पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कोरोना इफेक्ट:49 साल में पहली बार होली उत्सव के दौरान नहीं होगा अभा कवि सम्मेलन

शाजापुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • रंगपंचमी पर गेर नहीं निकालेंगे, छोटी टोलियां गमी वाले घर पहुंच आज डालेंगी प्रतीकात्मक रंग

कोरोना संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए सर्व हिंदू उत्सव समिति ने सकारात्मक कदम उठाते हुए अपने त्याेहारों को प्रतीकात्मक रूप से मनाने का निर्णय किया है।

इसके चलते बीते 49 सालों में पहली बार आजाद चौक में पांच दिवसीय होली उत्सव के दौरान होने वाले सभी सार्वजनिक कार्यक्रम स्थगित कर दिए गए। कोरोना गाइड लाइन के पालन के संबंध में ऐसी ही रूपरेखा बनाकर प्रशासन को भी अवगत कर दिया गया। समिति के अनुसार इस बार सिर्फ गमी वाले परिवारों के घर छोटी-छोटी टोलियां प्रतीकात्मक रूप से होली का रंग डालने जाएंगे।

संक्रमण का असर शहर की पांच दिवसीय होली उत्सव पर भी दिखाई दे रहा है। 1972 से शहर में होली उत्सव का आयोजन के लिए चंद्रशेखर आजाद उत्सव समिति का गठन गया था।

तात्कालिक अध्यक्ष पुरुषोत्तम चंद्रवंशी और रूपकिशोर नवाब सहित कई वरिष्ठों के नेतृत्व में सार्वजनिक आयोजन का सिलसिला बढ़ता ही चला गया, लेकिन इस बार इस आयोजन पर संक्रमण का अच्छा खास असर दिखाई दिया। रविवार दोपहर हिंदू उत्सव समिति ने संक्रमण के बढ़ते खतरे को देखते हुए अपने सारे कार्यक्रम निरस्त कर दिए हैं।

पहल : प्रशासन को पहले ही करवाया अवगत
उक्त जानकारी देते हुए हिंदू उत्सव समिति के प्रवक्ता उमेश टेलर ने बताया कि सर्व हिंदू उत्सव समिति के अध्यक्ष दिलीप भंवर की अध्यक्षता में श्रीकृष्ण व्यायामशाला परिसर में आयोजित बैठक में समिति सचिव तुलसीराम भावसार, उपाध्यक्ष रामचंद्र भावसार संरक्षक प्रदीप चंद्रवंशी सहित प्रशासन के अधिकारियों एसडीएम साहेबलाल सोलंकी, एसडीओपी दीपा डोडवे एवं होली उत्सव समिति के अध्यक्ष गोविंद कसेरा सहित सभी पदाधिकारियों की उपस्थिति में बैठक कर बड़े भीड़ वाले समस्त सांस्कृतिक कार्यक्रम फिलहाल स्थगित करने का निर्णय लिया है।

इतिहास : उत्सव ने प्रदेश में बनाई थी पहचान
होली में पांचों दिन रंगारंग कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं। इनमें पहले दिन सुंदरकांड के बाद भजन संध्या, स्थानीय कलाकारों द्वारा आयोजित एक शाम शहीदों के नाम, खाटू श्याम की भजन संध्या, अखिल भारतीय हास्य कवि सम्मेलन ने प्रदेशभर में शाजापुर की पहचान होली उत्सव के रूप में बनाई थी। इनमें भारी संख्या में भीड़ की उपस्थिति रहती है, जिसे देखते हुए इस बार यह सब निरस्त कर दिए गए।

अपील : प्रतीक स्वरूप में करें परंपरा का निर्वहन
हिंदू उत्सव समिति के अध्यक्ष भंवर एवं सचिव तुलसीराम भावसार ने समस्त नगरवासियों से अपील की है कि वह प्रशासन के निर्देशानुसार मेरी होली मेरे घर अभियान मैं सहभागिता करते हुए । प्रतीकात्मक स्वरूप में ही होली की परंपरा का निर्वहन करें।

कोरोना गाइडलाइन के अनुसार मास्क लगाकर ही घर से निकले और सूखे रंगों से ही तिलक होली खेलकर इस वर्ष परंपरा निभाएं। बैठक के दौरान प्रमुख रूप से गोपाल राजपूत स्वामी सोनी, आशीष नागर, सत्या वात्रे, रूप किशोर राठाैर, विनोद उड़ी जैन,धर्मेंद्र प्रजापत, प्रेम यादव,कल्ली चंदेल, भूपेंद्र मालवीय, चिनेश जैन, संजय सोनी सहित कार्यकर्ता व पदाधिकारी उपस्थित रहे।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- दिन सामान्य ही व्यतीत होगा। कोई भी काम करने से पहले उसके बारे में गहराई से जानकारी अवश्य लें। मुश्किल समय में किसी प्रभावशाली व्यक्ति की सलाह तथा सहयोग भी मिलेगा। समाज सेवी संस्थाओं के प्रति ...

    और पढ़ें