पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

इंतजार:टैक्स चोरी की शंका में सेंट्रल एक्साइज एंड जीएसटी की टीम का कारखाने पर छापा

शाजापुर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • 8 सदस्यों की टीम पहुंची शाजापुर, चार घंटे तक संचालक का करते रहे इंतजार

शहर में कृषि उपकरण बनाने वाले कारखाना संचालक पर टैक्स चोरी की जानकारी मिलने पर सेंट्रल एक्साइज एंड जीएसटी उज्जैन के आठ सदस्यों की टीम ने मंगलवार को एबी रोड स्थित मां उमिया इंजीनियरिंग पर छापा मारा। दोपहर तीन बजे पहुंचे अफसरों के आने की सूचना मिलने के बाद संचालक गायब हो गया। इसके चलते अधिकारियो को करीब चार घंटे तक इंतजार करना पड़ा।

टीम को लीड कर रहे योगेंद्र प्रताप सिकरवार ने बताया कि जीएसटी संबंधित जांच में करीब सात से आठ लाख रुपए की गड़बड़ी सामने आई है। रिपोर्ट के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी। टीम अधिकारियों के अनुसार मां उमिया इंजीनियरिंग कारखाने के संचालक द्वारा जीएसटी को लेकर अनियमितताएं की गई हैं। इसकी जांच के लिए कारखाना संचालक से दस्तावेज मांगे गए लेकिन दोपहर तीन से शाम सात बजे तक संचालक मौके पर नहीं पहुंचे। ऐसे में टीम करीब चार घंटे तक वहीं जमी रही। उज्जैन से आए अधिकारियों की टीम में शामिल आशीष मिश्रा, मयंक शेखर पांडे, योगेंद्र प्रताप सिकरवार सहित आठ अधिकारी कर्मचारी दोपहर में शाजापुर पहुंचे और सीधे मां उमिया इंजीनियरिंग कारखाने पर पड़ताल शुरू कर दी।

टीम के मयंक शेखर पांडे ने बताया कि फिलहाल बस इतनी जानकारी है कि कारखाना संचालक द्वारा जीएसटी को लेकर अनियमितता की गई है। टीम के अधिकारियों द्वारा उनके उत्पादन के संबंध में मांगी गई जानकारी भी सही नहीं दी जा रही है। संचालक विष्णु पाटीदार भी मौके पर उपस्थित नहीं हुए। ऐसे में टीम ने कारखाने पर रखे मटेरियल के आधार पर पड़ताल शुरू कर दी है। हालांकि टीम का एक भी अधिकारी यह नहीं बता पाया कि कारखाना संचालक ने कितने रुपए के टैक्स की अनियमितता की है।

खबरें और भी हैं...