• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Ujjain
  • Vaccination Mandatory For About 650 Employees, Including 48 Pande priests Of The Temple, Will Have To Be Vaccinated Before June 28

महाकाल मंदिर 28 जून से अनलॉक:वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट या जांच की निगेटिव रिपोर्ट दिखाकर ही मिलेगा श्रद्धालुओं को प्रवेश; 'टीका' के बिना 48 पंडे-पुजारी समेत करीब 650 कर्मचारियों को भी एंट्री नहीं

उज्जैन7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मंदिर में प्रवेश के लिए श्रद्धालुओं को 48 घंटे पहले की आरटीपीसीआर रिपोर्ट या वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट दिखाना अनिवार्य होगा। - Dainik Bhaskar
मंदिर में प्रवेश के लिए श्रद्धालुओं को 48 घंटे पहले की आरटीपीसीआर रिपोर्ट या वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट दिखाना अनिवार्य होगा।

उज्जैन में कोरोना के मामले कम होने के बाद महाकाल मंदिर 28 जून से श्रद्धालुओं के लिए फिर से खोलने का निर्णय लिया गया है। वायरस से सुरक्षा के लिए प्रशासन ने यहां के पुजारी, पंडे और कर्मचारियों के लिए भी वैक्सीनेशन अनिवार्य कर दिया है। अब इन्हें भी मंदिर में प्रवेश के समय वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट दिखाना होगा। बिना सर्टिफिकेट के पंडे, पुजारी और कर्मचारियों को भी एंट्री नहीं मिलेगी। उज्जैन के कलेक्टर आशीष सिंह ने सभी कर्मचारियों को टीका लगवाने का आदेश दिया गया है। मंदिर में 650 से ज्यादा कर्मचारी हैं।

इससे पहले शुक्रवार को आपदा प्रबंधन की बैठक में निर्णय लिया गया था कि मंदिर 28 जून को खोला जाएगा। मंदिर में प्रवेश के लिए श्रद्धालुओं को 48 घंटे पहले की RT-PCR रिपोर्ट या वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट दिखाना अनिवार्य होगा। कलेक्टर ने कहा है कि मंदिर में आने वाले सभी पुजारी, पुरोहित, प्रतिनिधि, सुरक्षा कर्मी, सफाईकर्मी समेत समिति के करीब 325 कर्मचारियों को 28 जून तक वैक्सीनेशन के बाद ही प्रवेश मिलेगा।

बिना वैक्सीन सर्टिफिकेट खजराना मंदिर में नो एंट्री:64 दिनों बाद गणेशजी ने दिए भक्तों को दर्शन, मंदिर में प्रवेश के पहले गेट पर दिखाना पड़ा सर्टिफिकेट, कुछ लोगों को बाहर से लौटाया

कई पुजारियों-कर्मचारियों ने नहीं लगवाया टीका
कलेक्टर आशीष सिंह का कहना है कि कोरोना की दूसरी लहर में कई पंडे-पुजारी समेत कर्मचारी भी कोरोना से संक्रमित हुए थे। ऐसे में मंदिर में आने वाले लाखों श्रद्धालु और पुजारियों को भी टीका लगवाना जरूरी होगा। ऐसे में कई ऐसे पुजारी और कर्मचारी हैं, जिन्होंने कोरोना का टीका नहीं लगवाया है।

बता दें, 48 पुजारी-पुरोहित, परिसर में स्थित 44 अन्य मंदिरों के पुजारी, 326 मंदिर समिति के कर्मचारी, 120 सुरक्षाकर्मी, 100 सफाईकर्मी और अन्य कर्मचारी सुबह 4 बजे से रात 11 बजे तक मंदिर में तैनात रहते हैं।

अनलॉक होगी तीर्थनगरी ओंकारेश्वर:68 दिन बाद मंगलवार से होंगे बाबा ओंकार के दर्शन, वैक्सीन का पहला डोज ले चुके श्रद्वालुओं को ही प्रवेश की अनुमति

खबरें और भी हैं...