पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Ujjain
  • Ujjain Bar Association, Angered By The Death Of Former MLA Lawyer Grandson, Demanded Registration Of An FIR Against The Tata Company.

धरने पर बैठे वकील:पूर्व विधायक के वकील पोते की मौत से नाराज उज्जैन बार एसोसिएशन ने टाटा कंपनी के खिलाफ FIR दर्ज करने की मांग की

उज्जैन5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सड़क पर धरने पर बैठे बार एसोसिशएन अध्यक्ष अशोक यादव व अन्य वकील - Dainik Bhaskar
सड़क पर धरने पर बैठे बार एसोसिशएन अध्यक्ष अशोक यादव व अन्य वकील
  • न्यायालय परिसर में प्रदर्शन करते हुए स्मार्ट सिटी कार्यालय के सामने धरने पर बैठे वकील

उज्जैन में सीवर पाइप लाइन के चैंबर से टकराकर दो दिन पहले पूर्व विधायक के वकील पोते अक्षत शर्मा की मौत से आक्रोशित वकीलों ने मंगलवार को धरना देकर प्रदर्शन किया। वकीलों की मांग थी कि अक्षत की मौत के लिए सीवर पाइप लाइन की ठेका कंपनी टाटा प्रोजेक्ट्स को जिम्मेदार ठहराया जाए और उसके खिलाफ FIR दर्ज की जाए। बार एसोसिएशन ने कहा कि जब तक पूरे शहर में बने चैंबर को ठीक नहीं किया जाता है तब तक टाटा कंपनी के काम पर रोक लगा दी जाए। वकीलों के प्रदर्शन को देखते हुए उज्जैन स्मार्ट सिटी लि. कार्यालय के गेट को बंद कर दिया गया। न्यायालय परिसर से प्रदर्शन करते हुए वकीलों का समूह उज्जैन स्मार्ट सिटी कार्यालय पहुंचा और वहीं सड़क पर धरने पर बैठ गया। वकीलों ने कलेक्टर को संबोधित ज्ञापन नगर निगम के डिप्टी कमिश्नर और टाटा प्रोजेक्ट्स के अधीक्षण यंत्री को सौंपा। बार एसोसिएशन के अध्यक्ष अशोक यादव ने कहा कि टाटा कंपनी की ओर से उज्जैन में सीवर पाइप लाइन के कराए जा रहे काम गुणवत्तापूर्ण नहीं हैं। पूरे शहर को तहस-नहस कर दिया गया है। चैंबर कहीं पर सड़क के सरफेस से ऊपर बने हैं तो कहीं पर नीचे। जिससे गड्ढे बन गए हैं। इन जानलेवा चैंबरों से रोज हादसे हो रहे हैं। दो पहिया वाहन चालक आए दिन टकरा कर घायल हो रहे हैं। आखिरकार इन्हीं चैंबरों ने युवा वकील अक्षत की जान ले ली। यादव ने आरोप लगाते हुए कहा कि टाटा कंपनी के काम अनुभवी इंजीनियरों की देख रेख में नहीं हो रहा है। टाटा कंपनी पेटी कांट्रेक्टर से काम करा रही है। जिसके कारण कार्य की गुणवत्ता ठीक नहीं है।