पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Ujjain
  • Shajapur
  • 85 year old Old Woman Did Not Get Vaccinated Even After Standing For 4 Hours, Then Tears Came Out Of Her Eyes, Volunteer Got The Vaccine

उत्साह ऐसा कि लक्ष्य से ज्यादा पहुंच रहे लोग:85 वर्षीय वृद्धा को 4 घंटे खड़े रहने के बाद भी नहीं लगा टीका तो आंखों से निकल आए आंसू, वालेंटियर ने लगवाई वैक्सीन

शाजापुर16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • पहले बंट गए थे टोकन, जिले के 5271 लोगों को लगा पहला व दूसरा डोज

शहर के टीकाकरण केंद्रों पर अब यह तस्वीर आम हो गई है कि वैक्सीन लगने का दिन हो और वैक्सीन खत्म हो जाने के बाद कोई विवाद न हो। बुधवार को भी पूरे जिले में 4400 लोगों का वैक्सीनेशन करने का लक्ष्य था। इसमें 5271 लोगों को वैक्सीन लगाई गई, जो लक्ष्य से ज्यादा था। शहर के उत्कृष्ट और नगर पालिका केंद्रों पर वैक्सीन लगाई गई। इसमें सुबह 8 बजे से ही लाइन में लगे लोगों को टोकन दिए गए, परंतु जिन लोगों को टोकन नहीं मिल पाए। वे बिना वैक्सीन लगाए जाने को तैयार नहीं थे, क्योंकि इसमें से कुछ लोग 3 दिन से वैक्सीन लगाने के लिए लाइन में लग रहे हैं तो कुछ महिला के पास मोबाइल नहीं होने की वजह से वैक्सीन नहीं लगा पा रही थी। उत्कृष्ट केंद्र पर 12 बजे दर्द भरा नजारा भी देखने को मिला। जब वार्ड 25 में रहने वाली 71 वर्षीय बुजुर्ग महिला कंचनबाई मुन्नालाल वैक्सीन लगाने के लिए अकेले आई, परंतु उनके पास मोबाइल नहीं था। वह टीकाकरण के लिए केवल अपना आधार कार्ड लेकर आई थी। वैक्सीन खत्म होने की जानकारी लगते ही उनके आंखों से आंसू टपकने लग गए। इसके बाद स्वास्थ्य कर्मियों ने उनको समझाया कि आप कल आ जाना। परंतु वह वैक्सीन लगाना चाहती थी।

कोरोना वॉलेंटियर मनीष कुशवाहा, आयुष गुप्ता, विकास कुशवाह कंचनबाई को टेंशन चौराहे पर खड़ी मोबाइल वैन के पास लेकर गए। जहां टीकाकरण हुआ। कंचनबाई की तरह कई महिला इतनी खुशनसीब नहीं थी और उनको वैक्सीन नहीं लगने के कारण बुधवार को भी खाली हाथ लौटना पड़ा। क्योंकि शहर के टीकाकरण केंद्रों पर बुधवार को 200 और कुल 400 डोज दिए गए थे, जो कि केंद्र पर मौजूद जनता की अपेक्षा बहुत कम थे।
आज लगेगी 11,900 वैक्सीन
जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. दीपक पिप्पल ने बताया कि जिन लोगों को वैक्सीन नहीं लगी है, वे निराश न हो। हम निरंतर डोज बढ़ाने के प्रयास कर रहे हैं। गुरुवार को जिले में 11,900 वैक्सीन लगाने का लक्ष्य रखा गया है।

8 बजे से लाइन में लगे पर 12 बजे तक नहीं आया नंबर
किडनी के मरीज भेरूसिंह भुआल पिछले 2 दिन से वैक्सीन लगाने के लिए परेशान हो रहे थे। नीमवाड़ी की 85 वर्षीय सिद्धिबाई को बेटा शिवनारायण सिसाैदिया कोविशिल्ड लगाने के लिए सुबह 8 बजे से लाइन में लगा, परंतु 12 बजे तक उसका नंबर भी नहीं आया और न ही टोकन मिल सका। इस कारण वह काम पर भी नहीं जा सका। जितेंद्र दिखित को पहला डोज लग चुका है और दूसरे डोज के लिए भी 6 दिन निकल चुके हैं। मैसेज होने के बाद भी उन्हें डोज नहीं लगाया जा रहा है।

भरड़ हीरपुर बज्जा के नूर मोहम्मद की यही समस्या थी कि उनके पास मैसेज होने के बाद भी वैक्सीन नहीं लगी। जबकि उन्हें पैर में भी तकलीफ है और वह बार-बार केंद्र पर नहीं आ सकते और उन्हें केंद्र पर आते हुए 3 दिन हो चुके हैं। जबकि 6 बजे से लाइन में लगे हसन अली की उम्र 45 से ज्यादा होने के बाद उन्हें दूसरे केंद्र पर भेज दिया। इससे वह वैक्सीन नहीं लगा पाए।

खबरें और भी हैं...