पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

सी-वाल्व टूटा:नर्मदा की पाइप लाइन से बहा पानी खेतों में घुसा, गेहूं फसल को नुकसान की आशंका

उज्जैन2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
वाल्व से खेत में बहता पानी। - Dainik Bhaskar
वाल्व से खेत में बहता पानी।
  • रत्नाखेड़ी और चंदूखेड़ी के बीच सी-वाल्व टूट गया, बड़वाह बात कर सप्लाई बंद कराई

नर्मदा-गंभीर सिंचाई पाइप लाइन का वाल्व टूट जाने से चिंतामन के समीप स्थित ग्राम रत्नाखेड़ी के किसानों के खेतों में पानी भर गया। किसानों ने चिंतामन थाना को इसकी शिकायत की तब पीएचई अधिकारियों ने नर्मदा घाटी विकास प्राधिकरण से संपर्क कर पानी सप्लाई बंद कराई।

किसान महेश ने बताया कि शनिवार रविवार की रात पाइप लाइन का पानी खेतों में भर गया। 25 से 30 बीघा में यह पानी फैल गया। खेतों में गेहूं और लहसुन की फसल लगी है। खेतों में पानी भर जाने से फसलों को नुकसान हो सकता है। महेश ने बताया कि उनके खेत का कच्चा कुआं और मकान धंसने की स्थिति में पहुंच गया है। महेश का कहना है कि खेत में से नर्मदा की बड़ी पाइप लाइन निकली है। इसका ज्वाइंट खुल गया है। इससे यह स्थिति बनी है।

एक साल पहले भी इसी तरह खेतों में पानी भर गया था जिससे फसल को नुकसान हुआ था। महेश के अनुसार पाइप लाइन के पानी का फ्लो 10-12 मोटर से निकलने वाले पानी जितना है। हाल ही में मावठे की बारिश हुई थी, इसके बाद पाइप लाइन का पानी भर जाने से गेहूं को नुकसान होने की आशंका है। यदि तेज हवा चली तो फसल बैठ सकती है। जहां पानी भरा है, वहां लहसुन की भी खेती है। जामफल का बगीचा भी है। थाने में दिए आवेदन में महेश के साथ दिनेश पटेल, मोहनलाल पटेल, संजय पटेल और जितेंद्र परमार ने लिखा है कि जानबूझ कर वाल्व खोल दिया जिससे पूरा गांव जलमग्न हो गया है। फसलें नष्ट हो गई है। दोषियों के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया जाए।

पीएचई के उपयंत्री संतोष दायमा के अनुसार पुलिस कंट्रोल रूम और चिंतामन थाने से सूचना मिलने पर नर्मदा घाटी विकास प्राधिकरण से संपर्क कर पाइप लाइन से पानी की सप्लाई बंद कराई है। पाइप लाइन का सुधार एनवीडीए द्वारा किया जाएगा।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आप अपने व्यक्तिगत रिश्तों को मजबूत करने को ज्यादा महत्व देंगे। साथ ही, अपने व्यक्तित्व और व्यवहार में कुछ परिवर्तन लाने के लिए समाजसेवी संस्थाओं से जुड़ना और सेवा कार्य करना बहुत ही उचित निर्ण...

    और पढ़ें