• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Ujjain
  • Those Who Excel In Ramcharit Manas Will Be Taken To Ayodhya By Plane, Put Pictures Of Revolutionaries At Home

कालिदास समारोह में संस्कृति मंत्री की घोषणा:रामचरित मानस में श्रेष्ठ करने वालों को हवाई जहाज से अयोध्या ले जाएंगे, घर में लगाएं क्रांतिकारियों के चित्र

उज्जैनएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • मुख्यमंत्री का एनवक्त पर निरस्त हुआ उज्जैन आना, संस्कृति मंत्री उषा ठाकुर ने किया कालिदास समारोह का शुभारंभ

अखिल भारतीय कालिदास समारोह का शुभारंभ महोत्सव सोमवार रात को हुआ। मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान के उज्जैन न आने के बाद संस्कृति मंत्री उषा ठाकुर ने मां सरस्वती और कालिदास की तस्वीर के सामने दीप जलाकर सात दिवसीय समारोह का शुभारंभ किया।

संस्कृति मंत्री सुश्री उषा ठाकुर ने कहा संस्कृति विभाग द्वारा रामचरितमानस पर प्रश्नावली पर आधारित परीक्षाएं आयोजित की जाएंगी। इन में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले को हवाई जहाज के माध्यम से अयोध्या ले जाया जाएगा।

मंत्री सुश्री ठाकुर ने कहा कि हमारी नई पीढ़ी प्राचीन संस्कृति और संस्कारों से दूर होती जा रही है। इसे पुनः संस्कृति से जोड़ना होगा। हम सभी अपने अपने घरों में बैठक के मुख्य स्थान पर क्रांतिकारियों के चित्र लगाएं ताकि इनका परिचय आने वाली पीढ़ी से हो सके। संस्कृति विभाग हमेशा संस्कृत संस्कृति और संस्कार के सुदृढ़ीकरण के लिए प्रयासरत रहा है और आगे भी रहेगा।

बिरसा मुंडी की जयंती पर पर बनाई रंगोली को मंत्री ने सराहा -
संस्कृति मंत्री ठाकुर ने महाकवि कालिदास की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया। चित्रकला प्रदर्शनी और उसके ऑनलाइन सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म का शुभारंभ किया। उन्होंने प्राचीन सिक्कों की प्रदर्शनी का अवलोकन भी किया। महान क्रांतिकारी बिरसा मुंडा पर बनाई गई आकर्षक रंगोली का अवलोकन भी किया। शासकीय माधव संगीत महाविद्यालय के विद्यार्थियों द्वारा नांदी पाठ और मध्य प्रदेश गान का गायन भी किया गया।

कार्यक्रम में अतिथियों द्वारा संस्कृत के कालिदास शोध पत्रिका दुर्वा, शोध पत्रिका कालिदास और चित्र प्रदर्शनी के कैटलॉग का विमोचन भी किया गया। स्वागत भाषण संस्कृति विभाग के संचालक श्री आदिती कुमार पांडे ने संस्कृत में दिया।

कार्यक्रम के सारस्वत अतिथि स्वामी मधुसूदनआचार्य जी महाराज थे। कार्यक्रम में आभार प्रदर्शन विक्रम विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर अखिलेश कुमार पांडे ने किया। इस दौरान कालिदास संस्कृत अकादमी के निदेशक प्रो. संतोष पंड्या, श्रीपाद जोशी, सुश्री योगेश्वरी फिरोजिया एवं अन्य गणमान्य नागरिक मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...