पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कोरोना से सिनेमा व्यापार ठप:अनुमति के बाद भी नहीं खुल रहे सिनेमाघर; बड़े बजट की फिल्में भी अभी प्रदर्शित नहीं हो रही

उज्जैन17 दिन पहलेलेखक: संतोष राठौर
  • कॉपी लिंक

सोमवार से मप्र शासन ने सिनेमाघरों को 50 फीसदी दर्शक संख्या के साथ खोलने की अनुमति प्रदान की लेकिन सिनेमा व्यापार वाले 100 फीसदी दर्शक संख्या के साथ खोलने में सकारात्मक व्यापार मानते हैं। सिनेमा व्यापारियों के अनुसार 50 फीसदी दर्शक संख्या में सिनेमा व्यापार को नुकसान मिलेगा। इसके अलावा इस समय देश में कोई बड़ी फिल्में भी रिलीज नहीं हो रही है तो सिनेमा के पास बड़ी फिल्मों का भी टोटा रहेगा।

सिनेमाघर 15 अगस्त के आसपास जब शुरू हो सकते हैं तब तीसरी लहर का खतरा नहीं रहेगा, ऐसा मानना है और बड़ी फिल्में रिलीज होने लगेंगी। आज भी मप्र में एक भी सिनेमा नहीं खुला। कोरोना में करोड़ों-अरबों रुपए के फिल्म इंडस्ट्री के कारोबार पर पानी फेर दिया। 27 जुलाई को रिलीज होने वाली बेलबॉटम फिल्म भी आगे बढ़ती नजर आ रही है। इसके अलावा सूर्यवंशम् अगस्त में आने वाली थी, इसकी उम्मीद भी जीरो हो गई है। महाराष्ट्र, दिल्ली सिनेमा व्यापार के लिए दो बड़े सेंटर माने जाते हैं।

महाराष्ट्र में कोरोना काबू में नहीं आ रहा। इधर मध्यप्रदेश के सिनेमा व्यवसायियों ने प्रभारी मंत्री नरोत्तम मिश्रा से इंदौर में भेंटकर राहत देने की मांग रखी है। कोरोना के चलते कोई भी इस समय रिस्क लेने के मूड में नहीं हे। बड़े बजट की फिल्में ओटीटी पर देने का मन भी निर्माताओं का नहीं होने से छोटे बजट की फिल्में ही ओटीटी पर आ सकती हैं। ओटीटी अर्थात मोबाइल और छोटा पर्दा टीवी वाला, इन पर ही फिल्मों को देखना होता है।

सही बिजनेस तो सिनेमा हॉल में रिलीज होने पर मिलता है। बॉक्स ऑफिस की कसौटी भी सिनेमाघरों में चलने वाली फिल्मों से बनती है। फिल्म व्यापार से जुड़े फिल्म प्रतिनिधि महेश अग्रवाल ने कहा परिस्थितियों को देखते हुए जुलाई-अगस्त में सिनेमा खुलने की स्थिति कोराेना की तीसरी लहर के चलते नहीं बनती दिख रही है।

खबरें और भी हैं...