पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

त्योहार:आज अष्टमी, कल नवमी व दशहरा, रावण दहन 3 दिन होंगे

उज्जैनएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • पंचांग भेद से 26 को भी मानी जाएगी दशमी, शासकीय अवकाश भी सोमवार को

शारदीय नवरात्रि की नवमी और दशहरे की तिथि को लेकर कुछ राज्यों के पंचांगों में भेद सामने आया है। कुछ पंचांगों में दशहरा 26 को बताया गया है। हालांकि शहर में मुख्य दशहरा पर्व 25 अक्टूबर को ही मनाया जाएगा। रावण के पुतलों के दहन के कार्यक्रम 27 तक होंगे।

ज्योतिषियों के अनुसार 23 अक्टूबर को सप्तमी सुबह 11.40 तक रही इसके बाद अष्टमी शुरू हो गई। इसलिए कुछ लोगों ने अष्टमी का पूजन भी कर लिया। जबकि उदियात तिथि मानने वाले अष्टमी शनिवार को मनाएंगे, क्योंकि अष्टमी सुबह 10.58 बजे तक ही है। 25 को भी नवमी सुबह 10.45 तक ही है लेकिन उदियात तिथि में नवमी होने नवमी पूजन 25 को ही होगा। इसी क्रम से आगे देखें तो दशमी तिथि सूर्योदय काल में 26 को सुबह 11.03 बजे तक है। उदियात तिथि मानने वालों के अनुसार दशमी यानी दशहरा 26 को माना जाएगा।

धर्मशास्त्रों की मान्यता से भेद
पंचांगकर्ता पं. आनंदशंकर व्यास के अनुसार 25 अक्टूबर को उदय काल में दशमी नहीं है लेकिन दशहरे के लिए उदियात तिथि नहीं, विजय मुहूर्त या श्रवण नक्षत्र देखा जाता है। धर्मशास्त्रों के अनुसार विजय मुहूर्त या श्रवण नक्षत्र में दशमी होने पर ही दशहरा मनाया जाता है। विजय मुहूर्त 25 को दोपहर 2.02 से 2.45 बजे तक है। इस समय दशमी होने से दशहरा इसी दिन मनेगा। इसमें कोई विवाद नहीं है। देश में दिल्ली, बनारस, मुंबई, पंजाब आदि सभी क्षेत्रों में 25 को ही दशहरा मनाया जाएगा।

पं. श्यामनारायण व्यास कहते हैं समय और धर्मशास्त्रों के अधार पर ही पर्व का निर्धारण होता है। धर्मशास्त्रों की मान्यता के अनुसार दशहरा 25 को ही मनाया जाएगा। ज्योतिषविद् पं. मनीष शर्मा का कहना है कि तिथि के निर्धारण में हमारे यहां सूर्योदय काल में तिथि देखी जाती है। जिस दिन उदयकाल में तिथि होती है, उसी दिन उसकी मान्यता रहती है। ज्योतिषियों का कहना है कि अलग-अलग पंचांगों में तिथि को लेकर भेद होना स्वाभाविक है, इसलिए स्थानीय स्तर पर परंपरा के अनुसार पर्व का निर्धारण करना चाहिए।

सरकारी कर्मचारियों को 2 दिन छुट्‌टी, रावण दहन का मुख्य समारोह 25 को
राज्य शासन ने दशहरे का शासकीय अवकाश 26 अक्टूबर को घोषित किया है। इससे शासकीय कर्मचारियों को 25 को रविवार और 26 को सरकारी छुट्टी का लाभ मिलेगा। शहर में रावण दहन भी 3 दिन होंगे। मुख्य समारोह दशहरा मैदान और शिप्रा तट पर 25 की शाम को ही होगा। इसके अलावा 26 को अंकपात, शास्त्रीनगर, नानाखेड़ा और 27 को भैरवगढ़ में रावण दहन के कार्यक्रम होंगे।

उन्हेल रोड चौराहे पर 26 को रावण दहन
भैरवगढ़ स्थित उन्हेल रोड चौराहे पर श्रीराम नवयुवक मंडल द्वारा 26 अक्टूबर को प्रतीकात्मक रावण दहन किया जाएगा। मंडल के संजय कोरट ने बताया इस दौरान किसी भी तरह का उत्सव नहीं होगा। मंडल ने नागरिकों से घर पर रहकर ही विजयादशमी मनाने का आग्रह किया है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- यह समय विवेक और चतुराई से काम लेने का है। आपके पिछले कुछ समय से रुके हुए व अटके हुए काम पूरे होंगे। संतान के करियर और शिक्षा से संबंधित किसी समस्या का भी समाधान निकलेगा। अगर कोई वाहन खरीदने क...

और पढ़ें