पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Ujjain
  • Two Rules In The Same University: No Late Fee From UG PG Semester Students, Late Fee Of Rs 4500 On Annual System Students

विक्रम की मनमानी:एक ही यूनिवर्सिटी में दो नियम: यूजी-पीजी सेमेस्टर के विद्यार्थियों से कोई विलंब शुल्क नहीं, वार्षिक प्रणाली के विद्यार्थियों पर 4500 रुपए लेट फीस का भार

उज्जैन14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • एलएलएम- बीएएमएस में लग रहा विलंब शुल्क

विक्रम विश्वविद्यालय में विद्यार्थियों के साथ ही दोहरे मापदंड तय कर दिए हैं। एक तरफ स्नातक (यूजी) और स्नातकोत्तर (पीजी) के सेमेस्टर के विद्यार्थियों को विलंब शुल्क (लेट फीस) में राहत दी गई है। वहीं दूसरी तरफ वार्षिक प्रणाली के विद्यार्थियों पर 4500 रुपए की लेट फीस का आर्थिक भार डाल रखा है। एलएलएम और बीएएमएस के विद्यार्थियों से एक निश्चित राशि लेट फीस के रूप में ली जा रही है। जबकि अब तक यह भी तय नहीं है कि परीक्षाएं कब होगी। विश्वविद्यालय में विद्यार्थियों के साथ इसी दोहरे मापदंड के आधार पर परीक्षा फॉर्म भरवाने की प्रक्रिया की जा रही है। एक ओर सेमेस्टर प्रणाली के विद्यार्थियों को लेट फीस से राहत दी है तो दूसरी तरफ वार्षिक प्रणाली के विद्यार्थियों पर हजारों रुपए की लेट फीस लाद दी गई है। बीएएमएस के तीसरे व चौथे प्रोफ. के विद्यार्थियों पर 750 रुपए और एलएलएम तृतीय सेमेस्टर के विद्यार्थियों पर 100 रुपए की निश्चित लेट फीस रखी है। जो विश्वविद्यालय प्रशासन की विद्यार्थियों के साथ भेदभाव की मानसिकता को दर्शाती है।

ऐसे समझिए, किन विद्यार्थियों पर कैसे भार और राहत

  • वार्षिक प्रणाली की बीए, बीकॉम, बीएससी, बीकॉम ऑनर्स, बीबीए, बीसीए आैर बीएचएससी की परीक्षाओं के लिए विद्यार्थियों से 4500 रुपए की लेट फीस ली जा रही है।
  • बीएएमएस के तीसरे आैर चौथे प्रोफ. के विद्यार्थियों से परीक्षा फॉर्म के साथ 750 रुपए की तय लेट फीस ली जा रही है।
  • एलएलएम तृतीय सेमेस्टर के विद्यार्थियों से परीक्षा फॉर्म के साथ 100 रुपए का निश्चित विलंब शुल्क लिया जा रहा है।
  • यूजी स्तर पर बीए, बीएससी, बीकॉम, बीबीए, बीसीए, बीकॉम ऑनर्स आैर बीएचएससी के दूसरे, चौथे आैर छठवें सेमेस्टर की एटीकेटी की परीक्षाओं के लिए कोई विलंब शुल्क नहीं लिया जा रहा।
  • पीजी स्तर पर एमए, एमकॉम, एमएससी, एमएसडब्ल्यू, एमएचएससी, एमबीए आैर एमसीए के दूसरे आैर चौथे सेमेस्टर के विद्यार्थियों से विलंब शुल्क नहीं लिया जा रहा।
  • बीएड एवं एमएड के दूसरे व चौथे सेमेस्टर, बीए-बीएड एवं बीएससी-बीएड के दूसरे, चौथे व छठवें सेमेस्टर आैर बीएड-एमएड के प्रथम सेमेस्टर के विद्यार्थियों से भी कोई विलंब शुल्क नहीं लिया जा रहा।

अजीब तर्क- विद्यार्थियों की लेट फीस माफ नहीं की, स्थगित की
इस मामले में विश्वविद्यालय का तर्क भी अजीब है। कुलानुशासक प्रो. शैलेंद्र कुमार शर्मा का कहना है कि लेट फीस किसी भी विद्यार्थी के लिए माफ नहीं की गई है। लेट फीस को सिर्फ स्थगित किया है। परीक्षा की तारीख घोषित होने पर लेट फीस का प्रावधान लागू होगा। शर्मा ने कहा वार्षिक प्रणाली की परीक्षाओं के लिए पूर्व में फॉर्म जमा की प्रक्रिया हो चुकी थी। तब कई विद्यार्थियों ने 4500 रुपए लेट फीस के साथ भी फॉर्म जमा किए हैं। इसलिए समानता के सिद्धांत के अनुरूप अभी 4500 रुपए की लेट फीस ली जा रही है।

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव - धर्म-कर्म और आध्यामिकता के प्रति आपका विश्वास आपके अंदर शांति और सकारात्मक ऊर्जा का संचार कर रहा है। आप जीवन को सकारात्मक नजरिए से समझने की कोशिश कर रहे हैं। जो कि एक बेहतरीन उपलब्धि है। ने...

और पढ़ें