पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

13 से 17 तक प्राण प्रतिष्ठा:बारह ज्योतिर्लिंग मंदिर का लोकार्पण धार्मिक अनुष्ठानों के साथ ही होगा

उज्जैन9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • प्रवचन, कथा भागवत के सार्वजनिक कार्यक्रम स्थगित

जयसिंहपुरा रोड पर स्थित अखंडाश्रम परिसर (चारधाम मंदिर) में बारह ज्योतिर्लिंग मंदिर का लोकार्पण 13 से 17 मई तक धार्मिक अनुष्ठानों के बीच किया जाएगा। लॉकडाउन के चलते इस मौके पर होने वाले प्रवचन व कथा भागवत के सार्वजनिक कार्यक्रम स्थगित कर दिए हैं। पूरा समारोह प्रतीकात्मक होगा। अखंड आश्रम चारधाम मंदिर परिसर में महामंडलेश्वर स्वामी शांतिस्वरूपानंद गिरि के मार्गदर्शन में नया बारह ज्योतिर्लिंग मंदिर बन कर तैयार हो गया है। इस मंदिर में सभी 12 ज्योतिर्लिंग की प्रतिकृति प्रतिमाएं स्थापित की जाना है।

प्रतिमाओं की प्राण प्रतिष्ठा और लोकार्पण समारोह में देशभर के ख्यातनाम साधु-संतों को आमंत्रित किया गया है। इनमें यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ, योग गुरु बाबा रामदेव, साध्वी ऋतंभरा भी हैं। इस मौके पर प्रमुख संतों के प्रवचन और कथा भागवत का आयोजन भी किया जाना प्रस्तावित था। ताकि देश के प्रमुख साधु-संतों के सान्निध्य का लाभ शहर के नागरिकों को प्राप्त हो।

आयोजन समिति के अध्यक्ष अशोक प्रजापत ने बताया कि कोरोना संक्रमण के चलते लागू लॉकडाउन के कारण कार्यक्रम को संशोधित किया गया है। सभी सार्वजनिक कार्यक्रम स्थगित किए हैं। तय समय सीमा में मंदिर परिसर में प्राण प्रतिष्ठा के धार्मिक अनुष्ठान किए जाएंगे। ब्राह्मणों द्वारा वैदिक पद्धति से प्रतिमाओं की प्राण प्रतिष्ठा की जाएगी। इस प्रक्रिया में केवल प्रतिमाएं दान करने वाले यजमान ही शामिल होंगे। अनुमति प्राप्त के अलावा किसी अन्य का प्रवेश नहीं होगा।

यज्ञशाला तैयार, बड़े यज्ञ की जगह अब कोरोना मुक्ति के लिए हवन

प्राण प्रतिष्ठा समारोह में यज्ञ भी होगा। इसके लिए यज्ञशाला तैयार हो गई है। 12 को प्रतिमाओं की शोभायात्रा रखी गई थी, जिसे निरस्त कर दिया है। अब प्रतिमाओं को मंदिर में लगाने का काम शुरू हो गया है। 13 से प्राण प्रतिष्ठा की विधियां और हवन आदि शुरू हो जाएंगे। 17 को पूर्णाहुति होगी। स्वामीजी के अनुसार अनुष्ठान के दौरान कोरोना से मुक्ति के लिए हवन किया जाएगा। यजमानों को पास में ही स्थित मंदिर के अतिथिगृह में ठहराया जाएगा। उन्हें केवल अतिथि गृह से अनुष्ठान स्थल पर ही आने-जाने की अनुमति होगी। अनुष्ठान में शामिल होने वाले सभी लोगों स्वास्थ्य परीक्षण कराया जाएगा, इसके बाद ही उन्हें अनुमति देंगे। बाहर से आने वाले यजमानों को कहा गया है कि वे अपनी कोरोना निगेटिव रिपोर्ट लेकर ही आएं। परिसर को रोज सैनिटाइज भी किया जाएगा।

एक ही मंदिर में दर्शनार्थियों को होंगे बारह ज्योतिर्लिंग के दर्शन
स्वामीजी का कहना है कि जिस तरह परिसर में चारधाम मंदिर बनाया गया है, इससे देशभर से उज्जैन आने वाले श्रद्धालुओं को चारधाम के दर्शन हो जाते हैं, उसी तरह अब यहां बारह ज्योतिर्लिंग के दर्शन भी एक ही परिसर में होंगे। सभी प्रतिमाएं मूल ज्योतिर्लिंग के समान ही बनवाई गई है। उस स्थान की मिट्टी और जल भी लाया गया है। वहीं की मिट्टी और जल पर प्रतिमाएं स्थापित की गई हैं। उज्जैन आने वाले तीर्थ यात्रियों के लिए यह मंदिर भी दर्शनीय होगा।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव - आज की स्थिति कुछ अनुकूल रहेगी। संतान से संबंधित कोई शुभ सूचना मिलने से मन प्रसन्न रहेगा। धार्मिक गतिविधियों में समय व्यतीत करने से मानसिक शांति भी बनी रहेगी। नेगेटिव- धन संबंधी किसी भी प्रक...

    और पढ़ें