पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

10वीं परीक्षा का रिजल्ट:14203 विद्यार्थियों का आंतरिक मूल्यांकन कर सभी को किया पास, असंतुष्ट विद्यार्थी परीक्षा देकर सुधार सकेंगे खुद का परिणाम

शाजापुर14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • संक्रमण की दूसरी लहर में पहली बार रद्द हुई 10वीं की परीक्षा का रिजल्ट घोषित

संक्रमण की दूसरी लहर में पहली बार रद्द हुई 10वीं का परिणाम माध्यमिक शिक्षा मंडल ने बुधवार को घोषित कर दिया। इसमें जिले में 116 शासकीय और 250 निजी विद्यालय के 14203 विद्यार्थी अपना परिणाम नेट पर ढूंढते नजर आए। इन विद्यार्थियों का रिजल्ट आंतरिक मूल्यांकन कर संस्थाओं ने जून में पहले से ही माध्यमिक शिक्षा मंडल भोपाल को भेज दिया था। इसके बाद स्कूल शिक्षा राज्यमंत्री इंदरसिंह परमार ने सिंगल क्लिक के माध्यम से बुधवार काे रिजल्ट घोषित किया। इसमें माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा संचालित हाईस्कूल के 914079 विद्यार्थियों के परीक्षा परिणाम घोषित किए। इनमें सभी को पास किया गया।

शिक्षा मंत्री परमार ने प्रदेश के सभी 10वीं के विद्यार्थियों को बधाई देते हुए कहा कि कक्षा दसवीं का परिणाम कोरोना की विशेष परिस्थितियों में तैयार किया है। इसमें किसी भी विद्यार्थी को फेल नहीं किया गया। सभी को 11वीं में प्रवेश दिया है। विद्यार्थियों को खुशखबरी देते हुए उन्होंने बताया कि 25 और 26 जुलाई से कक्षा 11वीं और 12वीं के स्कूल खोलने की प्रक्रिया प्रारंभ कर रहे हैं। इसमें विद्यार्थी पालक की अनुमति से विद्यालय में आ सकेंगे।

स्कूल बैठने की कुल क्षमता के 50 प्रतिशत कम उपस्थिति और सोशल डिस्टेंस के साथ लगेंगे। गौरतलब है कि माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा पहले ही बता दिया गया था कि इस बार दसवीं की मुख्य परीक्षा रद्द होने के कारण उसकी मेरिट सूची जारी नहीं की जाएगी। इसके बाद जिले की भी मेरिट सूची नहीं बनाई गई है।

12वीं के बच्चों को इंतजार
परीक्षा प्रभारी प्रवीण मंडलोई ने बताया कि कोरोना के कारण दसवीं की तरह 12वीं के विद्यार्थियों की भी परीक्षा रद्द की गई थी। इसके बाद उनका रिजल्ट दसवीं के 5 ज्यादा अंक विषय के आधार पर बनाए जाने वाला है। इसे अभी तक घोषित नहीं किया गया है, लेकिन दसवीं के रिजल्ट आने के बाद 12वीं का रिजल्ट जुलाई माह के अंतिम सप्ताह तक आने की संभावना है। जिले में 12वीं के 10870 विद्यार्थी है।

परिणाम में सुधार के लिए 1 से 10 तक होगी परीक्षा
जो विद्यार्थी परिणाम से असंतुष्ट हैं, वे 1 से 10 अगस्त के बीच होने वाली परीक्षा में सम्मिलित होने के लिए एमपी ऑनलाइन पोर्टल पर पंजीयन करा सकते हैं। उनका अगला परिणाम ही अंतिम मान्य किया जाएगा। इसके अलावा परीक्षा परिणाम की शिकायतों के लिए भी एक अलग से व्यवस्था की गई है। एमपी ऑनलाइन पर विशेष सॉफ्टवेयर के माध्यम से अनुक्रमांक एवं आवेदन क्रमांक अंकित कर मूल अंक, कटौती उपरांत दिए गए अंक और शाला के औसतन अंकों के बारे में भी जानकारी ले सकेंगे।

उत्कृष्ट विद्यालय का रहा बेहतर परीक्षा परिणाम
विद्यालय में 235 विद्यार्थी दसवीं की मुख्य परीक्षा में शामिल होने वाले थे। परीक्षा रद्द होने के कारण उनके आंतरिक मूल्यांकन के आधार पर सभी सफल हुए हैं। इसमें 193 विद्यार्थी प्रथम तो 42 दूसरे पोजीशन पर आए हैं। उत्कृष्ट विद्यालय के दसवीं के परिणाम में अर्पिता बरेठा 475 अंक, आर्यन वर्मा 475 अंक, जया केवट 475 अंक, वंदना चंद्रपाल 475 अंक, जुबेर राइन 470 अंक प्राप्त करके प्रमुख पांच विद्यार्थी में स्थान बनाया है।

खबरें और भी हैं...