• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Ujjain
  • Two Doctors And Three Nursing Staff Positive, Incharge Too Sick, Result No One To Treat 60 Patients

बिड़ला हॉस्पिटल:दो डॉक्टर व तीन नर्सिंग स्टाफ पॉजिटिव, प्रभारी भी बीमार, नतीजा- 60 मरीजों का इलाज करने वाला कोई नहीं

उज्जैन6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • नई परेशानी -अस्पताल प्रबंधन का तर्क- दो डॉक्टर हायर किए, 30 अप्रैल को ज्वाइन करेंगे, अभी मोबाइल से गाइड कर रहे

महानंदानगर क्षेत्र में संचालित बिड़ला हॉस्पिटल के दो डॉक्टर व तीन नर्सिंग स्टाफ संक्रमित हो चुके हैं तथा प्रभारी भी बीमार हैं, ऐसे में यहां भर्ती मरीजों का इलाज करने के लिए कोई डॉक्टर उपलब्ध नहीं है। यहां के मरीज स्टाफ के भरोसे हैं।

गुरुवार को मरीजों को लेकर हॉस्पिटल पहुंचे अटेंडर को यहां के स्टाफ ने साफ कह दिया कि यहां मरीज को भर्ती करके क्या करोगे, यहां तो डॉक्टर ही नहीं हैं। यहां के डॉक्टर 28 अप्रैल को पॉजिटिव आ चुके हैं और अभी होम आइसोलेट हैं। हॉस्पिटल प्रबंधन का तर्क है कि हमने दो डॉक्टर हायर किए हैं, जो 30 अप्रैल को ज्वाइन कर लेंगे। बिड़ला हॉस्पिटल को भी कोविड हॉस्पिटल बनाया गया है। यहां गुरुवार की स्थिति में 60 मरीज भर्ती हैं। इनमें से करीब 55 मरीज ऑक्सीजन पर हैं।

हॉस्पिटल से जुड़े लोगों का कहना है कि प्रशासन ने यहां कोविड हॉस्पिटल तो शुरू कर दिया लेकिन सुरक्षा किट व अन्य साधन उपलब्ध नहीं करवाए। इस वजह से हॉस्पिटल कैंपस में रहने वाले तथा कोविड वार्ड में ड्यूटी करने वाले दो डॉक्टर व तीन नर्सिंग स्टाफ संक्रमित हो चुके हैं। ऐसे में मरीजों के इलाज के लिए कोई डॉक्टर उपलब्ध नहीं हैं। यहां का स्टाफ ही मरीजों को चिकित्सकीय सेवाएं दे रहा है। आवश्यकता पड़ने पर डॉक्टर्स से मोबाइल पर परामर्श ले रहे हैं। मरीजों की रिपोर्ट वाट्सएप कर रहे हैं। उसके आधार पर वे मरीजों का इलाज कर रहे हैं।

यहां मरीज भर्ती करवाने का कोई मतलब नहीं
रिसेप्शन पर मौजूद महिला कर्मचारी ने गुरुवार को हॉस्पिटल पहुंचे लोगों से कहा- यहां मरीज भर्ती करवाने का कोई मतलब नहीं है। डॉक्टर ही नहीं है, मरीज को इलाज कैसे मिल पाएगा, जो मरीज यहां भर्ती हैं, उन्हें ही संभालना अभी तो मुश्किल है। दूसरी तरफ हॉस्पिटल प्रबंधन का कहना है कि डॉक्टर संक्रमित हो गए हैं, जो अभी होम आइसोलेट हैं। उनकी जगह पर दूसरे दो डॉक्टर हायर किए हैं और वे शुक्रवार से ड्यूटी ज्वाइन कर लेंगे। मरीजों के इलाज के लिए स्टाफ को मोबाइल पर गाइड किया जा रहा है, हर मरीज की रिपोर्ट ली जा रही है।

खबरें और भी हैं...