिया। परिजन ने उसका अंतिम संस्कार कर दिया।

गांव वालों का कहना है कि घर के बाहर खुले बोरवेल के पास 4 साल की राधिका पिता पदमसिंह आंजना अपनी बड़ी बहन माही के साथ गेंद खेल रही थी। इसी दौरान उसकी गेंद बोरवेल में जा गिरी। उसके पीछे राधिका भी बोरवेल के पास चली गई। उसे ऊपर से गेंद पानी में तैरती हुई दिखाई दे रही थी। उसे निकालने की कोशिश में वह बोरवेल में जा गिरी। पास में ही उसके पिता के छोटे भाई गोविंद आंजना भैंस बांध रहे थे। उन्होंने जोर की आवाज सुन आसपास के लोगों को मदद के लिए बुलाया। कुछ ही देर में बड़ी संख्या में लोग जमा हो गए।

बोरवेल में भरा हुआ था पानी, उसी से घुटा दम, बाहर निकालने के बाद परिजन करते रहे बचाने की मशक्कत
बच्ची जब बोरवेल में गिरी, वह पानी से पूरा भरा हुआ था। उसेे बचाने के लिए परिजन ने काफी मशक्कत की। राधिका को बाहर निकालते ही सबसे पहले उसके पेट से पानी निकाला गया। पिता के छोटे भाई गोविंद ने उसे मुंह से ऑक्सीजन दी ताकि उसे बचाया जा सके। कुछ देर प्रयास करने पर भी जब राधिका के शरीर में ज्यादा हलचल नहीं हुई तो परिजन उसे लेकर एक निजी अस्पताल पहुंचे। वहां डॉक्टर्स ने जांच के बाद उसे जिला अस्पताल भेज दिया। जिला अस्पताल में डॉक्टर्स परीक्षण के बाद उसे मृत घोषित कर दिया। संभवत: पानी के कारण ही बच्ची का दम घुटा और उसकी मौत हो गई।

30 फीट पर फंसी थी बच्ची, हेकड़ी डाली तो बालिका की टी-शर्ट फंस गई, 20 मिनट की मशक्कत के बाद निकाला
पदम सिंह पटेल का खेत व घर एक ही जगह पर है। उन्होंने चार महीने पहले घर के बाहर बोरवेल खनन करवाया था। परिजनों का कहना है कि बोरवेल ढका हुआ था। शनिवार दोपहर 2.30 बजे राधिका उसमें गिर गई। उसे निकालने में हर्षद इंगले, राधेश्याम झिंगर और अंतर झिंगर ने मदद की। उनका कहना है कि राधिका 30 फीट पर जाकर फंस गई थी। ऐसे में रस्सी के एक छोर पर सरिए की हेकड़ी बनाई। उसे बोरवेल में डाला। 20 मिनट की मशक्कत के बाद उसकी टी-शर्ट हेकड़ी में अटक गई। उसके सहारे धीरे-धीरे राधिका को बाहर निकाला।

खबरें और भी हैं...